अंबेडकर स्कूल में छात्रा की संदेहास्पद मौत

आरा से बड़ी खबर है. जहां राजकीय अम्बेडकर आवसीय बालिका उच्च विद्यालय में एक छात्रा की संदेहास्पद मौत हुई है. इसके बाद छात्राओं ने हंगामा किया और मुआवजे की मांग कर रही हैं. मामला नगर थाना क्षेत्र का है. मौके पर पहुंचे मीडियाकर्मियों से एसडीओ ने बदसलूकी की और निजी चैनल के पत्रकार से कैमरा छीनकर उसका फुटेज डिलीट कर दिया. जानकारी के मुताबिक 10वीं की छात्रा नीतू की मौत हो चुकी है लेकिन उसके बाद भी उसे स्लाइन चढ़ाया जा रहा है.




सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार 3-4 पहले से ही नीतू की तबियत खराब थी. पेट दर्द,दस्त और उलटी होने के कारण शुक्रवार रात में सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां से रात में ही उसे होस्टल लाया गया था. आज सुबह फिर नीतू की जब हालत बिगड़ी तो किसी ने उसे इलाज के लिए अस्पताल नहीं भेजा. बाद में सिविल सर्जन आये और देखते ही उसे मृत घोषित कर दिया.

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार सिविल सर्जन के आने के बाद भी लड़की ज़िंदा थी. सिविल सर्जन ने बिना जांच किये मृत करार दिया था. फिर सदर अनुमंडलाधिकारी नवदीप शुक्ला आनन फानन में आये तब जाकर सिविल सर्जन और डॉक्टरों ने लड़की को स्लाइन चढ़ाना शुरू किया जिससे मामले पर पर्दा डाला जा सके. इस बीच मीडियाकर्मी जब उस जगह पर पहुंचे तो नवदीप शुक्ला ने बदसलूकी करते हुए कहा कि हाँ मैं तानाशाह हूँ. मेरे परमिशन के बिना कोई न्यूज आप नहीं भेज सकते हैं.

अब प्रशासन पुलिस बल का उपयोग कर नीतू के शव को इलाज के बहाने अस्पताल ले जाने की तैयारी में है. नीतू बक्सर के धनसोयी गाँव की निवासी बतायी जा रही है.

 

रिपोर्ट- आरा से ओपी पांडे