असंगठित कामगारों के बेहतरी के लिए कांग्रेस पार्टी बेहद गम्भीर – वीरेंद्र सिंह राठौर

पटना (ब्यूरो) | रविवार को प्रदेश कांग्रेस कार्यालय सदाक़त आश्रम में बिहार प्रदेश असंगठित कामगार कांग्रेस के राज्य कार्यकारिणी एवं ज़िला अध्यक्षों की बैठक सम्पन्न हुई. इस कार्यक्रम में अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के सचिव व बिहार प्रभारी वीरेंद्र सिंह राठौर एवं प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष डाo मदन मोहन झा के साथ असंगठित कामगार कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष अरबिंद सिंह, संगठन के मध्य भारत प्रभारी डा. अजय उपाध्याय, असंगठित कामगार कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राजेश गुरनानी उपस्थित रहें.

बैठक के मुख्य अतिथि वीरेंद्र सिंह राठौर ने कहा कि असंगठित कामगारों के बेहतरी के लिए कांग्रेस पार्टी बेहद गम्भीर है. उन्होंने कहा कि संगठन का मुख्य उद्देश्य असंगठित कामगारों तक केन्द्र सरकार के श्रम क़ानूनों में हो रहे बदलाव की सूचनाएँ पहुँचाना और कामगारों के बेहतरी के लिए काम करना है. वर्तमान सरकार में असंगठित क्षेत्र के कामगारों द्वारा जो कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है, उससे किस प्रकार निबटा जाएँ, इस पर संगठन को विशेष ज़ोर देना होगा.




बैठक को सम्बोधित करते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डा मदन मोहन झा ने कहा कि बिहार में असंगठित कामगारों की स्थिति बेहद दयनीय होने का कारण राज्य सरकार की ग़लत नीतियाँ हैं. ग़रीब विरोधी नीतीश-भाजपा सरकार मज़दूरों की बात करना तो दूर उनके मुँह से निवाला छिनने को आतुर हैं. इसबार के चुनाव में आम ग़रीब मज़दूर वर्ग इन्हें ज़रूर सबक़ सिखाएगी.
वही असंगठित कामगार कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष अरबिंद सिंह ने राज्य में वेण्डिंग एक्ट २०१४ के पूर्णतः अनुपालन, वेण्डिंग ज़ोन बनाने और फुटफाथी दुकानदारों के लिए मार्केटिंग समितियाँ बनाने में संगठन की भूमिका पर विस्तार से चर्चा की.

राष्ट्रीय प्रवक्ता सह असंगठित कामगार कांग्रेस के बिहार प्रभारी डा. अजय उपाध्याय ने मज़दूरों की दयनीय स्थिति पर कहा कि असंगठित कामगार मज़दूरों की संख्या पूरे देश में सर्वाधिक है, लेकिन उनके हक़ की आवाज़ उठाने वाला कोई नहीं है. इसको महसूस करते हुए कांग्रेस पार्टी ने इस संगठन की नींव रखी और असंगठित कामगारों के हक़ एवं हूकूक की लड़ाई लड़ने का काम किया. उन्होंने संगठन के द्वारा असंगठित कामगारों की लड़ाई को दिए गये मज़बूती की चर्चा करते हुए बताया कि कांग्रेस पार्टी ने संगठन के माध्यम से असंगठित क्षेत्र के कामगारों को संगठित करने का प्रयास किया है.
कार्यक्रम का संचालन बिहार प्रदेश असंगठित कामगार कांग्रेस के अध्यक्ष राजेश गुरनानी ने किया. उन्होंने संगठन के एक वर्ष के कार्यों पर विस्तार से चर्चा करते हुए उसकी समीक्षा की. संगठन के मजबूती एवं प्रभावी रूप से क्रियान्वयन पर ज़ोर देते हुए विभिन्न उपलब्धियों की चर्चा की.
अंत में राज्यभर से आए हुए पदाधिकारियों ने आगामी 02 अक्टूबर-09 अक्टूबर 2019 को प्रस्तावित राष्ट्रीय एवं प्रांतीय गांधी जयंती समारोह में संगठन के भूमिका एवं सहभागिता पर विस्तार से चर्चा की.
कार्यक्रम को आनंद माधव, शशि कुमार सिंह, राकेश त्रिपाठी, बिहारी सिंह, स्नेहाशीष वर्धन आदि प्रमुख नेताओं ने सम्बोधित किया. इस दौरान मुख्य रूप से सुनील तिवारी, असेश्वर राय, मोo मुस्तफा, राजीव कुमार, मनीष सिन्हा, मनोज पाण्डे, विवेक, ब्रजेश पांडेय, सुधा मिश्रा आदि के साथ संगठन के सभी प्रदेश पदाधिकारी एवं जिलाध्यक्ष उपस्थित रहें.