आज नहींं रिलीज होगा आरण्य चालीसा

आरण्य चालीसा पर कोरोना का कहर!

चैत नवमी को रिलीज होने वाली आरण्य चालीसा स्थगित




आरा की अधिष्ठात्री आरण्य देवी की आरती और चालीसा की हुई थी शूटिंग

आरा,21 अप्रैल. कोरोना ने आम जन जीवन मेंं इस कदर तबाही ला दी है कि लोग अपनी दिनचर्या तक भी ठीक नहींं कर पा रहे हैं. मनुष्य का सामाजिक से धार्मिक परिवेश बदल चुका है. यहाँ तक कि अब देवी-देवताओं से जुड़े कार्यों पर भी संकट के बादल मंडरा रहे हैं. मंदिर में भगवान तो पहले ही कैद हो चुके हैं. अब इनके भजन,चालीसा और आरती पर भी संकट के मेघ उमड़ रहे हैं. जी हाँ सुनने में आश्चर्य जरूर लग रहा होगा लेकिन यह यथार्थ है. शाहाबाद जनपद की अधिष्ठात्री,आरण्य देवी का चालीसा और आरती पिछले दिनों शूट किया गया था जिसका वीडियो नवमी को रिलीज होना तय हुआ था. लेकिन कोरोना की वजह से अब यह चालीसा और आरती अधर में लटक गया है. चैत नवमी को शक्ति की देवी का दिन माना जाता है और हिन्दू नववर्ष की शुरुआत भी मानी जाती है. इसी पावन दिवस को ध्यान में रखकर निर्माता ने यह आरती माँ को समर्पित करने का प्लान किया था लेकिन वह फिलहाल कोरोना के कहर से स्थगित हो गया है. कोरोना से जबतक स्थिति सामान्य नहींं होती रिलीज की अगली डेट का अनुमान निर्माता नही बता पा रहे हैं.

बता दें कि माँ आरण्य क्रिएशन के बैनर तले आरा की अधिष्ठात्री देवी माँ आरण्य का चालीसा और आरती के ऑडियो का निर्माण पिछले वर्ष ही जारी किया गया था. देवी भक्तोंं के लिए चालीसा और आरती को वीरेंद्र पांडेय ने लिखा था जिसे स्वर दिया था देश की जानी मानी गायिका अनुराधा पौडवाल ने. निर्माता राजेश तिवारी ने बताया कि देवी माँ के भक्तों के डिमांड पर आरती और चालीसा का वीडियो का निर्माण किया गया. देवी माँ की महाभारत काल से कई कहानियां प्रचलित हैं.

सह निर्माता डॉ पंकज कुमार ने बताया कि आरा की आरण्य देवी एक शक्ति पीठ है और यहाँ मुरादें मांगने वालों की झोलियां भी भरती रही है. इसी को ध्यान में रखते हुए पौराणिक से आधुनिक तक के कहानी को एक कहानी के जरिये फिल्मांकन करने की कोशिश की गई थी जिसे हर उम्र के लोगों को पसंद आये. इसके निर्माण में शहर के जाने माने शख्सियतों ने एक साथ काम किया है. जिसकी परिकल्पना व कहानी का लेखन ओ पी पांडेय ने किया है. निर्देशन ओ पी कश्यप, सिनेमाटोग्राफी रंजीत कुमार सिंह का है. जिसका फिल्मांकन शहर के विभिन्न स्थानों और आरण्य देवी मंदिर में किया गया था.

मुख्य भूमिका में कई धारावाहिक और जिला भोजपुर वेब सीरीज फेम कृष्णा भट्ट, अभिलाषा कृति और निशा तिवारी वही अन्य भूमिकाओं में प्रवीण कुमार, ऋतुराज ओझा,राजा बसन्त,हिराकान्त ओझा, अभय दिवाकर,शिवाकांत चौबे,श्यामनन्दन शर्मा, गौरव भारद्वाज, धनश्याम तिवारी, राजेश रौशन नजर आएंगे. विभिन्न चरित्रों के मेकअप के जरिये ह्रितिक कुमार सिंह ने जीवंत किया. सहायक कैमरा मैन हीरा कुमार और स्टील फोटोग्राफी अमित मिश्रा ने किया है.
आरती और चालीसा के दृश्य फिल्मांकन आरण्य देवी मंदिर, बड़ी मठिया और चंदवा स्थित एक निजी रिसोर्ट में किया गया है. सहायक के तौर पर प्रोडक्शन का कार्यभार देखने वाले अमृत कुमार और आकाश ने काफी पसीना बहाया है. लेकिन इन सबके बावजूद नमवी को भक्तों के समक्ष वीडियो नहींं आ पा रही है.

निर्माता के अनुसार वीडियो का सम्पादन मुम्बई में किया जा रहा था. वीडियो संपादन मुंबई में अमित कुमार कर रहे थे. लेकिन कोविड की वजह से सारा स्टूडियो अभी बन्द पड़ा है जिसकी वजह से वीडियो का कार्य अधूरा है. अब देखना होगा कि मानवो को संकट के ग्रहण से उबारने वाले देवताओं के सम्मान में गाने वाले उनके भजन, गीतों और चालीसा से यह कोरोना का ग्रहण कब छँटता है!

आरा से सत्य प्रकाश सिंह की रिपोर्ट