कलश स्थापना के साथ शारदीय नवरात्र प्रारंभ 

शहरी व ग्रामीण इलाकों में माहौल पूजामय 
इस बार 10 दिन के हैं नवरात्र, 18 साल बाद बना यह महासंयोग 
कलश स्थापना के साथ ही नवरात्र के पहले दिन फुलवारी शरीफ के शहरी व ग्रामीण इलाके में माहौल पूजामय हो गया.  वैसे तो नवरात्र 9 दिन के होते हैं लेकिन 18 साल बाद यह पहला अवसर है कि इस बार नवरात्र 10 दिन के हैं. दो दिन एक तिथि पड़ने के कारण इस बार नवरात्र 10 दिन का होगा. श्रद्धालु मां के नौ स्वरूपों की आराधना 10 दिनों तक करेंगे. शनिवार से शुरू होने वाले नवरात्र में दो दिन मां के दूसरे स्वरूप की आराधना होगी.  शुद्ध देशी घी का अखंड दीप प्रज्ज्वलित कर धूप जलाकर मां जगदम्बा की पूजा अर्चना शुरू हो गई. नगर के चुनौती कुआँ , सदर बाजार दुर्गा स्थान , टमटम पड़ाव , खोजा इमली , अनीसाबाद , बेउर , सिपारा ,परसा बाजार , पुनपुन बाँध , सम्पतच्क के बैरिया ,  गोपालपुर , गौरीचक , रामकृष्ण नगर , जगनपुरा , सबजपूरा , वाल्मी , भुसौला , जानीपुर समेत अन्य सभी इलाके पूजा मय हो गये . माँ दुर्गा की स्तुति के स्वर से चारों दिशाएं गुंजायमान हो रही हैं.  वहीँ खगौल में नवरात्र के पहले दिन खगौल भक्तिमय हो गया .
unnamed-1 unnamed-2
इस मौके पर आनंदपुरी और पेठिया बाजार से कन्याओं ने बाजार में कलश यात्रा निकाली. आजाद क्लब, आनंदपुरी  श्री दुर्गा पूजा समिति की ओर से कन्याओं की कलश यात्रा निकाली गयी ,जो आनंदपुरी से शुरू होकर मुख्य बाजार मोती चौक,,पेठिया होते पुनह आनंदपुरी में वापस हो कर समाप्त हो गयी . जब कि  दुर्गा पूजा समिति,पेठिया बाजार की ओर से कन्याओं ने बाजार में निकाली कलश यात्रा,पेठिया बाजार से हो कर आनंदपुरी ,बदलपुरा आदि होकर पुनह पेठिया बाजार में समाप्त हो गयी . मिली जानकारी के मुताबिक खगौल थानान्तर्गत करीब 30 स्थानों पर माँ दुर्गा की प्रतिमा स्थापित किया जाता है .लेकिन थाना की ओर से 22 पूजा समितियों को ही इस वर्ष लाइसेंस दिया गया है .
रिपोर्ट- फुलवारीशरीफ से अजीत