डाटा एंट्री कर्मियों ने दिखाई सरकार के प्रति नाराज़गी

 बिहार राज्य डाटा इन्ट्री आॅपरेटर/कम्प्यूटर आॅपरेटर संघ जिला इकाई, भोजपुर, (आरा) द्वारा अपनी मासिक बैठक जेपी. स्मृति पार्क, रमना मैदान में आयोजित की गई.
बैठक की अध्यक्षता, संघ के अध्यक्ष, निरंजन सिंह, जिला मुख्यालय काॅपरेटिव बैंक द्वारा किया गया. श्री सिंह ने बताया कि सरकार द्वारा बनायी गयी श्री अशोक चैधरी की अध्यक्षता में अनुबंध नियोजित कर्मियों को स्थायीकरण से संबंधित कमिटी द्वारा सरकार को सौंपे गए रिपोर्ट में हमलोगों के संबंध में अनुकूल अनुशंसा समर्पित के बाद भी कैबिनेट द्वारा वापस करते हुए कि कुछ खामियों को दुरुस्त कर के पुनः कैबिनेट में अनुमोदन हेतु आयेगा. ये हमलोगों के साथ यह अत्यंत ही घोर मजाक है. हमलोगों के भविष्य के प्रति सरकार की मंश ठीक नहीं प्रतित हो रही है.  हमलोगों के बदौलत ही आज बिहार अपने विकास की गाथा में नई-नई कीर्तिमान स्थापित कर रहा है. हमलोगों को सरकार द्वारा ठगा जा रहा है.
उपाध्यक्ष, रेणू सिन्हा, शिक्षा विभाग, भोजपुर ने बताया कि हमलोग सरकार के विकास कार्यो में दिन-रात लगें रहते है. कोई भी विभाग/कार्यालय नहीं है जिसमें कम्प्यूटर आॅपरेटर के बिना एक दिन भी कोई काम हो सके. इस महॅगाई में हमलोग कम वेतन के चलते अपने परिवारिक जिम्मेवारियों को एवं घर की जरूरतों को नही पूरा कर पा रहे है. मानसिक एवं आर्थिक रूप से शोषण का शिकार सरकार एवं उच्च पदाधिकारियों द्वारा लगातार किया जारहा है, जो अत्यंत निंदा के पात्र है.
 सचिव, कुमुद रंजन कुमार द्वारा आक्रोशित रूप से सरकार को चेतावनी दी की बिहार भवन, नई दिल्ली से लेकर प्रखंड स्तर तक के कार्यालयों में महत्वपूर्ण गोपनीय एवं निर्धारित समय-सीमा पर कार्य पूर्ण आॅपरेटर द्वारा ही किया जाता है. हमसभी सरकार विकास की गाथा में मील के पत्थर साबित हुए हैं  परन्तु सरकार की सोच हमलोग के प्रति एकदम विपरीत है, आने वाले निकट समय में पूरे बिहार के सभी कम्प्यूटर आॅपरेटर बन्धु अपनी नौकरी स्थायी एवं वेतन बढ़ाने के लिए राज्यस्तरीय संघ के निर्णय के अनुसार चरणबद्व तरीके से हड़ताल कर विभागीय कामों को ठप करने का काम करेंगे. जिसकी पूरी जबाब देही बिहार सरकार की होगी. बैठक में उपस्थित सभी सदस्यों अपनी समस्यों यथा अंचल कार्यालय एवं अन्य कार्यालय में कार्यरत आॅपरेटरों का वेतन 10 माह से नहीं मिलना, ई.पी.एफ. में भारी घोटाला, ई.एस.आई. कार्ड नहीं प्राप्त होना, पदाधिकारियों द्वारा मानसिक शोषण करना इत्यादि को रखा, जिसका बिन्दूवार अनुपालन सचिव कुमुद रंजन कुमार, जिला बैकिंग कार्यालय, भोजपुर द्वारा किया गया।
कोषाध्यक्ष, संजय कुमार द्वारा बताया गया कि जो दक्षता के नाम पर परीक्षा निदेशक, बेल्ट्राॅन द्वारा लेने हेतु फर्म भरवाया जा रहा है, उसकों आपसभी भरे परीक्षा में शामिल होकर लाभ को प्राप्त करें.
वरीय सदस्य, पंकज सिंह, जिला कोषांगार, भोजपुर द्वारा सभी सदस्यों को बैठक में आई.कार्ड के साथ भाग लेने एवं अनुशासनात्मक  बैठक हेतु धन्यवाद देते हुए आज की बैठक की कार्यवाही समाप्त की गयी.
बैठक में भाग लेने वोले निम्न पदाधिकारी/कर्मी वरीय सदस्य अमितेश चंदेल , मृदूल पाण्डेय, दीपू कुमार, खुशबू कुमारी, विजय कुमार, प्रियंका कुमारी, अभिमन्यू, राजेश कुमार, अविनाश, हरि जी, देवेन्द्र कुमार, बन्टी कुमार, मो.समीर, राजेश शर्मा, ब्रहमेश्वर जी, अरबिन्द कुमार, सुनील कुमार,  हरिकेष कुमार, हरिनारायण तिवारी, अजय कुमार, अरबिन्द कुमार, विनोद कुमार, देवेन्द्र शर्मा, अजय कुमार कुश्वाहा इत्यादि.
गड़हनी से मुरली मनोहर जोशी की रिपोर्ट