ईशान लिटिल जीनियस स्कूल में खसरा एवं रुबैला टीकाकरण अभियान

पटना 29 जनवरी (राजेश तिवारी की रिपोर्ट) | स्वास्थ्य विभाग और राज्य स्वास्थ्य समिति की ओर से प्रदेश के सभी जिलों में खसरा और रुबैला टीकाकरण अभियान 15 जनवरी से शुरु किया गया है. यह टीका 09 माह से 15 वर्ष तक के सभी बच्चों को लगाया जा रहा है. इसी के तहत राजधानी पटना के विभिन्न सरकारी और निजी विद्यालयों में वहां पंजीकृत 15 साल तक की उम्र तक के बच्चों को भी टीका लगाया जा रहा है.मंगलवार को ईशान लिटिल जीनियस स्कूल में करीबन चार सौ बच्चों के बीच टीकाकरण अभियान चलाया गया. प्राचार्य डॉ. किरण सिन्हा ने सरकार के इस पहल की सराहना करते हुए कहा कि इससे बच्चों के शारीरिक और मानसिक विकास में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि एक स्वस्थ बच्चा ही कल एक स्वस्थ नौजवान बनकर देश के विकास में अपना योगदान दे सकता है. टीकाकरण के दौरान चिकित्सक डॉ. एन के तिवारी. ने बच्चों और अभिभावकों को जागरूक भी किया। उन्होंने कहा कि खसरा एक जानलेवा रोग है जो खांसने और छींकने से एक बीमार बच्चे से दूसरे बच्चे में फैलता है. यह बच्चों में गंभीर कुपोषण, दस्त, निमोनिया और दिमागी बुखार भी कर सकता है. बीमार बच्चे में बुखार, शरीर पर लाल दाने, नाक बहना, आंख आना आदि लक्षण से इसकी पहचान होती है. जबकि गर्भवती स्त्री में रुबैला संक्रमण से अजन्मे बच्चे में जन्मदोष जैसे अंधापन बहरापन मंदबुद्धि और दिल में सुराख जैसी गंभीर बीमारी हो सकती है. यह अभियान पांच सप्ताह तक चरणबद्ध तरीके से पूरे राज्य में एक साथ चलाया जा रहा है. इस अभियान के तहत देश के विभिन्न राज्यों में अबतक लगभग 12 करोड़ बच्चों को टीका लगाया जा चुका है.