ट्राई के अनुसार, रेवन्यू मार्केट शेयर में भी ये बिहार-झारखंड में नंबर वन

पटना / रांची (ब्यूरो रिपोर्ट) | रिलायंस जियो 4.4 % की बढ़त के साथ बिहार सर्किल में नंबर-वन टेल्कम ऑपरेटर बनी हुई है. 30 सितंबर को खत्म हुई दूसरी तिमाही पर जारी ट्राई की रिपोर्ट के अनुसार चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही के मुकाबले जियो का रेवन्यू मार्केट शेयर 4.4 फीसदी बढ़कर 55.7  % से 60.1 % जा पहुँचा है. पहली तिमाही में एजीआर 872.51 करोड़ था जो दूसरी तिमाही में बढ़कर 924.92 करोड़ हो गया है. ग्रॉस रेवन्यू यानी सकल राजस्व में भी रिलायंस जियो पिछले एक साल में 36 फीसदी से 43.2 फीसदी तक जा पहुँचा है. दूसरी तिमाही में 1154 करोड़ के ग्रॉस रेवन्यू कलेक्शन साथ बिहार टेल्कम सर्किल आन्ध्रप्रदेश और महाराष्ट्र के बाद तीसरे पायदान पर है. देशभर में जियो के आरएमएस यानी रेवन्यू मार्केट शेयर के लिहाज से बिहार सर्किल छठे मुकाम पर है.
ट्राई के इस रिपोर्ट के अनुसार बिहार सर्किल में भारती एयरटेल दूसरी तिमाही में 2.3 फीसदी नुकसान के साथ 33.3 फीसदी से घटकर 31 फीसदी पर आ गयी है. पहली तिमाही में एयरटेल का एजीआर 521.13 करोड़ था जो दूसरी तिमाही में घटकर 476.84 करोड़ रह गया है.
आरएमएस में तीसरे नंबर पर कायम वोडा-आइडिया को भी इस दौरान 2.3 फीसदी का नुकसान हुआ है. एजीआर का आँकड़ा 9 फीसदी से घटकर 6.7 फीसदी आ पहुँचा है. वोडा-आइडिया को पहली तिमाही में 141.6 करोड़ की आय हुयी थी जो दूसरी तिमाही में घटकर 102.68 करोड़ रह गयी है.
ट्राई के एजीआर रिपोर्ट के मुताबिक बिहार सर्किल में BSNL समेत दूसरे ऑपरेटर को .2 फीसदी का फायदा हुआ है. पहली तिमाही में एजीआर 30.91 करोड़ था जो दूसरी तिमाही में बढ़कर 34.34 हो गया है.
मुश्किलों से जूझ रहे टेल्कम सेक्टर की दिग्गज कपनियों के मुकाबले तीन साल पुरानी रिलायंस जियो की बढ़त जारी है. किफायती प्लान और विस्तृत नेटवर्क के कारण सीएमएस यानी कंज्यूमर मार्केट शेयर और आरएमएस यानी रेवन्यू मार्केट शेयर में जियो का जलवा कायम है.
ट्राई के आंकड़ों के मुताबिक देश भर में आरएमएस के पैमाने पर रिलायंस जियो वायरलेस सर्विस में 44.8 % हिस्सेदारी के साथ नंबर वन बना हुआ है. एयरटेल 27.1 % शेयर के साथ दूसरे नंबर पर है। 23.2 % हिस्सेदारी के साथ वोडा-आइडिया तीसरे नंबर पर है.