ऐसे शातिरों से बचकर रहना; कहीं हो न जाये आप एटीएम क्लोनिंग का शिकार

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | पटना पुलिस ने मंगलवार को तीन शातिरों को गिरफ्तार किया किया है जो दूसरों के एटीएम कार्ड की क्लोनिंग कर उनके बैंक खाते से रुपए निकाल लेते थे. तीनों के पास से पुलिस ने चार लाख रुपये नकद, छः मोबाइल, एक लैपटॉप, पंद्रह एटीएम कार्ड, एक लग्जरी कार, सोने की चेन और अंगूठी बरामद की गई है.
पटना के सीनियर एसपी मनु महाराज ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि गिरोह के कुछ लोग अभी फरार हैं. छापेमारी की जा रही है. इस गिरोह का मास्टरमाइंड दीपक कुमार है जो फिलहाल फरार है. क्लोन एटीएम बनाने वाली मशीन दीपक ने अपने पास रखा है. पकड़े गये शातिरों के अनुसार दीपक ही एटीएम का क्लोन बना कर उन लोगों को देता था और उससे वे लोग पैसे की निकासी करते थे. पुलिस मास्टरमाइंड दीपक को पकड़ने के लिए छापेमारी कर रही है. उन्होंने बताया कि यह गिरोह झारखंड के जामताड़ा गिरोह से जुड़े हुए हैं.
एक केस के सिलसिले में गांधी नगर, गुजरात की पुलिस ने पटना पुलिस से संपर्क साधा और सूचना दिया की पटना में बैठकर एटीएम से ठगी करने की घटना को अंजाम दिया जा रहा हैं. इसपर एसएसपी मनु महाराज ने सेल के तेज तरार्र पुलिस पदाधिकारी सहित डीएसपी सदर और गांधी मैदान थाना प्रभारी को लेकर एक टीम गठित किया। इस टीम ने जब जांच शुरू की तो पता लगा कि यह गिरोह कोई साधारण नहीं बल्कि इसका नेटवर्क पूरे देश में फैला हुआ हैं. इसी क्रम में पुलिस टीम ने बीते सोमवार को गांधी मैदान थाना क्षेत्र के एटीएम के अंदर हाथ का सफाई करते हुये राजू नामक युवक को गिरफ्तार किया। राजू की निशानदेहि पर दो और लोगों की गिरफ़्तारी हुई और उपरोक्त चीजें बरामद हुई.