शिल्पकृति क्राफ्ट बाजार मेला में नोटबंदी के बावजूद लोगों ने की जम कर खरीददारी

भोजपुर महिला कला केंद्र का दस दिवसीय शिल्पकृति क्राफ्ट बाजार मेला संपन्न 

हैंडलूम और हैंडी क्राफ्ट के मनमोहक सामग्री के स्टाल पर लोगों की भीड़




दस दिनों में बिके 88 लाख के हस्तशिल्प के उत्पाद 

गया के गांधी मैदान में चल रहा मेला संपन्न 

गया में चल रहे शिल्पकृति क्राफ्ट बाजार  मेले में देश के कोने कोने से आये शिल्पकारों की कलाकृतियाँ और उत्पाद खरीदने वालों की अच्छी भीड़ उमड़ी.गांधी मैदान में कार्यालय विकास आयुक्त हस्तशिल्प भारत सरकार द्वारा प्रायोजित और भोजपुर महिला कला केंद्र की से आयोजित १० दिवसीय मेले का आज समापन हो गया. गया के लोगों ने इस शिल्पकृति मेले का जम कर लुत्फ़ उठाया और खरीददारी करने में भी पीछे नहीं रहे. हैंडलूम और हैंडी क्राफ्ट के मनमोहक सामग्री के स्टाल पर लोगों की भीड़ देखते ही बन रही थी.लोगों में हाथ से बनाए गए बांस,जुट और धागे की ज्वेलरी भी खूब पसंद किए  गए,वहीँ लोगों ने सहारनपुर के हस्तशिल्प की जम कर खरीददारी की.मेला आयोजकों ने बताया कि लगभग समापन के दिन तक 88 लाख रुपये की बिक्री हुई. उत्तराखंड के स्टाल पर भी लोग खरीददारी करते दिखे.

मेले में आये कारीगरों के उत्पाद की सरहना भी किया और जम के खरीददारी भी की. नोटबंदी का असर भी दिख रहा है लेकिन लोग चाह रहे हैं की जल्द से जल्द अपने मन पसंद सामन की खरीददारी कर लें. मधुबनी पेंटिंग से बनी चादर हो या बेंत बांस के बने सजावटी और दैनिक उपयोग की वस्तुएं महिलाओं को खूब भा रही है. बच्चों का रुझान सॉफ्ट टॉय  के दूकान पर देखते ही बन रहा था. भोजपुर महिला कला केन्द्र की सचिव अनीता गुप्ता ने गया के लोगों के प्यार और कला के प्रति अच्छी रूचि है और उन्होंने खरीददारी में भी अपनी रूचि दिखाई इसके लिए हम तमाम लोगों को बधाई देते हैं .

कार्यकर्म पदाधिकारी संतोष कुमार ने प्रशासन को धन्यवाद देते हुए कहा कि इतने बड़े मेले सभी का सहयोग प्राप्त हुआ .हमारा प्रयास था की हम  के लोगों को हस्तशिल्प के उत्पाद लोगों के बीच जाए और वे भी  स्वावलंबन की दिशा में भी वे सोंचे .सचिव अनीता गुप्ता ने कहा की गया के लोगों ने जो प्यार दिया उसे हम नहीं भूल सकते. उन्होंने कहा कि सहारनपुर के फर्नीचर ,उत्तराखंड के उलेन जैकेट की बिक्री हुई वहीँ भदोही के कालीन और डोर मैट भी खूब बिके.शिल्पकृति मेले के अंतिम दिन भी लोगों की भारी भीड़ उमड़ी .लोगों ने मेले की अवधि को कुछ समय तक बढ़ाने का आगढ़ भी किया.