68 स्कूल/कॉलेजों की मान्यता रद्द

19 अन्य स्कूल/कॉलेजों की मान्यता निलंबित

इंटर परीक्षा के लिए ऑनलाइन आवदेन 25 अक्टूबर से 3 नवंबर तक




मैट्रिक के लिए भी छूटे हुए विद्यार्थी करा सकेंगे रजिस्ट्रेशन

bseb

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने 68 स्कूल/कॉलेजों की मान्यता रद्द कर दी है. ये सभी संबंद्धता के मानकों को पूरा नहीं कर रहे थे. दरअसल बिहार के बहुचर्चित टॉपर घोटाले के बाद BSEB के अध्यक्ष आनंद किशोर ने पिछले 2 वर्षों में प्रदान किए गए 212 स्कूल/कॉलेजों के संबंद्धता की जांच के आदेश दिेए थे. इनकी जांच जिलास्तरीय टीम ने की, जिसमें 68 ऐसे स्कूल/कॉलेजों की मान्यता रद्द करने का फैसला किया गया जो सम्बद्धता के मानक शर्तों को पूरा नहीं कर रहे थे और जिन्हें विगत दो माह में निलंबित
किया गया था. इसके अलावा 19 अन्य स्कूल/कॉलेजों को सम्बद्धता के मानक को पूरा नहीं करने के कारण निलम्बित करने का फैसला भी BSEB ने किया गया है. बता दें कि एक महीने पहले 9 स्कूल/कॉलेजों की मान्यता रद्द की गई थी जिन्हें BSEB द्वारा सम्बद्धता दी गई थी लेकिन पत्र निर्गत नहीं हुआ था.

बता दें कि बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा पिछले दो वर्षों में दी गई सम्बद्धता की जाँच कराई जा रही है. इस संबंध में 31 जिलों में कुल 212 स्कूल/कॉलेजों का भौतिक और स्थलीय निरीक्षण संबंधित डीएम द्वारा गठित जाँच दल (जिसमें बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के प्रतिनिधि भी
शामिल हैं) द्वारा संबद्धता के 18 मानक शर्तों पर किया जा रहा है. निलंबित किए गए अधिकांश संस्थानों में मानक के अनुसार भवन, शिक्षक, शिक्षकेत्तर कर्मचारी इत्यादि में कई प्रकार की कमियाँ पाई गई हैं और अधिकांश संस्थाओं में पुस्तकालय, प्रयोगशाला, खेल का मैदान, खेलकूद उपकरण, अग्निशामक सामग्री, प्रशासनिक कक्ष इत्यादि को मानक के अनुरूप नहीं पाया गया.

मान्यता रद्द स्कूल/कॉलेजों के विद्यार्थियों को नहीं होगी परेशानी

BSEB ने इस तमाम जांच प्रक्रिया और मान्यता संबंधी फैसले के दौरान इन स्कूल/कॉलेजों के विद्यार्थियों का भी पूरा ध्यान रखा है ताकि उन्हें परीक्षा में शामिल होने में कोई परेशानी ना हो. जिन स्कूल/कॉलेजों की मान्यता रद्द की गई है या निलंबित की गई है, वहां दाखिला लिए हुए छात्र/छात्राओं को विशेष परिस्थिति के तहत उसी जिले के नजदीकी स्कूल/कॉलेज में नामांकन कराने की व्यवस्था BSEB करेगा.

महत्वपूर्ण डेट्स और दिशानिर्देश

  • वर्ष 2017 की 12वीं की परीक्षा के लिए 11वीं कक्षा के रिजल्ट के आधार पर परीक्षार्थियों का रजिस्ट्रेशन 25.10.2016 से 3.11.2016 के बीच होगा जो ऑनलाइन होगा.
  • 12वीं की वार्षिक परीक्षा में बैठने के लिए प्राइवेट छात्र भी अपना निबंधन इस दौरान कर सकते हैं.
  • इस वर्ष 9वीं कक्षा के विद्यार्थियों का निबंधन कुछ माह पहले, अगले वर्ष आयोजित हो रहे मैट्रिक की वार्षिक परीक्षा में बैठने हेतु कराया गया था, जिसके बाद कुछ स्कूलों द्वारा BSEB को पिछले निबंधन में कुछ छात्र/छात्राओं के छूट जाने के कारण फिर से निबंधन हेतु आग्रह किया गया था. इसलिए ऐसे विद्यार्थियों को भी एक मौका देते हुए 25 अक्टूबर से 03 नवम्बर तक आॅनलाइन निबंधन कराया जाएगा.
  • अब तक इन्टर में कम्पार्टमेंटल परीक्षा की कोई व्यवस्था नहीं थी, इस वर्ष इंटर कम्पार्टमेंटल की परीक्षा पहली बार कराई जा रही है.

अगले साल मैट्रिक-इंटर की परीक्षा में बनेगा नया रिकॉर्ड

# वर्ष 2016 में आयोजित मैट्रिक की वार्षिक परीक्षा में लगभग 16 लाख परीक्षार्थियों ने भाग लिया था. जबकि वर्ष 2016 में आयोजित इन्टर की वार्षिक परीक्षा में लगभग 11.53 लाख परीक्षार्थियों ने भाग लिया था.

# बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा 2016 में काफी संख्या में अनुत्तीर्ण छात्र/छात्राओं की
संख्या के मद्देनजर अनुमान है कि अगले वर्ष 2017 में आयोजित होने वाली मैट्रिक की
वार्षिक परीक्षा में लगभग 22-24 लाख परीक्षार्थी जबकि इन्टर में 16-18 लाख परीक्षार्थी शामिल होंगे.

BSEB Chairman Anand Kishorमैट्रिक और इन्टर की वर्ष 2016 में आयोजित होने वाली कम्पार्टमेंटल परीक्षा में भाग लेने के लिए पहली बार आॅनलाइन प्रक्रिया अपनाई जा रही है. मैट्रिक में कम्पार्टमेंटल की परीक्षा के लिए अब तक 61 हजार से भी अधिक परीक्षार्थियों ने फार्म भरा है. इसी प्रकार इन्टर की
कम्पार्टमेंटल परीक्षा के लिए अब तक 28 हजार से भी अधिक परीक्षार्थियों ने आवेदन किया है. आॅनलाइन फार्म भरने के कारण समिति के स्तर से अभी तक होने वाली त्रुटियों यथा परीक्षार्थियों के नाम, उनके अभिभावकों के नाम, जन्म तिथि में होने वाले त्रुटियों पर पूर्णविराम लग जायगा.- आनन्द किशोर, अध्यक्ष, BSEB