जे एन यू से जापान तक जन्माष्टमी की रही धूम

जब जे एन यू पहली बार हरिनाम पर झूम उठा

राजधानी दिल्ली का प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय जे एन यू हमेशा से सुर्ख़ियों में रहता आया है. इस बार चर्चा का केंद्र रहा पहली बार जे एन यू कैंपस में जन्माष्टमी का भव्य आयोजन. जन्माष्टमी के मौके पर अंतर्राष्ट्रीय कृष्ण भावनामृत संघ (इस्कॉन) के सदस्यों ने कैंपस में हरिनाम संकीर्तन का आयोजन किया और अरावली की गोद में बसे हरे-भरे कैंपस में छात्र ‘हरे राम,हरे कृष्ण’ की धुन पर झूम उठे.




इस कार्यक्रम में कैंपस में स्थित विभिन्न होस्टलों के लगभग 800 छात्र-छात्राओं ने भाग लिया और यूनिवर्सिटी के कई प्रोफेसरों को ‘भगवद्गीता यथारूप’ की प्रति भी भेंट की गई. इस्कॉन के स्थानीय केंद्र की तरफ से अरविन्दाक्ष माधव दास, पादसेवन भक्त दास, सरोज मुख श्याम दास, अरिंदम दास और अविनाश दास प्रमुख थे.

ज्ञात हो की जे एन यू को छात्र राजनीति में ‘लाल किला’ यानी वामपंथ का गढ़ माना जाता है और बीते दिनों से अन्यान्य कारणों और अपने आंदोलनों को लेकर जे एन यू समाचारों की सुर्ख़ियों में छाया हुआ था पर जन्माष्टमी के भव्य आयोजन में सभी छात्र संगठनों ने शिरकत की और कार्यक्रम को यादगार बनाया.

जापान के छोटे से शहर फुकुओका में कुछ यूँ मनी जन्माष्टमी 

हमारे ब्यूरो को विदेशों से भी श्री कृष्ण जन्माष्टमी मनाए जाने के समाचार अभी तक मिल रहे हैं. जापान के फुकुओका शहर में भी वहाँ रहने वाले भारतीय छात्रों और भारतीय समुदाय के लोगों ने जन्माष्टमी का आयोजन परम्परागत तरीके से किया और सभी को प्रसाद बांटे.