‘नालों पर सड़क निर्माण की योजना खटाई में’

बुडको की लापरवाही से राजधानी के कई नालों पर सड़क निर्माण पर ग्रहण

MINISTER PREM KUMAR SAIDPUR NALA KA JAYEJA LETE PHOTO/AFTAB ALAM
कई महीने पहले हुई थी नालों पर सड़क बनाने की योजना की घोषणा                                                                                         

करीब 6 महीने पहले राजधानी पटना में  कई नालों पर सड़क निर्माण करने की घोषणा की गई थी. लेकिन अभी तक नालों पर सड़क निर्माण का कार्य नहीं हुआ है, जिससे जलजमाव और ट्रैफिक जाम की समस्या बन रही है. बिहार विधान सभा में विरोधी दल के मुख्य सचेतक अरूण कुमार सिन्हा ने कहा कि शहर के नौ बड़े नालों, जिसमें मीठापुर बस स्टैण्ड से नन्दलाल छपरा 9780 फुट, सैदपुर नाला (मोइनुल हक स्टेडियम से गायघाट तक) 5280 फुट, पहाड़ी नाला (योगीपुर से पहाड़ी तक) 9780 फुट लम्बा सम्मिलित है, पर अभी तक सड़कों का निर्माण नहीं हुआ है. अरुण सिन्हा ने कहा कि बुडको द्वारा अभी तक प्रोजेक्ट की डीपीआर भी नहीं बनाई गई है जबकि घोषणा हुए छह माह से भी ऊपर हो गया है. हर साल नगर निगम इनकी उड़ाही कराता है जिनमें लगभग तीन से चार करोड़ रुपए खर्च होते हैं. खुला होने की वजह से इसमें गन्दगी और गाद भर जाता है और नाला जाम होने की वजह से संबंधित इलाकों में जलजमाव की समस्या खड़ी हो जाती है. बीजेपी नेता ने कहा कि नगर निगम द्वारा नालों पर सड़क निर्माण सम्बन्धी विस्तृत जानकारी उपलब्ध करा दी गई है लेकिन ना तो बुडको द्वारा अभी तक प्रोजेक्ट का DPR बनाया गया है और ना ही नगर विकास विभाग द्वारा DPR बनाने हेतु फंड निर्गत किया गया है, जिससे इस महत्वाकांक्षी योजना पर ग्रहण लग गया है. इससे साफ उजागर होता है कि सरकार राजधानी पटना के प्रति घोर कितनी लापरवाह है.