खगौल में बंगाली पूजा होगा मुख्य आकर्षण

30 जगहों पर की गई है मूर्ति की स्थापना

11 नवम्बर को हर हाल में होगा मूर्ति विसर्जन




unnamed-1 unnamed

इस वर्ष खगौल में मोतीचौक स्थित स्थापित माँ काली ,घनश्याम स्कूल एवं रेलवे अस्पताल स्थित स्थापित माँ दुर्गा की बंगाली रीति रिवाजों से होने वाली पूजा और खप्पड पूजा मुख्य आकर्षण का केंद्र रहेगा . खगौल के प्रभारी इंस्पेक्टररमण कुमार वशिष्ठ ने बताया कि ,माँ दुर्गा की प्रतिमा का विसर्जन हर हाल में 11 नवम्बर को कराने का निर्देश दिया गया है . पूजा को शांतिपूर्ण रूप से संपन्न के लिए 50 लोगों पर धरा 107 लगाया गया है . दानापुर के डीएसपी राजेश कुमार के देखरेख में नगर में पुलिस बल का प्रदर्शन किया गया है .

हलचल मंच के अनिल कुमार विभूति और संजय गुप्ता ने बताया है कि यहाँ पिछले 31 साल से 16 फीट की भव्य माँ काली की प्रतिमा स्थापित की जाती है . जो सोने चांदी से लदी होती है . घनश्याम स्कूल पूजा समिति के शशि भूषण और अरविन्द शर्मा ने बताया कि इस वर्ष माँ दुर्गा की 86वें साल धूमधाम से मनाया जायेगा . छोटी खगौल स्थित बौलीपर ,फाइव स्टार पूजा समिति के संजय कुमार सिन्हा और चंदू प्रिंस ने बताया है कि यहाँ हरेक साल की तरह आकर्षक माँ दुर्गा की प्रतिमा स्थापित किया जाता है . लोको अनुसूचित एवं अनुसूचित जनजाति कार्यालय परिसर में ब्रह्मकुमारी संस्थान की ओर से जीवंत प्रतिमा का प्रदर्शन किया जाता है . इस के आलावा नीमतल्ला में आकर्षक भारत माता की प्रतिमा और कार्टून स्थापित किया जायेगा .लोको गेट पर सब से भव्य पंडाल , मोतीचौक ,आनंदपुरी,लोको अस्पताल ,लोको पानी टंकी , लाल चौक , नेउरा कॉलनी , जयराम बाजार,फलमंडी आदि जगहों पर बिजली बत्ती की आकर्षक सजावट देखने को मिलेगी . इस के साथ साथ रेलवे स्टेशन ,नीमकुआँ ,दल्लूचक , गाड़ीखाना,लोको अंतिम क्वाटर,रनिगरुम,लेखनीबिह्घा, छोटी बदलपूरा ,बड़ी बदलपुरा देवी मंदिर सहित 30 जगहों पर माँ दुर्गा की प्रतिमा स्थापित की जाती है . इस मौके पर खाने पीने और खिलौने की दुकानों के आलावा झुला आदि अभी से शुरू हो गया है .बड़ी खगौल देवी मंदिर के पास रात्रि में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा .

रिपोर्ट- दानापुर से चन्द्रशेखर