खबर का असर, इलाज में कोताही पर ANM सस्पेंड

पटना नाउ की खबर का दिखा असर

इलाज में कोताही पर कार्रवाई का इंजेक्शन 

प्रसूता मामले में राजपुर PHC की ANM निलंबित 

सिविल सर्जन ने जारी किया आदेश, कहा – उनके मोबाइल नंबर 9470003163 पर करें शिकायत
बक्सर राजपुर PHC में प्रसूता के इलाज में लापरवाही पर सिविल सर्जन ब्रजकुमार सिंह ने ANM पर कार्रवाई का इंजेक्शन लगाया है. गर्भवती को इलाज के लिए अस्पताल में भरती करने के एवज में पैसे मांगना ANM को महंगा पड़ गया. डीएम रमण कुमार के आदेश के बाद उसे निलंबित कर दिया गया है. इसके साथ ही जिले के सभी अस्पतालों के लिए सीएस ने फरमान जारी किया है. जारी आदेश में कहा गया है कि किसी भी परिस्थिति में मरीजों या उनके परिजनों से पैसे की मांग करने पर इसी तरह से कार्रवाई की जायेगी.
बता दें कि पटना नाउ ने प्रसूता को इलाज के लिए अस्पताल से बाहर निकालने की खबर को प्रमुखता से प्रकाशित किया था. 28 फरवरी को पटना नाउ ने ‘ शर्मनाक.. पैसे के लिए गर्भवती को अस्पताल से निकाला’ शीर्षक से खबर प्रकाशित किया था. इसके बाद विभागीय अधिकारी हरकत में आये थे. खबर पढ़कर जिलाधिकारी ने संज्ञान लेते हुए सिविल सर्जन को तत्काल कार्रवाई करने का आदेश दिया था.
 
सीएस ने कहा – पटना नाउ को थैंक्स 
DM के आदेश पर सिविल सर्जन (CS) ने जिला यक्ष्मा पदाधिकारी अरविंद नारायण की अध्यक्षता में जांच टीम का गठन किया था. प्रसूता अस्पताल से गांव चली गयी थी. इसके बाद जांच टीम ने मरीज के गांव जाकर मामले की तहकीकात की थी. सिविल सर्जन ने इसके लिए पटना नाउ को साधुवाद दिया. उन्होंने कहा कि जांच के लिए गठित टीम के अधिकारी द्वारा जांच प्रतिवेदन समर्पित करने के बाद कार्रवाई की गयी. उन्होंने अपने स्तर से PHC प्रभारी डॉ अशोक कुमार व आरोपी ANM गीता कुमारी से मामले में स्पष्टीकरण की मांग की थी. लेकिन स्पष्टीकरण में मिले जवाब संतोषजनक नहीं रहे. अब दोषी ANM पर विभागीय कार्रवाई की भी अनुशंसा कर दी गयी है.
सभी अस्पतालों के लिए आदेश जारी 
सिविल सर्जन ने बताया कि सदर अस्पताल सहित जिले भर के सभी अस्पतालों को इस आशय का पत्र जारी किया गया है कि किसी भी हालत में मरीजों से पैसे की डिमांड नहीं करना है. उन्होंने कहा कि नजराना मांगे जाने के मामलों में कुछ और लोगों को चिन्हित किया गया है. उनपर भी कार्रवाई की गाज गिर सकती है. उन्होंने आम लोगों से भी अपील की है कि किसी भी तरह की शिकायत उनके मोबाइल नंबर 9470003163 पर कर सकते हैं.
रिपोर्ट- बक्सर से ऋतुराज
क्या था पूरा मामला