ये हैं देश के बहादुर बच्चे,इनके जज्बे को सलाम

वर्ष 2016 में जिन बच्चों ने अपने जान पर खेल कर दूसरों की जान बचाई ऐसे बच्चों को राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के साथ 




महाराष्ट्र के 15 साल के गौरव कावदुजी सहस्त्रबुद्धे और 24 अन्य बहादुर बच्चों को असाधारण साहस का परिचय देने पर इस साल का राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार दिया जाएगा.सहस्त्रबुद्धे को भारत पुरस्कार दिया जाएगा, जो राष्ट्रीय वीरता पुरस्कारों में सर्वोच्च है.पुरस्कार उसकी ओर से उसके माता-पिता प्राप्त करेंगे. साथ ही, 13 साल के शिवांश सिंह को भी मरणोपरांत यह पुरस्कार दिया जाएगा. उसने सरयू नदी में डूब रहे अपने दोस्त की जान बचाने की कोशिश के दौरान अपना बलिदान दे दिया था. उसकी ओर से भी उसके माता-पिता यह पुरस्कार ग्रहण करेंगे.