अांगनबाड़ी केंद्रों पर बच्चों को अंडा उपलब्ध कराया जाएगा

पटना (राजेश तिवारी) । अब अांगनबाड़ी केंद्रों पर भी बच्चों को पूरक पोषाहार के रूप में अंडा अपलब्ध कराया जाएगा. यह योजना 4 जुलाई से राज्य के 25 प्रखंडों में चयनित आंगनबाड़ी केंद्रों पर पायलट प्रोजेक्ट के तहत  शुरू किया जाएगा. पशु एंव मत्स्य संसाधन मंत्री पशुपति कुमार पारस ने उच्च अधिकारियों के साथ बैठक कर निर्णय लिया. पायलट प्रोजेक्ट के तहत जिन जिलों को नाामित किया गया है उनमें से वैशाली, सारण, सिवान, गोपालगंज और गया के चुनिंदा प्रखंड में यह योजना तत्काल चलायी जाएगी.

शुक्रवार को पशु एंव मत्स्य संसाधन मंत्री ने समेकित मुर्गी विकास योजना के तहत 67 लाभुकों को स्वीकृति पत्र का वितरण किया गया. चयनित लाभुकों के द्वारा 10 हजार , 5 हजार एंव 1 हजार क्षमता के लेयर पोल्ट्री फार्म की स्थापना की जाएगी. इससे राज्य में अंडों की उत्पादन में वृद्दि होगी. आपको बता दे कि 2016-2017 में राज्य में अंडों का उत्पादन कुल 11116.68 लाख था, जो बढ़कर वर्ष 2017-2018 में कुल 12185.12 लाख हो गया है. इससे साफ प्रतित होता है कि राज्य में अंडों का उत्पादन में बढ़ोत्तरी हो रहा है.