मुश्किल वक्त में निभाएं अपनी जिम्मेदारी, इस दिन रक्तदान के लिए आइए IAS भवन

थैलेसीमिया प्रभावित बच्चों के सहायतार्थ 14 जून को विश्व रक्तदाता दिवस के अवसर पर IAS भवन में मेगा रक्तदान शिविर का आयोजन

पटना,13 जून. 14 जून 2021 को ‘विश्व रक्तदाता दिवस’ के अवसर पर ‘पी.एम.सी.एच पटना, में थैलीसीमिया से पीड़ित नन्हें बच्चों के लिए निर्मित ‘डे केयर सेंटर’ हेतु, IAS. भवन, निकट एयरपोर्ट प्रवेश द्वार, पटना में प्रातः 10 बजे रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया है.




बताते चलें कि बिहार सरकार द्वारा थैलीसीमिया से पीड़ित बच्चों के उपचार एवं देखभाल के लिए 14 जून 2020 को राज्य के पहले ‘थैलीसीमिया डे केयर सेंटर’ की शुरुआत की गई थी. इस दिशा में राज्य सरकार द्वारा कई महत्वपूर्ण कदम उठाए गए हैं, अब तक राज्यभर में 1700 थैलीसीमिया पीड़ित नन्हें बच्चों को ब्लड ट्रांसफ्यूज़ किया गया है. उन्हें उपचार हेतु नि:शुल्क दवाएँ भी उपलब्ध करायी जा रही हैं. वर्ष 2021 में 3 नन्हें बच्चों का सफल ऑपरेशन भी किया गया, इसके लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निजी कोष (मुख्यमंत्री राहत कोष) से थैलीसीमिया से पीड़ित इन बच्चों के बोन मैरो ट्रांसप्लांट के लिए 3 लाख से 6 लाख तक की राशि का भुगतान सीधे अस्पतालों के खाते में दी गयी है.

11 जून 2021 तक राज्य भर में 330 बच्चों का रजिस्ट्रेशन किया जा चुका है, तथा इसका सघन अभियान चलाया जा रहा है. गत वर्ष से सभी पीड़ित बच्चों को उनके लिए जरूरी आयरन कम करने की दवा इस ‘डे केअर’ के माध्यम से निःशुल्क प्रदान की जा रही हैं.

वन विभाग के प्रधान सचिव दीपक कुमार सिंह ने बताया कि बिहार सरकार द्वारा चार नए ‘डे केअर सेन्टर’ स्थापित करने की प्रक्रिया चल रही है, जो शीघ्र ही राज्य के मुज़फ़्फ़रपुर, पूर्णिया, भागलपुर और गया जिलों में स्थापित किये जायेंगे. बिहार के सभी सरकारी ब्लड बैंकों में वृहत पैमाने पर थैलीसीमिया पीड़ित बच्चों को चिन्हित कर उनका ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन किया जा रहा है.

इसी क्रम को गति प्रदान करने हेतु इस वर्ष भी दिनांक 14 जून 2021 को रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया है. बिहार सरकार के सौजन्य से दीपक कुमार सिंह, भा.प्र.से. सचिव, आई.ए.एस. ऑफिसर्स एसोसिएशन, बिहार एवं प्रधान सचिव, पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग, बिहार सरकार के नेतृत्व में आई.ए.एस ऑफिसर्स एसोसिएशन, आई.ए.एस ऑफिसर्स वाईव्स एसोसिएशन एवं आई.एफ.एस. ऑफिसर्स एसोसिएशन, बिहार द्वारा माँ वैष्णो देवी सेवा समिति के संयुक्त तत्वावधान में थैलीसीमिया पीड़ित नन्हें बच्चों के लिए रक्तदान शिविर का आयोजन किया जा रहा है. जिसमें राज्य स्वास्थ्य समिति और पी एम सी एच द्वारा सहयोग किया जा रहा है.

वर्ष 2009 से ही लगभग 300 बिजनेसमैन के समूह द्वारा संचालित माँ वैष्णो देवी सेवा समिति द्वारा इस नेक कार्य को वृहद स्तर पर क्रियान्वित किया जाता रहा है, जिसमें प्रतिवर्ष बिहार के सरकारी अस्पतालों को 1000 यूनिट ब्लड उपलब्ध करवाया जाता है
माँ वैष्णो देवी सेवा समिति को इस बार पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग, बिहार सरकार का भी पूर्ण समर्थन प्राप्त होगा. वर्ष 2013 से माँ वैष्णो देवी सेवा समिति द्वारा थैलेसीमिया पीड़ित बच्चों के लिए रक्त आपूर्ति का कार्य किया जा रहा है.
थैलीसीमिया एक ऐसी गम्भीर बीमारी है जिससे पीड़ित बच्चे को जीवित रहने के लिए हर 15 दिन में रक्त की आवश्यकता होती है. इस बार 3 ब्यूरोक्रेट्स संस्थान, माँ वैष्णो देवी सेवा समिति द्वारा एक साथ एक ही मंच पर राज्य स्वास्थ्य समिति के सहयोग से विश्व रक्तदाता दिवस पर रक्तदान शिविर का आयोजन किया जा रहा है. वर्ष 2018, 2019 एवं 2020 में दिए गए लोकसंवाद के सुझाव के आधार पर पिछले वर्ष विश्व रक्तदाता दिवस (14 जून 2020) को बिहार सरकार ने पी.एम.सी.एच. पटना में पहला थैलीसीमिया ‘डे केयर सेंटर’ बनाया गया था जिसके माध्यम से गत रविवार दिनांक 6 जून 2021 तक लगभग 1700 पीड़ित बच्चों को ब्लड चढ़ चुका है. 1 यूनिट ब्लड से तीन लोगों की जिंदगियां बचाई जाएंगी जिसमें 1 यूनिट ब्लड के पी.आर.बी.सी. थैलीसीमिया पीड़ित बच्चों के, प्लेटलेट्स और प्लाज्मा अन्य रोगियों के काम आएगा.

इस अति-महत्वपूर्ण शिविर का उद्घाटन त्रिपुरारी शरण, मुख्य सचिव, बिहार सरकार द्वारा किया जाएगा, एवं जी. एस. कंग, उपाध्यक्ष, बिहार राज्य योजना पर्षद इसकी अध्यक्षता करेंगे. उक्त अवसर पर आमिर सुबहानी, विकास आयुक्त, बिहार सरकार विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित रहेंगे. ए. एन. शरण, प्रधान मुख्य वन संरक्षक, बिहार की गरिमामयी उपस्थिति भी दर्ज होगी.

शिविर में सभी रक्तदाताओं को पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग, बिहार सरकार द्वारा एक इन-डोर पौधा एवं प्रतीक चिह्न से सम्मानित किया जाएगा.

PNCB