विकास गाथा का हिस्सा बनने के लिए भारत नेपाल का स्वागत करता है : राष्ट्रपति

विकास गाथा का हिस्सा बनने के लिए भारत नेपाल का स्वागत करता है : राष्ट्रपति 

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के सम्मान में आज (03 नवंबर, 2016) काठमांडू म्यूनिसिपल सिटी की ओर से उनका नागरिक अभिनंदन किया गया. इस अवसर राष्ट्रपति ने कहा कि काठमांडू केवल नेपाल की राजनीतिक राजधानी ही नहीं बल्कि हमारे क्षेत्र के लोगों के लिए आध्यात्मिक केंद्र भी है. मेरी नेपाल यात्रा एक प्रकार की तीर्थ यात्रा है. भारत और नेपाल के बीच समझदारी और सहयोग को प्रोत्साहित करना एक मिशन है. विश्व में भारत और नेपाल की तरह कोई दो ऐसे देश नहीं जिनकी संस्कति साझा रही और सीमाएं खुली हैं. भारत की सरकार तथा भारत की जनता इस संबंध को प्रगाढ़ बनाने के लिए संकल्पबद्ध है.




s2016110392745

राष्ट्रपति ने कहा कि भारत अपने स्वतंत्रता संघर्ष के दौरान नेपाल के नेताओं और नेपाल की जनता से प्राप्त समर्थन को हृदय से याद करता है. भारत नेपाल के संविधान को लागू करने के महत्वपूर्ण कार्य में नेपाल की जनता और नेपाल की सरकार की सफलता की कामना करता है.

राष्ट्रपति ने कहा कि दो विकासशील अर्थव्यवस्था के रूप में भारत तथा नेपाल अपने देशों तथा क्षेत्र की आर्थिक समृद्धि और सतत विकास का विजन साझा करते हैं. भारत मानता है कि हमारी जनता की आकांक्षाओं और उन्हें गुणवत्ता संपन्न जीवन देने के लिए आर्थिक प्रगति , शांति और स्थिरता को प्रोत्साहित करने पर फोकस करना चाहिए. ”