भारतीय राजनीति का सितारा अस्त

कोइलवर/पटना (आमोद कुमार की रिपोर्ट)| भारतीय राजनीति में अपनी चमक बिखरने वाली विदुषी, अपने ओजस्वी, मृदुभाषी वक्तव्य से सामने वाले को मात देने वाली, भारत की विदेशी नीति को धार देने वाली, देश की पूर्व विदेश मंत्री तथा दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री के पद पर रहते हुए राजनीति में अपने कार्यों की अमिट छाप छोड़ने वाली सुषमा स्वराज का आज तड़के दिल्ली के एम्स अस्पताल में निधन हो गया.
सुषमा स्वराज के निधन का समाचार मिलते ही पूरा देश शोक में डूब गया. ऐसा लगा जैसे देश ने एक अनमोल हीरा खो दिया. वाकई यह दुखद समाचार देश के लिए असहनीय है. उनके मृत्यु की सूचना देश के हर कोने में आग की तरह फैल गई और हर तरफ से शोक-श्रद्धांजलि अर्पित किया जाने लगा.

कोईलवर प्रखंड के सभी प्राथमिक, मध्य, उच्च एवं निजी विद्यालयों में शोक- सभा का आयोजन किया गया जिसमें विद्यालय के छात्र-छात्राओं तथा शिक्षकों ने दो मिनट का मौन रखकर अपने दिवंगत नेत्री को श्रद्धा- सुमन अर्पित किया. कोईलवर प्रखंड के मध्य विद्यालय, काजीचक, महम्मदपुर, पचैना बाजार, नया हरिपुर, कायम नगर, भदवर, धनडीहां, राजापुर,कुल्हड़िया, सकड्डी, गिधा में दिवंगत नेत्री को श्रद्धांजलि अर्पित किया गया जिसमें राजाराम सिंह ‘प्रियदर्शी’, इन्द्रमोहन,रमेश कुमार राम,विष्णु देव,अजय कुमार, राजेश कुमार, राम एकबाल,डा. राजेंद्र प्रसाद, मो.सुधीर सिंह, अरुण कुमार, मोइनुलुल्लाह सहित हजारों छात्र-छात्राएं एवं शिक्षक सम्मिलित हुए.