ना बैंड बाजा और ना ही भोज, कुछ ऐसी होगी ये VIP शादी

उत्कर्ष और यामिनी की शादी होगी समाज के लिए मिसाल

बिना दहेज, बैंड बाजा बारात और नाच-गाने के होगी शादी




भोज की जगह आमंत्रित अतिथियों को प्रसाद स्वरूप दिए जायेंगे 4-4 लड्डू

अतिथियों को गिफ्ट लाने की भी है मनाही

जी हां. कुछ ऐसी ही होगी सुशील कुमार मोदी के बेटे की शादी. सुमो के बेटे उत्कर्ष तथागत और कोलकाता निवासी नवलजी केदारनाथ जी वर्मा की सुपुत्री यामिनी की शादी 3 दिसम्बर को अपराह्न 3 से 5 बजे के बीच पटना के बिहार वेटनरी काॅलेज के मैदान में बिना दहेज, बैंड, बाजा, बारात, नाच-गाने और भोज के होगी. 

शादी समारोह में भाग लेने वाले अतिथियों में बिहार के राज्यपाल सत्यपाल मलिक, प. बंगाल के राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी, गोवा की  मृदुला सिन्हा और मेघालय के राज्यपाल गंगा प्रसाद, केन्द्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली, उपभोक्ता व सार्वजनिक वितरण मंत्री राम विलास पासवान, कानून व आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद, कृषि मंत्री राधामोहन सिंह, स्वास्थ्य मंत्री जे पी नड्डा समेत कई केन्द्रीय मंत्री होंगे.

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, झारखंड के सीएम रघुवर दास, मध्यप्रदेश के  सीएम शिवराज सिंह चैहान, छत्तीसगढ़ के सीएम रमण सिंह, हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत व उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने भी शादी में आने की स्वीकृति दी है.

बता दें कि शादी के लिए कोई कार्ड नहीं छपवाया गया है बल्कि ई-कार्ड से सभी को आमंत्रित किया गया है. दहेज रहित हो रही इस शादी में आमंत्रितों को गिफ्ट लाने की मनाही की गई है. अतिथि स्वेच्छा से अंगदान-देहदान के क्षेत्र में सक्रिय सामाजिक संस्था ‘ दधीचि देहदान समिति’ को सहयोग कर सकते हैं. आमंत्रित अतिथि दधीचि देहदान समिति और मां वैष्णव देवी सेवा समिति के स्टाॅल पर चक्षुदान, अंगदान तथा बाल विवाह निषेघ व दहेज रहित शादी का संकल्प पत्र भर सकेंगे. सभी आमंत्रितों को 4-4 लड्डू प्रसाद स्वरूप तथा पाणि ग्रहण संस्कार की पुस्तिका भेंट स्वरूप दी जायेगी. आमंत्रितों के लिए समारोह स्थल पर चाय व पानी के स्टाॅल भी लगाए जायेंगे.

Related Post