बिहार पुलिस मुख्यालय का नया पता-ठिकाना कल यानि 12 अक्टूबर से

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | बिहार पुलिस के मुख्यालय का पता जल्द ही पुराने सचिवालय से बदल कर बेलीरोड स्थित जेडी वीमेंस कॉलेज के बगल में होने वाला है. पुलिस मुख्यालय के नए भवन का निर्माण कार्य पूरा हो गया है. इसका उद्घाटन कल यानि 12 अक्टूबर को होना तय है. विशेष भूकंपरोधी तकनीक, जिसमें यह 7-8 तीव्रता वाले भूकंप को भी झेल सकता है, से बना यह राज्य का पहला सरकारी इमारत है जिसकी छत पर हेलीपैड होगा. सातवें तल्ले की छत पर एक हिस्से में हेलीपैड बनाया गया है. 12 अक्टूबर को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इस नए भवन का उद‌्घाटन करेंगे. गत 28 मई को मुख्यमंत्री ने निर्माण कार्यों का निरीक्षण करने के साथ ही निर्माणाधीन हेलीपैड को भी देखा था. इस बिल्डिंग की नींव और छत को बहुत मजबूत बनाया गया है ताकि हेलीकाप्टर आसानी से उतर सके.
इस बिल्डिंग के निर्माण पर 388 करोड़ रुपए खर्च हुए हैं तथा इसको बिहार भवन निर्माण विभाग ने बनाया है. बिहार सरकटर के भवन निर्माण मंत्री महेश्वर हजारी ने इसकी खूबियां गिनाते हुए कहा कि इस बिल्डिंग में पर्यावरण का पूरा ध्यान रखा गया है. भवन निर्माण निगम के इस नए भवन को ग्रीन बिल्डिंग भी कहा जा सकता है, क्योंकि इसमें पर्यावरण के तमाम नियमों का ख्याल रखा गया है. पुलिस मुख्यालय का नया भवन सात एकड़ जमीन पर बना है और इसे ‘स्टेट ऑफ द आर्ट’ पुलिस मुख्यालय भवन कहा जा रहा है. ज्ञातव्य है, पिछले लगभग 100 सालों से पुलिस मुख्यालय पुराना सचिवालय के भवन में चल रहा है. 12 अक्टूबर को उद्घाटन के बाद इसे नई बिल्डिंग में शिफ्ट किया जाएगा.
नए पुलिस मुख्यालय को इस तरह डिजाइन किया गया है कि प्राकृतिक या अन्य आपदा के समय यह इमरजेंसी ऑपरेशन सेंटर अर्थात आपदा नियंत्रण कक्ष की तरह काम कर सके. साथ ही, किसी आपदा के समय सभी विभागों के लिए अलग-अलग दफ्तर यहां पर बनाए गए हैं. इस भवन में पुलिस के तमाम अधिकारी बैठेंगे. पुलिस वालों के लिए इनडोर फायरिंग रेंज बनाया गया है. इस भवन को टेक्निकल सर्विलांस मोबाइल ट्रैकिंग सिस्टम से भी लैस किया गया है. इसमें पुलिस सूचना कक्ष, फॉरेंसिक साइंस लैब, डीएनए लैब, ऑडिटोरियम तथा पुलिस नियंत्रण कक्ष भी होगा. कुल मिलकर यह भवन अपने आप में कई खूबियों समेत सभी अत्याधुनिक तकनीक की सुविधाओं से लैस है. इसमें सिपाही से लेकर डीजीपी तक बैठेंगे.