निरहुआ की बढ़ी मुश्किलें, होगी गिरफ्तारी ?

NUJ सहित तीन संगठनों ने की निरहुआ को तत्काल गिरफ्तार करने की मांग




भोजपुरी के स्वघोषित सुपरस्टार दिनेश लाल यादव उर्फ निरहुआ द्वारा पत्रकार शशिकान्त सिंह को घर में घुसकर जान से मारने की धमकी के बाद बढ़ा बवाल थमने का नाम नही ले रहा है. मामले को ले शशिकान्त सिंह ने जहाँ पुलिस में शिकायत दर्ज कराया वहीं वसई और नालासोपाड़ा में बॉर्डर के प्रदर्शन पर भी विराम लग गया है. सामाजिक संगठनों ने इस निरहुआ के इस आचरण का विरोध करते हुए पुतला और पोस्टर तक फाड़ अपना विरोध जता चुके हैं वही ताजा मामले में नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट(NUJ) की महाराष्ट्र महासचिव शीतल करदेकर ने भोजपुरी स्टार दिनेशलाल यादव निरहुआ द्वारा पत्रकार शशिकांत सिंह को घर में घुसकर काट डालने की धमकी की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए तत्काल निरहुआ की गिरफ्तारी की मांग की है. शीतल करदेकर ने कहा है कि सेलिब्रेटी के चाहने वालो की संख्या लाखो में होती है जबकि पत्रकारों की ब्यक्तिगत टी आर पी नही होती.

लोगो मे डर पैदा करने के लिए पत्रकारों से वाद-विवाद,गाली- गलौज करना और जान से मारने की धमकी देना शोभनीय नही है. उन्होंने महाराष्ट्र सरकार से तत्काल निरहुआ को गिरफ्तार करने की मांग की है. शीतल करदेकर ने कहा है कि पहले कपिल शर्मा ने इस तरीके की पत्रकार को गाली देते हुए धमकी दी. अब निरहुआ ने फिर वही किया. आने वाले समय मे हमारे साथ भी ऐसा हो सकता है. उन्होंने कहा कि हम सभी पत्रकार शशिकांत सिंह के साथ हैं. सरकार ने सुरक्षा कानून का घोड़ा सिर्फ कागज पर नचाया है. अगर निरहुआ को गिरफ्तार नही की गयी या उसने माफी नहीं मांगी तो आंदोलन के अलावा कोई पर्याय नही होगा.
इतना ही नही अम्बेडकर पार्टी ऑफ इंडिया के औरंगाबाद जिलाध्यक्ष फकीरचन्द ऑचरमंद और मराठा मावळा संगठन के औरंगाबाद जिला उपाध्यक्ष योगेश बन ने भी पुलिस उपायुक्त से भोजपुरी अभिनेता द्वारा किये गए इस गुंडागर्दी के लिए गिरफ्तारी की मांग की है. अब देखना यह होगा कि पुलिस इस मामले में क्या करती है.

पटना नाउ ब्यूरो की रिपोर्ट