बुनियादी शिक्षा और नारी शिक्षा आज की जरूरत – कृष्ण नंदन प्रसाद वर्मा

पटना / जहानाबाद (ब्यूरो रिपोर्ट) | शिक्षा, विधि और समाज कल्याण मंत्री कृष्ण नंदन प्रसाद वर्मा ने बृहस्पतिवार 6 दिसंबर को अपने विधानसभा क्षेत्र घोसी के दो स्थानों पर दो बड़ी योजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन किया. मंत्री ने मोदनगंज प्रखंड के बंधु गंज बाजार स्थित देवनंदन प्लस टू उच्च विद्यालय में शिक्षा विभाग के अंतर्गत बिहार शैक्षणिक आधारभूत संरचना निगम द्वारा स्वीकृत प्लस टू विद्यालय भवन का आधारशिला रखी. इस भवन में क्लासरूम, ऑफिस, शौचालय, वाचनालय के साथ अन्य सुविधाएं भी उपलब्ध होगी. साथ ही मंत्री द्वारा घोसी प्रखंड के सैदपुर गांव के समीप घोसी हुलासगंज मार्ग पर बृहत यात्री सेठ का उद्घाटन भी किया गया.

इन दोनों स्थानों पर आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए शिक्षा मंत्री ने शिक्षा पर जोर देते हुए कहा कि बुनियादी शिक्षा और नारी शिक्षा आज की जरूरत बन गई है जिस पर सरकार काफी गंभीरता पूर्वक काम कर रही है. उन्होंने कहा कि नारी शिक्षा के लिए सरकार कई कार्यक्रम चला रही है जिसमें मुख्यमंत्री छात्रवृति योजना, मुख्यमंत्री बालिका पोशाक योजना एवं मुख्यमंत्री साइकिल योजना ने नारी शिक्षा के क्षेत्र में क्रांति लाया है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में शराबबंदी जैसे अद्भुत पहल और निर्णय की भी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चर्चा और प्रशंसा हो रही है. शराबबंदी से सर्वाधिक लाभ महिलाओं और बेटियों को ही मिल रहा है. उन्होंने बुनियादी शिक्षा पर जोर देते हुए इसे और विकसित करने पर बल दिया और कहा कि शीघ्र ही बिहार के 21 बुनियादी विद्यालय जो गांधी जी के सपनों को दर्शाता है, उसका उन्नयन और अक्रमण किया जाएगा. पायलट प्रोजेक्ट के तहत प्रथम चरण में गांधी जी की स्मृतियों और यात्राओं का गवाह बने स्थलों के इर्द-गिर्द के बुनियादी विद्यालय के साथ ही जहानाबाद जिला का धवल बीघा हुलासगंज बुनियादी विद्यालय को भी विकसित किया जाएगा. उन्होंने बताया कि सरकार ने 21 बुनियादी विद्यालयों को डीएवी मैनेजमेंट कमिटी को हस्तगत करा दिया है जिस का संचालन और देखभाल तथा विकास डीएवी मैनेजमेंट कमिटी बेहतर ढंग से करेगा और अगले सत्र में यानी 1 अप्रैल से डीएवी स्कूलों के तर्ज पर गांव के इन बुनियादी विद्यालयों में पठन-पाठन और अन्य तमाम सुविधाओं को बहाल कर दिया जाएगा.




शिक्षा मंत्री ने जोर देकर कहा कि गरीबी समाज में फैले अंधविश्वास और वैमनस्यता को दूर करने का एकमात्र हथियार शिक्षा ही है. इसलिए शिक्षा पर कमजोर और गरीब वर्गों का खासा ध्यान हो इसके लिए सरकार हर कदम उठा रही है. मंत्री घोसी बाजार स्थित अंबेडकर चौक ही गए जहां उन्होंने संविधान निर्माता बाबा साहब डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित किए. इस मौके पर मंत्री ने कहा कि बाबा साहब ने भी गरीबों की भलाई और गरीबी से मुक्ति के लिए कहा था कि लोकतंत्र की मजबूती और सत्ता एवं संसद में भागीदारी सुनिश्चित कर ही गरीबों का उत्थान किया जा सकता है. इन कार्यक्रमों में मंत्री के साथ जदयू नेता वीरेंद्र सिंह, दिलीप कुशवाहा, सामाजिक कार्यकर्ता नंदकिशोर यादव, वीरेंद्र कुशवाहा, सूरज देव यादव, बिहारी प्रसाद मुखिया, श्रवण कुमार, रमेश यादव एवं सच्चिदानंद सिंह आदि भी मौजूद थे.