कैंडल मार्च के साथ पत्रकारों की दी गई श्रद्धांजलि

परिजनों से मिलने का सिलसिला जारी
50 लाख का मुआवजा और सरकारी नौकरी की मांग

आरा,28 मार्च. अपने साथी की हत्या से जिले के पत्रकारों में पूरी तरह उबाल आ गया है. घटना के खिलाफ आक्रोशित पत्रकार सोमवार की रात सड़क पर उतर गये. कहीं आक्रोश निकाला गया, तो कहीं आंदोलन की रणनीति तैयार की गयी. वहीं जिले भर में श्रद्धांजलि सभा भी आयोजित की गयी.




वही बक्सर के पत्रकार संघ ने भी दिवंगत भोजपुर के दोनों पत्रकारों के लिए शोक सभा आयोजित किया जहां कैंडल जला कर उन्हें श्रद्धांजलि दी गयी.

सोमवार की शाम जज कोठी मोड़ से पत्रकारों ने एक आक्रोश मार्च निकाला. जज कोठी से निकला यह मार्च जे.पी. प्रतिमा तक गयी, जहां सभा की गयी. सभा को सम्बोधित करते हुए पत्रकारों ने आरोपितों की गिरफ्तारी व कड़ी सजा दिलाने की मांग की. पत्रकारों की सुरक्षा मुहैया करने की भी पत्रकारों ने आवाज उठी. इस दौरान नारेबाजी भी की गयी. नवीन के इंसाफ के लिये आक्रोशित पत्रकार आवाज़ उठाते रहे. इस अवसर पर रजनीश त्रिपाठी, राकेश सिंह, संतोष सिंह, नरेन्द्र सिंह, डाॅ. कृष्ण कुमार, प्रशांत कुमार, देवराज ओझा, पुष्कर पाण्डेय, संजीत उपाध्याय, योगेश्वर प्रसाद, चंदन मिश्रा, अमरेन्द्र कुमार, अटल पांडेय, संजय कुमार, दीना मिश्रा, समीर अख्तर, सोनू कुमार, रविंद्र सिंह, विक्रांत राय, कुमार द्विजेंद्र, रितेश चौरसिया, रविंद्र कुमार सिंह, प्रियरंजन मिश्रा, शमशाद प्रेम, रोहित सिंह, जितेंद्र कुमार अमरेंद्र कुमार, गौतम कुमार, राजीव मिश्रा, संजय राय, मोनू सिंह, विजय पाठक, सहित अन्य पत्रकार थे.

इससे पहले रविवार की रात भी हत्या के खिलाफ पत्रकारों ने गोलबंदी शुरू कर दी. रात करीब ग्यारह बजे स्टेशन परिसर में पत्रकारों की बैठक हुई. उसमें आंदोलन की रणनीति तैयार की गयी. कहा गया कि आरोपितों की शीघ्र गिरफ्तारी नहीं हुई, तो जोरदार आंदोलन किया जायेगा.

यूनियन ने की मुआवजे की मांग एवं मानव श्रृंखला बनाकर दी गई श्रद्धांजलि, प्रखंडों में भी आयोजित हुई शोक सभा

इधर, बिहार श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के बैनर तले एक शिष्टमंडल डीएम व एसपी से मिला. शिष्टमंडल ने दोनों अफसरों को ज्ञापन सौंपकर आरोपितों को गिरफ्तार करने, दोनों मृतक के आश्रितों को सरकार दोनों मृतक के आश्रितों को सरकारी नौकरी, दस-दस लाख रुपये मुआवजा व मामले की उच्चस्तरीय जांच कराने की मांग की. शिष्टमंडल में नरेंद्र सिंह, अमरेश सिंह व कमलेश पांडेय थे. इधर, सभी प्रखंडों में भी पत्रकारों द्वारा श्रद्धांजलि सभा आयोजित की गयी.

वही दूसरी ओर राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों ने भी पीड़ित परिवार से मुलाकात किया और परिवार के लिए 50 लाख का मुआवजा और सरकारी नौकरी की मांग की. मिलने वालों में पूर्व सांसद मीना देवी और रालोसपा के अध्यक्ष शामिल थे. परिवार से वैसे तो घटना की रात ही जिला मुख्यालय से आकर पत्रकारों ने परिवार से मिल सांत्वना दिया था लेकिन आईरा के एक शिष्टमंडल ने भी अध्यक्ष सुमन मिश्रा के साथ मुलाकात की और उक्त मुआवजे सहित सरकारी नौकरी की ही मांग की. उन्होंने घटना के बाद भोजपुर के किसी अधिकारी द्वारा परिवार से मुलाकात नही करने पर आक्रोश ब्यक्त करते हुए कहा कि प्रशासन की असवेदनशील रवैया बताता है कि अपराधियों का मनोबल इनकी सुस्ती से किस कदर बढ़ा हुआ है.

जगदीशपुर में भी उठी मुआवजे की मांग
जगदीशपुर पत्रकार संघ गड़हनी के दैनिक भास्कर के पत्रकार नवीन निश्चल की हत्या पर  काफी आक्रोश में है. जगदीशपुर अनुमंडल पत्रकार संघ ने एक बैठक कर घटना की निंदा करते हुए दोषी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई एवं दिवंगत पत्रकार के परिवार को 50 लाख रुपये मुआवजा और मृतक की पत्नी को सरकारी नौकरी देने की मांग राज्य सरकार से की. बैठक में सभी पत्रकारों को सुरक्षा देने की मांग भी की गई. इस बैठक मे दैनिक जागरण के पत्रकार कुंवर संजीत सिंह ,हिंदुस्तान अखबार के टप्पू गुप्ता ,प्रभात खबर के विजय मिश्रा ,दैनिक भास्कर के विनोद कुमार सिंह ,संजीव गुप्ता, ईटीवी के राजकुमार वर्मा, राष्ट्रीय सहारा के नासिर अंसारी ,खबरें आपकी ब्यूरो चीफ दिलीप ओझा,रवि, कौशल मिश्रा ,कुंवर अजय सिंह, प्रभात खबर के शैलेन्द्र गुप्ता, मिथलेश्वर सिन्हा, कशीश न्यूज़ के बबलु सिंह, आज के अशोक कुशवाहा सहित उपस्थित अन्य पत्रकारो ने हत्या की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि पत्रकारो पर बढ़ती घटनाएं चिंता का विषय है जो सीधे लोकतंत्र की हत्या है.

चौथे स्तंभ पर हमला करने वालो का हो स्पीडी ट्रायल
पत्रकारो ने दोषियो पर स्पीडी ट्रायल चलाकर फांसी की सजा देने की मांग की है बैठक के बाद एक शोक सभा का आयोजन किया गया जिसमे दिवंगत पत्रकार के आत्मा के शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की गई. पत्रकार संघ का दिवंगत पत्रकार की हत्या मे शामिल हत्यारो को शीघ्र सजा परिजनो को मुआवजा,सरकारी नौकरी एवं पत्रकारो की सुरक्षा देने की जैसी मांगो को लेकर एक ज्ञापन मंगलवार को एक शिष्टमंडल ने जगदीशपुर SDM एवं SSP के माध्यम से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को सौपा.
पत्रकार नवीन सिंह और विजय सिंह के याद में कैंडल मार्च  निकल कर दिया गया श्रद्धांजलि

कैंडल मार्च से दी गयी श्रद्धांजलि


छात्र जद यू ने मंगलवार को गड़हनी के दिवंगत पत्रकारों को कैंडल मार्च निकाल श्रद्धांजलि दी. यह  मार्च गड़हनी स्टेशन से नया बाजार होते हुय घटना स्थल नहसी तक संपन्न हुआ.  बताते चलें कि 25 मार्च को गड़हनी पूर्व मुखिया द्वारा अपने गाड़ी से कुचल कर दो पत्रकारों को मार दिया गया था. मारे गए दोनो पत्रकार नवीन सिंह और विजय सिंह को घटना स्थल पर कैंडल जला कर उनको श्रद्धांजलि अर्पित किया गया तथा उनकी आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना किया गया. जदयू छात्र नेता चीकू सिंह की नेतृत्व में इस सभा का आयोजन किया गया. साथ मे हरिशंकर सिंह, गुड़ु सिंह, हरीश सिंह, दीपक, चन्दन, टुनटुन केशरी, कमलेश जी,  नीरज , पम्मु , चन्दन, अन्तराज कुमार, राहुल, पिंटू सहित सैकड़ों की संख्या में लोग शामिल थे.

आरा से ओ पी पांडेय एवं सत्य प्रकाश सिंह की रिपोर्ट