सोनू निगम के साथ गाना सपना-पल्लवी सिन्हा

निर्देशक कुंदन सिंह ने कहा कि पल्लवी की आवाज लता ताई जैसी

बॉलीवुड गायक अल्तमश फरीदी के साथ गाया गाना




‘ओ माही तेरे बिन’ देशभक्ति गाने में पल्लवी को मिला मौका

लोक संगीत को जिन्दा रखना मूल आत्मा को बचाना है

पिता को समर्पित किया पहला गीत ‘ओ माही तेरे बिन’

देश के वीर जवानों को श्रद्धांजलि है ‘ओ माही तेरे बिन’ गाना

पटना की पार्श्व गायिका पल्लवी सिन्हा बॉलीवुड के लिए एक नया नाम है पर यह नाम इतनी तेजी से लोगों के जेहन में जुड़ा की लाखों लोग उनके दीवाने हो गए है.अपनी पहले गीत को पल्लवी ने अल्तमश फरीदी के साथ गाया है.यह एक देश भक्ति गीत है. पल्लवी बताती है कि उन्होंने गायन की शिक्षा छपरा में धंनजय मिश्रा से सीखा और इन्डियन क्लासिकल से एमए पटना विवि से किया है.अब उनका दृढ़ निश्चय है कि बॉलीवुड में एक मुकाम बनाऊं. उनके पिता स्व सुरेन्द्र प्रसाद सिन्हा और मां माधुरी सिन्हा ने भी पल्लवी को कभी गाने से रोका नहीं और उनका उत्साह बढ़ाते रहे. शास्त्रीय गायन में अपना स्थान बनाने वाली पल्लवी को राग कल्याण बहुत पसंद है.

गायिका पल्लवी सिन्हा

बॉलीवुड गायक अल्तमश फरीदी और पटना की बेटी गायिका पल्लवी सिन्हा का गाना ‘ओ माही तेरे बिन’ रिलीज हो गया है। साई विनायक डॉट के फिल्मस के बैनर तले बना म्यूजिक अलबम ‘ओ माही तेरे बिन’ रिलीज कर दिया गया। इसके निर्देशक-अभिनेता कुंदन सिंह के अनुसार ओ माही तेरे बिन गाना देशभक्ति पर आधारित है और देश के वीर जवानों को श्रद्धांजलि है। उन्होंने बताया कि यह गाना उनके दिल के बेहद करीब है और उम्मीद है कि श्रोता इसे बेहद पसंद करेंगे। पटना की रहने वाली गायिका पल्लवी सिन्हा ने बताया कि गाने के बोल काफी अच्छे हैं और जब मैंने इस गाने के बारे में पहली बार सुना तो मुझे काफी अच्छा लगा। अल्तमश फरीदी जैसे सुप्रसिद्ध गायके साथ गाना मेरे लिये सपने के पूरा होने जैसा है । 

गौरतलब है कि ‘ओ माही तेरे बिन’ के गीत को अराफत महमूद और पल्लवी सिन्हा ने लिखा है जबकि संगीत रोजी मुखर्जी का है। गाने के विडियो में मुख्य भूमिका में कुंदन सिंह और प्रिया सिन्हा के अलावा मंजीत बासु, प्रिंस, नमितेश, आयुष समेत अन्य कलाकार शामिल हैं। अल्तमस कबीर ने पिछले दिनों दूरदर्शन के एक कार्यक्रम में पल्लवी सिन्हा की आवाज को लता जी के करीब का बताया. उनके साथ गाने का अनुभव बेहद शानदार रहा। मुझे उम्मीद है कि लोग इस गीत को बहुत सारा प्यार देंगे. पल्लवी पटना की रहने वाली है उनके पिता एक अधिवक्ता थे और मां साहित्यकार. घर में अच्छा माहौल मिला तो संगीत सीखा पर मौके का इन्तजार करती रही .पल्लवी ने कहा कि भोजपुरी संगीत अपनी ओर खींचता है पर आज कल अश्लील गीतों के कारण भोजपुरी सुनने वाले श्रोता कम होते जा रहे हैं.उन्होंने कहा कि बिहार की लोक भाषाओँ में जो तत्व है उन्हें संभाल कर रखना होगा जिसे आने वाली पीढियां जान सकें.

पल्लवी को बॉलीवुड सिंगर जुबिन नौटियाल और अर्जित सिंह की आवाज बेहतरीन लगती है लेकिन उन्हें भविष्य में सोनू निगम के साथ गाना गाना अच्छा लगेगा. गायकी में अपने आप को वो दिनों दिन वो तैयार करती रही लेकिन भोजपुरी की तरफ ऑफर मिलने के बाद भी काम नहीं किया. पल्लवी ने अपने पहले गाने को अपने पिता को समर्पित कर रही है. उनके पिता उन्हें सारेगमा और इंडियन आइडियल में भी ले गए लेकिन दुर्ग्भाग्य वश उनके पहुंचने के पहले गेट ही बंद हो गया जिससे वो भाग नहीं ले सकी. पल्लवी कहती हैं कि बिहार में अब अच्छे शिक्षक नहीं मिल पा रहे हैं इस लिए अब सीखने की कमी बच्चों में दिखने को मिल रही है. सरकार को प्रयास करना चाहिए कि अच्छे शिक्षकों की नियुक्ति करें जिससे आने वाले समय में अच्छे बच्चे निकल पाए .पल्लवी ने बिहार दिवस पर मगध महिला कॉलेज की ओर भी कई गायन कार्यक्रम में शिरकत किया है .

PNCDESK #Patnakikhabar