ब्लैक संडे, अब तक 20 से ज्यादा की मौत

बिहार में आज रविवार का दिन सिर्फ बड़े हादसों का गवाह बन गया. समस्तीपुर में नाव हादसे में 3 की मौत, सीवान-गोपालगंज के 6 लोगों की कार में जलकर मौत, पटना के फतुहा में 9 लोगों की डूबने से मौत, सासाराम में सड़क हादसे में 2 की मौत के अलावा पटना में NH30 पर 1 की मौत से इन जगहों पर कोहराम मचा है.


सबसे बड़ा हादसा पटना में हुआ जहां एक दर्दनाक हादसे में नौ लोगों की मौत हो गई. पटना सिटी के फतुहा से सटे मस्ताना घाट पर नहाने के दौरान एक-दूसरे को बचाने के क्रम में 11 लोग गंगा नदी में डूब गये. इनमें से 9 के शव बरामद हो चुके हैं. इनमें से 8 शव बच्चों के हैं. जबकि 2 की तलाश जारी है. हादसे के शिकार सभी लोग फतुहा के ही मिर्जापुर नोहटा इलाके के रहने वाले हैं और एक ही परिवार के बताये जाते हैं. मौके पर मौजूद लोगों के मुताबिक 12 लोग मस्ताना घाट से नदी के उस पर, जो वैशाली का रुस्तमपुर इलाके में आता है, अपनी मन्नत पूरी करने गए थे. इनमें से ज्यादातर बच्चे थे. इसी दौरान बच्चे नदी की तेज धार की चपेट में आकर बह गए.




मृतकों में शंकर यादव की पत्नी 40 वर्षीय रंजू देवी, पुत्री छोटी कुमारी, बिहारी यादव के दो पुत्र गौतम कुमार,गौरव कुमार, रामबली यादव की पुत्री कजली कुमारी, अरुण कुमार की पुत्री आरती कुमारी, भोला यादव का पुत्र साहिल कुमार शामिल हैं. स्थानीय लोगों ने बताया कि नहाने के दौरान जब एक बच्चा डूबने लगा तो उसे बचाने की कोशिश में बारी-बारी से ये सभी डूब गए. बता दें कि जिला प्रशासन ने हाल ही में इसे खतरनाक घाट घोषित किया था.

इधर समस्तीपुर के शिवाजी नगर में एक नाव बागमती नदी में पलट गई जिसमें कई लोग सवार थे. स्थानीय लोगों ने 8 लोगों को बचा लिया. जबकि 3 महिलाओं के शव बरामद हुए हैं.

 

पटना सिटी से अरुण