64वीं पीटी का रिवाइज्ड रिजल्ट के लिये जबरदस्त धरना प्रदर्शन

पटना (राजेश तिवारी) | बिहार लोक सेवा आयोग में वर्ष 2018 की पीटी में आए प्रश्नों के गलत आंसर और परीक्षा परिणाम में दूसरी विसंगतियों से नाराज बिहार और उत्तर प्रदेश के डेढ़ सौ से अधिक अभ्यर्थियों ने पटना बीपीएससी कार्यालय के सामने हंगामा किया.

परीक्षा 16 दिसंबर 2018 को हुई थी. इसमें दो लाख 95 हजार 4 सौ 44 परीक्षार्थी शामिल हुए थे. 19 हजार 109 सफल हुए हैं. मुख्य परीक्षा जुलाई में होगी. इसमें सामान्य के 9320, एससी के 2689, एसटी 131, अत्यंत पिछड़ा वर्ग के 3357, पिछड़ा वर्ग के 2138, पिछड़ा महिला 573, विकलांग 570 और स्वतंत्रता सेनानी के 280 रिश्तेदार सफल घोषित किए गए हैं. सामान्य वर्ग पुरुष का कटऑफ 97, महिला का 86, एससी पुरुष का 85, एससी महिला का 69, एसटी पुरुष का 89 व महिला 80, अत्यंत पिछड़ा वर्ग पुरुष का 90, महिला का 76, पिछड़ा वर्ग पुरुष का 93 व महिला में 82 रहा. पूरे राज्य में 808 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे. कुल रिक्तियां 1465 हैं.वहीं, प्रदर्शन कर रहे छात्रों का कहना था कि  अगर सरकार उनके मांगों को नहीं मानती तो वे लोग हो रहे लोकसभा के चुनावों में नोटा का इस्तेमाल करेंगे, साथ ही घर घर जाकर पक्ष और विपक्ष का विरोध भी करेगे.