मनेरशरीफ में मज़ार पर चादरपोशी

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) । मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बृहस्पतिवार 5 अप्रैल को मनेरशरीफ स्थित सूफी संत हजरत मखदूम शाह याहिया मनेरी और मखदूम शाह दौलत मनेरी रहमतुल्लाह अलैह की मजार पर चादरपोशी की और समाज मे सद्भाव, समृद्धि, अमन-चैन और खुशहाली कायम रहने की दुआयें मांगीं. मनेरशरीफ पहुँचकर मुख्यमंत्री ने सबसे पहले सूफी संत हजरत मखदूम शाह याहिया मनेरी की जन्मस्थली का भ्रमण कर मत्था टेका. जन्मस्थली भवन को वर्षा की बूंदों से बचाने के लिये मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को कई निर्देश दिये. उन्होंने मजार की छत के ऊपर कंक्रीट का शेड बनाने का निर्देश दिया. उन्होंने कहा कि यह काफी पुराना स्ट्रक्चर है इसलिए निर्माण कार्य ठीक ढंग से होना चाहिए. इसके साथ ही जन्मस्थली प्रांगण के प्रवेश द्वार को आर्कियोलॉजीकल विभाग के एक्सपर्ट को बुलाकर उसे मजबूत कराने की दिशा में कार्रवाई करने का निर्देश दिया. जन्मस्थली का भ्रमण करने के बाद मुख्यमंत्री बड़ी दरगाह स्थित आस्तान-ए-हजरत कुदवतुल आरफीन कुतुबुल कत्ताब सुल्तानुल मखदूम शाह कमालुद्दीन अहमद याहिया मनेरी की दरगाह पर चादरपोशी की. उसके बाद मुख्यमंत्री छोटी दरगाह पहुँचें और वहाँ मखदूम शाह दौलत एवं इब्राहिम खान के मकबरे से संबंधित लगे शिलापट्ट का बारीकी से अवलोकन करने के बाद वहॉ चादरपोशी की. इस अवसर पर मनेरशरीफ ख़ानकाह के गद्दीनशीं सैयद शाह तारिक ऐनायतुल्ला फिरदौस, जदयू, पटना नगर के जिलाध्यक्ष कमाल परवेज, मुख्यमंत्री के सचिव मनीष कुमार वर्मा, मुख्यमंत्री के विशेष कार्य पदाधिकारी गोपाल सिंह, जिलाधिकारी कुमार रवि, वरीय पुलिस अधीक्षक मनु महाराज सहित अन्य अधिकारीगण एवं स्थानीय लोग मौजूद थे.