पहले भैया-भाभी को पीटा, फिर भतीजी के साथ किया ये काम

धौंस दिखा जमीन हड़पने के लिए जबरन हस्ताक्षर कराने में असफल भाई ने की अपने ही बड़े भाई की कर दी धुनाई

नगर थाने में शिकायत दर्ज




आरा, 1 अप्रैल. जमीन की लड़ाई में छोटे भाई द्वारा अपने बड़े भाई को अपने पद का रौब दिखाते हुए उसे पीटने का मामला सामने आया है. इतना ही नही रिश्तों की बाट लगा छोटे भाई ने अपनी बेटी तुल्य भतीजी और भाभी को भी नही छोड़ा और बदतमीजी की. मामला
नगर थाना के चौक बड़ी मस्जिद इलाके की है.

30 मार्च शुक्रवार को सुबह करीब 10 बजे नगर थाना के चौक बड़ी मस्जिद के नीचे निवासी स्व. शिवनारायण प्रसाद के दो बेटों अशोक कुमार और किशोर कुमार में जमीन को लेकर विवाद हो गया. छोटे भाई किशोर कुमार ने जमीन हड़पने के नियत से कागज पर जबरन हस्ताक्षर करने का दबाव अपने बड़े भाई अशोक पर बढ़ाने लगा. इसपर अशोक कुमार ने हस्ताक्षर करने से इंकार किया. बस फिर क्या था छोटे भाई किशोर कुमार, उसका बेटा राजेश कुमार उर्फ छट्ठु,राकेश कुमार उर्फ राजा, रूपेश कुमार उर्फ जितु व पत्नी शारदा देवी ने लाठी डंडे और घातक हथियार से मारना पीटना शुरू कर दिया. जिससे अशोक कुमार बुरी तरह घायल हो गए. इतने में आशोक कुमार की पत्नी संयुक्ता देवी व बेटी पूजा कुमारी अशोक को बचाने आई तो उन्हे भी बुरी तरह पीटा गया और उनका कपड़ा फाड़ बदसलुकी किया गया. साथ ही गले से सोने की चैन भी छिन लिया गया.

घटना के बाद बुरी तरह घायल अशोक कुमार व संयुक्ता देवी को आरा सदर अस्पताल में भर्ती किया गया. मामले में पीडित ने नगर थाना में शिकायत दर्ज करा न्याय व सुरक्षा की माँग की है.
बता दे कि आरोपी किशोर कुमार आरा व्यवहार न्यायालय में जिला जज के यहाँ स्टोनों के पद पर कार्यरत है. इससे पहले भी उसने भुक्तभोगी परिवार को मारता पीटता रहा हैं. उसने अशोक कुमार के जमीन पर जाने हेतु रास्ते पर ताला लगा दिया हैं और अपने कब्जे में रखा है. किशोर अपने पद का दुरूपयोग करते हुए अपने बड़े भाई की जमीन व संपति हड़पने की नियत से तरह-तरह के केस में फसाने का धमकी के साथ अनावश्यक कागजों पर हस्ताक्षर करने का दबाव देता हैं. पीडित परिवार ने उचित न्याय हेतु शहर के समाजिक व बुद्धिजीवियों से भी उचित न्याय की माँग की हैं.

आरा से ओ पी पांडेय की रिपोर्ट