CM अखिलेश और रामगोपाल 6 साल के लिए सपा से बर्खास्त

राष्ट्रीय अध्यक्ष के समानांतर सूची जारी करना घोर अनुशासनहीनता

सपा सुप्रीमों ने आज कड़ा फैसला लेते हुए सीएम अखिलेश यादव और रामगोपाल को 6 साल के लिए पार्टी से बर्खास्त कर दिया है इस घटना के बाद समाजवादी पार्टी दो भाग में बंट गई है. यूपी का सत्ता संग्राम अब अपने चरम पर है .समाजवादी पार्टी में मचे घमासान के बीच शुक्रवार शाम को पार्टी प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और राष्ट्रीय महासचिव रामगोपाल यादव को 6 साल के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया है.




पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव की ओर से अखिलेश यादव को भेजे गए पत्र में लिखा गया है, “आपने विधानसभा 2017 के प्रत्याशियों की सूची जारी की है. जबकि आपसे पहले राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने प्रेस वार्ता के ज़रिए सूची जारी की थी. आपके द्वारा राष्ट्रीय अध्यक्ष के समानांतर सूची जारी करना घोर अनुशासनहीनता है. अत: क्यों न आपके विरुद्ध अनुशासनिक कार्यवाही की जाए?”उन्होंने कहा कि रामगोपाल ने पार्टी को कमज़ोर करने का काम किया है और ये पार्टी विरोधी गतिविधि है.शुक्रवार को ही एक कार्यक्रम में रामगोपाल ने कहा कि वो अखिलेश यादव की सूची को मान्यता देते हैं और उन उम्मीदवारों के लिए प्रचार करेंगे जिनके नाम इस सूची में हैं. और इस तरह के नोटिस जारी होते रहते हैं.