बिहार में कैसा होगा लॉक डाउन 5.0!

लॉकडाउन 5.0 / अनलॉक 1.0 केंद्र सरकार की ओर से 30 मई को जब लॉक डाउन 5.0 की घोषणा की गई उसके बाद से ही लोगों के मन में यह सवाल उठ रहे थे कि बिहार में कैसा होगा लॉकडाउन 5.0. क्या केंद्र के आदेश को हूबहू लागू किया जाएगा या बिहार में सख्ती अभी जारी रहेगी. इसके पीछे वजह बिल्कुल साफ है. हर दिन बिहार में 200 या इससे ज्यादा पॉजिटिव केस बढ़ रहे हैं. प्रवासियों का आना लगातार जारी है जिससे संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है. 21 लोगों की मौत हो चुकी है और यही वजह है कि लॉक डाउन कितना सख्त हो या फिर इसमें ढील दी जाए, इसे लेकर रविवार को एक महत्वपूर्ण बैठक हुई. बैठक में बिहार सरकार के आला अधिकारी और सभी राज्यों के डीएम और एसपी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से एक दूसरे से जुड़े थे. बैठक के बाद यह फैसला बिहार सरकार ने लिया है कि केंद्र सरकार के आदेश को हुबहू बिहार में भी लागू किया जाएगा. मतलब साफ है, 30 जून तक बिहार में लॉक डाउन रहेगा. केंद्र सरकार ने जो नए रूल्स बनाए हैं उसी हिसाब से बिहार में भी लॉक डाउन का पालन होगा. बिहार भी चरणों में अब अनलॉक होगा और यह अनलॉक 1.0 से शुरू हो रहा है 1 जून से. 1 जून से किसी भी जिले में आने जाने के लिए आपको पास की जरूरत नहीं पड़ेगी. सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखना होगा. सभी दफ्तर खुलेंगे. 8 जून से सभी धार्मिक स्थल और शॉपिंग मॉल

Read more

आखिरकार दिल्ली से लौट आए तेजस्वी

सोमवार की रात घर पहुंचे तेजस्वी विपक्ष की भूमिका पर लगातार उठ रहे सवालों के बीच आखिरकार पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव पटना लौट आए हैं. लॉक डाउन की वजह से वे मार्च महीने से ही दिल्ली में फंसे हुए थे. लालू के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने आज सुबह राबड़ी देवी के सरकारी आवास में तेजस्वी यादव से मुलाकात करने के बाद मीडिया को बताया है कि नेता प्रतिपक्ष विशेष अनुमति लेकर दिल्ली से पटना आए हैं. माना जा रहा है कि तेजस्वी 14 दिन के होम कोरेंटाइन में रहेंगे. राजेश तिवारी

Read more

12 से शुरू हो रही आपकी छुक-छुक गाड़ी

लॉकडाउन से बाहर आने को तैयार हो जाइये. कम से कम अब तो केन्द्र सरकार की तैयारी ऐसी ही कुछ लग रही है. 12 मई से रेल सेवा शुरू करने की तैयारी कर रही है सरकार. जी हां, रेल सेवा शुरू हो रही है लेकिन सिर्फ दिल्ली से ट्रेन चलेगी और यात्रा देश के 15 महत्वपूर्ण शहरों के लिए होगी. प्रेस इनफॉर्मेशन ब्यूरो(PIB) की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार शुरुआती दौर में रेलवे केवल 15 जोड़ी स्पेशल ट्रेनें चलाएगा. ये ट्रेनें दिल्ली से पटना, सिकंदराबाद, चेन्नई, तिरुअनंतपुरम, मुंबई सेन्ट्रल, रांची, भुवनेश्वर, अहमदाबाद, मडगांव, बेंगलुरू, जम्मू तवी, बिलासपुर, डिब्रूगढ़, अगरतला और हावड़ा तक जाएंगी और इन जगहोंं से फिर दिल्ली के लिए. कैसे ले सकते हैं टिकट! 12 मई से शुरू होने वाली इन ट्रेनों के टिकट लेने के लिए आपको सिर्फ रेलवे की ऑनलाइन सेवा के भरोसे रहना पड़ेगा क्योंकि फिलहाल देशभर में कोई भी टिकट काउंटर नहीं खुलने वाला. irctc.co.in की वेबसाइट पर टिकट की फैसिलिटी 11 मई की शाम 4 बजे से शुरू होगी. आने वाले दिनों में रेलवे आवश्यकता के मुताबिक और ट्रेनें चला सकता है. फिलहाल रेलवे की पहली प्राथमिकता प्रवासी मजदूरों को अपने घर तक पहुंचाना है. इसके लिए 300 ट्रेने रिजर्व रखी गई हैं. जबकि 20 हजार रेल कोच को आइसोलेशन वार्ड में बदला गया है कोविड 19 पेशेंट्स के लिए. इन बातों का रखें ध्यान केवल ऑनलाइन टिकट ले सकते हैं दिल्ली से इन जगहों के लिए- पटना, सिकंदराबाद, चेन्नई, तिरुअनंतपुरम, मुंबई सेन्ट्रल, रांची, भुवनेश्वर, अहमदाबाद, मडगांव, बेंगलुरू, जम्मू तवी, बिलासपुर,

Read more

प्रवासी बिहारियों का रेल किराया चुकाएगी सरकार

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि हमलोगों के सुझाव पर बिहार के रहने वाले प्रवासी जो बाहर फंसे हुए हैं चाहे छात्र हों या फिर मजदूर हों, उन्हें रेलगाड़ी के माध्यम से वापस लाया जा रहा है. इसके लिये उन्होंने केन्द्र सरकार को धन्यवाद दिया है. उन्होंने कहा कि पिछले दो दिनों से यह सिलसिला जारी है. इस व्यवस्था से लोगों को आने में सहूलियत हो रही है. मुख्यमंत्री की घोषणा के पीछे विपक्ष का दबाव माना जा रहा है. जिस तरह से कांग्रेस और राजद ने एक के बाद एक प्रवासी बिहारियों से किराया वसूलने को लेकर सरकार पर हमला बोला और दोनों पार्टियों ने किराया चुकाने की घोषणा की, उसके बाद आनन-फानन में मुख्यमंत्री सामने आए और ये घोषणा की. मुख्यमंत्री ने कहा कि हमलोगों ने जान-बूझकर कोई घोषणा इस संबंध में नहीं की है क्योंकि हमारी सरकार का विश्वास बोलने में नहीं बल्कि सिर्फ काम करने में है. उन्होंने कहा कि कोटा से जो ट्रेन आनी शुरु हुई है, उसमें जो छात्र-छात्रायें आ रहे हैं, उनको कोई रेल का भाड़ा नहीं देना होगा. इसके लिए राज्य सरकार रेलवे को पैसा दे रही है. उन्होंने कहा कि बिहार के जो भी लोग बाहर मजदूर के रुप में काम करते हैं या अन्य प्रकार से बाहर फंसे हुए हैं, उनके वापस आने के संबंध में केंद्र सरकार ने डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट-2005 के अंतर्गत गाइडलाइन जारी की है, उस गाइडलाइन में उन्होंने स्पष्ट तौर पर सारी बातें कह दी कि कौन लोग आएंगे, किस तरह से आएंगे. इसके बारे में

Read more

जयपुर से आने वाली ट्रेन की पूरी जानकारी

जयपुर से पटना के लिए 09771 श्रमिक स्पेशल एक्सप्रेस 1 मई की रात 10:00 बजे रवाना हुई. इस ट्रेन में 1187 यात्री सवार हैं जो 2 मई को दोपहर 12:45 पर दानापुर स्टेशन पहुंचेंगे. इनके लिए जिला प्रशासन ने तमाम इंतजाम किए हैं. यहां पहुंचने वाले यात्रियों की स्क्रीनिंग और पूरी जांच पटना जिला प्रशासन की तरफ से कराई जाएगी. उसके बाद उनकी पूरी जानकारी लेकर उन्हें अपने जिलों की तरफ रवाना किया जाएगा, जहां बनाए गए विशेष शिविर में वे 14 दिन कोरंटाइन में रहेंगे. बिहार के परिवहन विभाग ने दानापुर स्टेशन पर यात्रियों के लिए करीब 100 बसों का इंतजाम किया है. लॉकडाउन में जयपुर से बिहारियों को लेकर पहुंच रही है श्रमिक स्पेशल, आज दोपहर 12:45 बजे दानापुर पहुंचेगी बाहर फंसे लोग त्रिस्तरीय स्क्रीनिंग के बाद ही पहुंच पाएंगे घर: डीजीपी लॉकडाउन में पहली बार पैसेंजर्स को लेकर कोई ट्रेन बिहार पहुंचने वाली है। जयपुर से बिहारियों को लेकर चली यह ट्रेन आज दोपहर पटना के दानापुर स्टेशन पहुंचेगी जिसको लेकर वहां प्रशासनिक तैयारियां पूरी कर ली गई है। जयपुर से चली यह ट्रेन लगभ। 24 डिब्बों वाली इस ट्रेन में तकरीबन 1100 यात्री सवार हैं। राजस्थान से ट्रेन खुलने के पहले इन ट्रेन से चग दोपहर 12:45 बजे दानापुर पहुंचेगी ।बिहार के पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय ने कोरोना महामारी की रोकथाम के लिए जारी लॉकडाउन में दूसरे राज्यों में फंसे लोगों के आवागमन की छूट के केंद्र सरकार के निर्णय पर आज कहा कि ऐसे मजदूर, छात्र एवं अन्य लोग तीन स्तर पर स्क्रीनिंग की प्रक्रिया

Read more

अब 31 जुलाई तक वर्क फ्रॉम होम

केन्द्रीय इलेक्ट्राॅनिक, सूचना-प्राद्यौगिकी व संचार मंत्री रविशंकर प्रसाद के साथ देश भर के आईटी मंत्रियों की हुई वीडियो कान्फ्रेंसिंग के दौरान बिहार के उपमुख्यमंत्री सह आईटी मंत्री सुशील कुमार मोदी ने कोरोना संक्रमितों व क्वरेंटाइन किए गए लोगों की कलाई पर आरोग्यसेतु आधारित बैंड (Aarogya Embedded Wrist Band) लगाने का सुझाव दिया ताकि उनके शरीर के तापमान, बीमारी के लक्षण व मूवमेंट की ट्रैकिंग व माॅनिटरिंग की जा सके. उनकी मांग पर केन्द्रीय मंत्री ने जानकारी दी कि शीघ्र ही आरोग्य सेतु एप स्मार्ट फोन के साथ फीचर फोन पर भी डाउनलोड किया जा सकेगा. मोदी ने बताया कि बिहार में अब तक 38 लाख लोगों ने आरोग्य सेतु एप को डाउनलोड किया है जिनमें पटना में सर्वाधिक 5.62 लाख व मुजफ्फरपुर में 1.81 लाख लोग शामिल हैं. प्रवासी बिहारियों को 1-1 हजार की मदद हेतु मुख्यमंत्री विशेष सहायता योजना के कार्यान्वयन के लिए जारी लिंक जिसकी पूरे देश में सराहना हो रही है. इस प्रक्रिया को झारखंड व यूपी के साथ साझा किया गया है. जियो फेंसिंग तकनीक पर आधारित इस लिंक को बिहार व नेपाल में रहने वाला कोई व्यक्ति क्लिक नहीं कर पायेगा. इसमें आधार व बैंक खाता बिहार का होना चाहिए तथा इसकी सेल्फी भी जियो टैंगिंग हैं जिसका जिलों में पदाधिकारी आधार के फोटो से मिलान करते हैं. लाॅकडाउन के दौरान 57 जेलों में बंद कैदियों से उनके 1836 परिजनों को ई-मुलाकात एप के जरिए विडियो कान्फ्रेंसिंग कराई गई है. इसके साथ ही आंगनबाड़ी केन्द्रों के बंद होने के बावजूद ‘आंगनबाड़ी पोर्टल’ के जरिए आधार

Read more

देखिए, बिहार में कहां हैं कितने मरीज

बिहार में 26 अप्रैल की सुबह तक की अपडेट आपको patnanow दे रहा है. शनिवार को एक दिन में 28 नये मरीज बिहार में डिटेक्ट किए गए जिसके बाद आज सुबह तक कोरोना मरीजों की बिहार में कुल संख्या 251 है. सबसे ज्यादा 65 मरीजों के साथ मुंगेर बिहार को टॉप हॉटस्पॉट बना हुआ है. मुंगेर के जमालपुर से सबसे अधिक लोग कोरोना मरीज डिटेक्ट हुए हैं. इसके बाद नालंदा में 34 मामले सामने आए हैं. नालंदा के बिहारशरीफ से सबसे ज्यादा कोरोमा मरीज मिले हैं. तीसरे नंबर पर पटना है जहां कुल 33 मरीजों में से ज्यादातर राजधानी के राजा बाजार स्थित खाजपुरा से हैं. वहीं सीवान में 30 मामले सामने आए हैं. इसके बाद तेजी से हॉटस्पॉट बना बक्सर का नया भोजपुर इलाका है जहां 25 में से सबसे अधिक मामले सामने आए हैं. बिहार के 38 में से 21 जिले अब कोरोना की चपेट में हैं. हालांकि अब भी अगर लोग संयम और धैर्य से लॉकडाउन का पालन करें तो ना सिर्फ लॉकडाउन बल्कि कोरोना से भी छुटकारा मिल सकता है. नीचे देखिए पूरी अपडेट लिस्ट- पीएनसी

Read more

कोरोना प्रभावित सभी जिलों की पूरी रिपोर्ट

बिहार में शनिवार को अब तक 19 मामले सामने आए हैं जिससे कुल आंकड़ा बढ़कर 242 तक पहुंच गया है. अरवल के कुर्था में एक कोरोना पॉजिटिव केस आने के साथ ही बिहार में अब 21 जिले कोरोनावायरस की चपेट में आ गए हैं. शनिवार को सबसे ज्यादा मामले कैमूर से मिले जहां 6 लोग और संक्रमित मिले हैं. उनके अलावा पांच बक्सर, पटना और रोहतास में 2-2 जबकि वैशाली, आरा, अरवल और सारण में एक-एक पॉजिटिव केस सामने आया है. पीएनसी

Read more

बिहार में दुकानें खोलने को लेकर अभी नहीं हुआ है फैसला

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने शर्तों के साथ दी अनुमतिआज से देशभर में सभी दुकानों को खोलने की छूटबड़े मॉल, सिंगल ब्रांड स्टोर खोलने की अनुमति नहींरेड जोन और हॉटस्पॉट्स में नहीं खुलेगी कोई दुकानसिर्फ रजिस्टर्ड दुकानें ही खुलेंगी बिहार के लोगों के लिए बड़ी बात यह कि अभी तक इस राज्य में दुकान को खोलने की इजाजत सरकार ने नहीं दी है यह पूरी तरह लॉक डाउन है शाम 5:00 बजे के बाद सरकार इस बारे में फैसला ले सकती है कि दुकान खुलवाना है या नहीं इस बारे में बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने बताया कि सभी दुकानोंं को खोलने के केंद्र सरकार के गाइड लाइन पर शाम 5 बजे बैठक होग. मुख्य सचिव के साथ अन्य विभागोंं के अधिकारियों की बैठक होगी जिसमें दुकानें खोलने को लेकर फैसला हो सकता है. अगर बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार दुकानें खोलने की अनुमति देते हैं तो बिहार शॉप्स एंड एस्टेब्लिशमेंट एक्ट के तहत रजिस्टर दुकानें खोलने मिल सकती है इजाजत.

Read more

लॉकडाउन में घर में ही होगी रमजान की नमाज़

रमजान का महीना शनिवार से शुरू हो रहा है. कोरोना के कारण लागू लॉकडाउन का असर रमजान पर भी पडेगा. गृह मंत्रालय ने इसके लिए निर्देश जारी किए हैं. वक्फ बोर्ड ने भी लॉकडाउन के पालन और सामाजिक दूरी का पालन करने की अपील की है. लॉकडाउन के कारण इस बार रमजान में तराबी के लिए मस्जिदों में लंबी कतार नहीं होगी. बाजार में भी भीड़ नहीं होगी. दुआएं सामुहिक न हो कर अकेले ही मांगी जाएगीतराबी शाम के वक्त मस्जिदों में आयोजित किया जाता है. मस्जिदों में इमाम, मुअज्जिन, खादिम समेत चार लोग दूरी बनाकर पांचों वक्त की नमाज पढ़ सकेंगे. सरकार ने सामाजिक दूरी पालन करने का सख्त निर्देश दिया है. सरकार ने लॉकडाउन का सख्ती से पालन करने का निर्देश दिया है.प्रोफेसर ओबेदुल्लाह कहा कि कोरोना का संक्रमण बेहद खतरनाक है और इससे बचने के लिए सामाजिक दूरी का पालन करना होगा. उन्होंने रमजान की रातों में इधर उधर घूमने वाली तफरीह को बंद करने की अपील की है. प्रोफेसर ओबेदुल्लाह ने घर पर ही नमाज पढ़ने की अपील की है. सिवान से हीरेश

Read more