बिहार में सारे धर्मों के संदेश समाहित

बिहार में सारे धर्मों के संदेश समाहित हैं
सुरेंद्र पाल बिहार टूरिज्म लाइफ टाइम एचीवमेंट पुरस्कार IFBA-2018 से सम्मानित
बहुत घूमे संसार में, एक बार ठहरे बिहार में – पर्यटन मंत्री, बिहार
कुआलालाम्पुर (मलेशिया) | 21 जुलाई को यहाँ आयोजित ‘भोजपुरी फिल्म फेस्टिवल सह महोत्सव 2018‘ में बिहार के पर्यटन मंत्री प्रमोद कुमार शामिल हुए. उनका इस महोत्सव में शामिल होने का उद्देश्य मलेशिया और बिहार की सांस्कृतिक एकता को प्रदर्शित करने एवं राज्य के पर्यटन स्थलों को बढ़ावा देना रहा.
गौरतलब है कि मलेशिया भारत का विश्वसनीय पड़ोसी देशों में से एक है. मलेशिया और भारतीय संस्कृति एक दूसरे से काफी जुड़ाव रखती है. यहां काफी संख्या में भारतीय रहते हैं. भारत से बड़े पैमाने पर मलेशिया में पर्यटन का लुत्फ उठाने के लिए लोग जाते हैं. इस फेस्टिवल सह महोत्सव के माध्यम से बिहार के विभिन्न पर्यटन स्थलों की जानकारी पर्यटकों को मिली.
पर्यटन मंत्री ने इस महोत्सव में भाग लेने वाले लोगों को बिहार में टूरिस्ट सर्किट से जुड़े कई स्थलों के बारे में महत्वपूर्ण जानकारियाँ दी. उन्होंने हिंदुओं के पवित्र तीर्थ स्थल के रुप में मोक्ष की भूमि गया का उल्लेख करते हुए कहा कि विष्णुपद मंदिर का दर्शन करने और पिंडदान करने के लिए लोग दुनिया भर से यहां आते हैं. जैनियों के लिए नालंदा का पावापुरी और लछुआर भगवान महावीर के बारे में बहुत कुछ संदेश देता है. बोधगया भगवान बुद्ध की ज्ञानस्थली है तो मनेरशरीफ, अजमेर शरीफ से भी पुराना सुफियों का प्रमुख केंद्र रहा है. सिक्खों के 10 वें गुरु गुरुगोविंद सिंह जी महाराज की जन्मस्थली पटना साहिब के रुप में काफी प्रसिद्ध है. एक तरह से बिहार सारे धर्मों के संदेशों को समेटे हुए है. यहां लोग आपसी मिल्लत के साथ सभी पर्व एवं त्योहारों को मनाते हैं. उन्होंने लोगों से कहा कि एक बार बिहार आईये -“बहुत घूमे संसार में, एक बार ठहरे बिहार में…
इस मौके पर जाने माने प्रसिद्ध भोजपुरी एवं वॉलीवुड कलाकर सुरेंद्र पाल, जिन्होंने 60 से अधिक फिल्मों में अभिनय किया है, उन्हे बिहार टूरिज्म लाइफ टाइम एचीवमेंट पुरस्कार IFBA-2018 से सम्मानित किया गया. वही स्वच्छता, वृक्षारोपण एवं हरित आवरण को बढ़ावा देने के लिए अनिमेश कुमार परासर (डीएम, गोपालगंज) को बिहार टूरिज्म भोजपुरी गौरव सम्मान पुरस्कार से सम्मानित किया गया. प्रसिद्ध गीतकार डॉ. रंजू सिन्हा को भी बिहार टूरिज्म की तरफ से सम्मानित किया गया.

(ब्यूरो रिपोर्ट)