नेत्रदान करने वाले परिवार को सम्मान

पटना डीएम संजय कुमार ने स्वर्गीय शान्ति देवी को मरणोपरांत प्रेरणा दूत के सम्मान से किया विभूषित किया है. डीएम ने स्वर्गीय शान्ति देवी के परिजनों को भी सम्मानित किया. शांति देवी की हाल ही में मृत्यु हुई है और उनके परिजनों ने मरणोपरांत शांति देवी का नेत्र दान करके समाज में एक मिसाल कायम की है. डीएम संजय कुमार अग्रवाल रविवार को स्व. शाति देवी  के एसपी वर्मा आवास पहुंचे और उनके परिजनों से मिलकर सभी को सम्मानित किया.




डीएम ने बताया कि कई लोगों के द्वारा नेत्र दान का संकल्प लिया जाता है,संकल्प अथवा दान पत्र भी भरा जाता है लेकिन दान कर्ता की मृत्यु होने के उपरांत परिजनों के जानकारी के अभाव अथवा विभिन्न प्रकार के भ्रांतियों की वजह से नेत्र दान नहीं हो पाता है.

डीएम ने बताया कि स्वर्गीय शान्ति देवी के परिजनों ने आगे बढ़ कर IGIMS से सम्पर्क किया जिसके बाद नेत्रदान संभव हुआ. उन्होंने कहा कि नेत्र दान में मात्र कॉर्निया ही निकाला जाता है इससे मृतक के चेहरे पर किसी तरह का कोई निशान नहीं होता है, आँख का बाहरी हिस्सा यथावत रहता है.