देश में प्रति वर्ष हजारों बच्चे कैंसर ग्रस्त हो रहे – डा. अमिता महाजन 

तेरह सौ बच्चे प्रत्येक वर्ष कैंसर से ग्रसित हो रहे हैं बिहार में

33 प्रतिशत  ब्लड कैसर एवं 20 प्रतिशत बच्चे ब्रेन ट्यूमर के शिकार




 

बच्चों में होने वाले कैंसर का मुख्य कारण अशिक्षा है.देश में प्रति वर्ष पचास हजार बच्चे कैंसर की चपेट में आ रहे हैं जबकि बिहार में अशिक्षा एवं जागरूकता के आभाव में अट्ठारह वर्ष के उम्र के तेरह सौ बच्चे प्रत्येक वर्ष कैंसर से ग्रसित हो जाते हैं.देश में अस्सी प्रतिशत बच्चों का उचित समय पर इलाज आभाव में काल के गाल में समा जाते हैं.वहीँ 33 प्रतिशत ब्लड कैसर एवं 20 प्रतिशत बच्चे ब्रेन ट्यूमर एवं शेष बच्चे किडनी व अन्य प्रकार के कैंसर से प्रभावित हो जाते हैं. इसका मुख्य कारण पर्यावरण में कीटनाशक सहित कई ऐसे तत्व हैं जो कैंसर का कारक बनते हैं.बिहार में लगभग डेढ़ वर्षो से कैंसर पीड़ित बच्चों को मुफ्त कैंसर का  इलाज कर रही दिल्ली के अपोलो अस्पताल की प्रख्यात शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ अमिता महाजन ने उक्त जानकारी बुधवार को महावीर कैंसर संस्थान में बतायी. सबसे रोचक पहलु यह है की डॉ महाजन और उनकी टीम कैंसर ग्रस्त बच्चो को इलाज के साथ शिक्षित भी करती हैं. डॉ अमिता महाजन ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तारीफ करते हुए कहा की सीएम फंड से साठ से अस्सी हजार रुपया और प्रधानमंत्री राहत कोष से तीन लाख रूपये तक का कैंसर के इलाज के लिए व्यवस्था है. बुधवार को महावीर कैंसर संसथान में कई कैंसर पीड़ित बच्चों को पढ़ाई के साथ उनका इलाज किया गया.

unnamed-1

दिल्ली के अपोलो होस्पिटल से आयी शिशु कैंसर रोग विशेषज्ञ डॉ अमिता महाजन कहा की इन बच्चों में होने वाले कैंसर पूरी तरह से ठीक हो सकती है बशर्ते की अविभावक सही समय पर उसका सही इलाज कराएं.उन्होंने इसके लिए कई उदहारण भी पेश किये. डॉ महाजन हर माह अपनी पूरी टीम के साथ महावीर कैंसर संस्थान आकर कैंसर पीड़ित बच्चों का मुफ्त इलाज करती हैं. इस अभियान में अब तक हजारों बच्चों का सफल इलाज भी किया जा चूका है.उन्होंने कहा की कैंसर रोग में खून की काफी कमी हो जाती है और इसकी क्षतिपूर्ति के लिए कई संस्थानों से सम्पर्क स्थापित कर रक्तदान के लिए एक सूत्र बनाया गया है.