आजादी के 70 सालों बाद दियारा हुआ रौशन

फुलवारी शरीफ / दानापुर । पटना के दानापुर दियारा में लालटेन युग का अंत हुआ और LED युग की शुरुआत हुई। आजादी के 70 वर्षों बाद दानापुर दियारा क्षेत्र के 46 गाँवो में बिजली पहुँची है।
शनिवार को केन्द्रीय ग्रामीण विकास राज्य मंत्री राम कृपाल यादव, विधायक आशा सिन्हा ने शंकरपुर में 70 वर्षीय महिला लालपतिया देवी और चंद्रावती देवी से ट्रांसफार्मर का हैंडल उठवा कर बिजली को चालू किया। शनिवारको  दियारा के 15 राजस्व गांवों में ट्रांसफार्मर को चालू किया गया। इसके पूर्व केन्द्रीय मंत्री ने मानस, काफरपुर, जाफरपुर, केदलपुरा, पतलापुर, कासिमचक, हरशामचक सहित कई गाँवो का दौरा कर विद्युतीकरण के कार्य प्रगति का जायजा लिया।
शंकरपुर में सभा को संबोधित करते हुए केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना से 503 करोड़ की लागत से पटना ज़िला में विद्युतीकरण का कार्य हो रहा है। उनके अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि मई 2018 तक देश के सभी गाँवो में बिजली पहुँच जायेगी। उसी दिशा में 31 जनवरी तक दियारा के सभी घरों तक बिजली पहुँच जायेगी। इसके लिये गंगहारा और पानापुर में फीडर बनाया गया है। 4500 सौ विद्युत् पोल गाड़े गए हैं। 46 किमी 11 हजार केवी का लाइन दौड़ाया गया है। 70 साल के बाद दियारा में बिजली आने के बाद लोगों के चेहरे पर खुशी साफ झलक रही है। अब छात्र और छात्राएं लालटेन की रौशनी में नहीं बल्कि LED बल्ब के लाइट में पढ़ेगी। 
विधायिका आशा सिन्हा ने कहा कि दियारा के विकास के लिए केंद्र और राज्य सरकार कृत संकल्पित हैं।
मौके पर दानापुर प्रमुख सुनील यादव, पूर्व प्रमुख सी पी सिंह, भाई सनोज, अजित यादव, सुबोध यादव, रणजीत यादव, सतीश पासवान, त्रिलोकी सिंह, भोला सिंह मुखिया, भुनेशश्वर सिंह, शंकर सिंह, गुड्डू सिंह, उदय सिंह कई नेता और कार्यकर्ता साथ थे।
(पटना नाउ के लिए अजीत कुमार की रिपोर्ट)

Related Post