गुरुवार को करें ये उपाय

सनातन परंपरा में हर दिन अपनी विशिष्टता के लिए जाना जाता है. आज गुरुवार है और आज का दिन भगवान विष्णु या देवगुरु बृहस्पति को समर्पित है. बृहस्पति का सौरमंडल में मुख्य स्थान है. पौराणिक मान्यताओं के अनुसार बृहस्पति देवताओं के गुरु हैं. इसलिए गुरुवार को भगवान की पूजा से भक्तों को ऐश्वर्य और सुख-समृद्धि की प्राप्ति होती है.

बृहस्पति को प्रकाश का प्रतीक माना जाता है. जिस तरह प्रकाश अपनी पीली किरणों के लिए धार्मिक श्रद्धा और आस्था का निरूपण करता है उसी तरह पीला रंग गुरुवार से जुड़ा हुआ है. भगवान् विष्णु पीतांबर धारी हैं और गुरुवार भी पीले रंग से जुड़ा हुआ है. इसलिए आज के दिन भगवान् विष्णु का पूजन और पीले वस्तुओं का दान विशेष फलदायी माना जाता है. आज के दिन सूर्योदय से पूर्व उठे और पीले वस्त्र धारण करें. इस दिन केशों को न धोए. गुरुवार को केले के वृक्ष को जल चढ़ाना शुभ माना गया है. गुरुवार के दिन उपवास और व्रत से अच्छा स्वास्थ्य प्राप्त होता है. साथ ही व्यवसाय में भी सफलता मिलती है. बृहस्पति की विशेष कृपा से अच्छे जीवनसाथी की भी प्राप्ति होती है. आज के दिन पीला फूल, पीला वस्त्र,, चने की दाल, हल्दी, ताजे फल, नमक, स्वर्णपत्र, कांस्य आदि का दान करने से बृहस्पति का अशुभ प्रभाव समाप्त हो जाता है.ज्योतिषीय मान्यताओं के अनुसार गुरु धन का कारक ग्रह है. आज के दिन भगवान विष्णु की पूजा के पश्चात विष्णु सहस्रनाम का पाठ अवश्य करें.