लाल किले के प्राचीर से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी

लाल किले से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी
सौजन्य दूरदर्शन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले की प्राचीर से कहा कि ”सबका साथ-सबका विकास-सबका विश्वास और सबके प्रयास” से इस लक्ष्य को हासिल करना है. तिरंगा फहराने के बाद लाल किले की प्राचीर से अपने एक घण्टे तीस मिनट के संबोधन में प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत का यह संकल्प सुरक्षित और समृद्ध विश्व की खातिर प्रभावी योगदान के लिए है.लाल किले के प्राचीर से आज 8 वीं बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तिरंगा फहराया। इस मौके पर देश को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि देश को आगे बढ़ाने वालों को अभिनंदन। उन्होंने कहा कि पहले की तुलना में हम तेजी से आगे बढ़े लेकिन सिर्फ यहां बात पूरी नहीं होती।अब हमें पूर्णता तक जाना है.जीवन में संपूर्णता के लिए खेलकूद होना बहुत आवश्यक है। अब देश में फिटनेस और खेल को लेकर एक जागरुकता आई है।

इस बार ओलिंपिक में भी हमने देखा है। ये बदलाव हमारे देश के लिए एक बहुत बड़ा टर्निंग प्वाइंट हैं।दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीनेशन कार्यक्रम भारत में चल रहा है। हम 54 करोड़ से ज़्यादा लोगों को वैक्सीन लगा चुके हैं। हमारे वैज्ञानिकों और उद्यमियों की ताकत का ही नतीजा है कि आ भारत को किसी और देश पर निर्भर नहीं होना पड़ा।एक आतंकवाद और दूसरा विस्तारवाद। भारत इन दोनों ही चुनौतियों से लड़ रहा है और सधे हुए तरीके से बड़े हिम्मत के साथ जवाब भी दे रहा है। सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक करके भारत ने देश के दुश्मनों को नए भारत के सामर्थ्य का संदेश भी दे दिया है। ये बताता है कि भारत बदल रहा है। भारत कठिन से कठिन फैसले भी ले सकता है ।





देश के सभी सैनिक स्कूलों में अब बेटियां भी पढ़ेंगी। आज भारत की बेटियां अपना स्पेस लेने के लिए आतुर हैं।
प्रधनमंत्री ने नौजवानों के रोजगार के लिए सरकार 100 लाख करोड़ से भी ज्यादा की योजना लेकर आने वाली है। गतिशक्ति हमारे देश के लिए एक ऐसा नेशनल इंफ्रास्ट्रक्चर मास्टरप्लान होगा जो होलिस्टिक इंफ्रास्ट्रक्चर की नींव रखेगा। हमारी अर्थव्यवस्था को एक इंटीग्रेटेड और होलिस्टिक पाथ वे देगा।75 वंदे भारत ट्रेनें देश के हर कोने को जोड़ेंगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी