कोरोना इफेक्ट: शिक्षण संस्थान 31 मार्च तक रहेंगे बन्द, रिजल्ट में भी होगी देरी

पटना,14 मार्च. कोरोना वायरस को लेकर हर जगह मचे हड़कंप के बीच बिहार सरकार ने भी सभी शिक्षण संस्थानों को बंद करने का आदेश जारी किया है. यहाँ तक कि विद्यालय में आयोजित वार्षिक परीक्षा मूल्यांकन सभी स्थगित कर दिया गया. बिहार के सारे स्कूल एवं कॉलेज बंद कर दिए गए हैं. यह बन्द 31 मार्च तक जारी रहेगा. सरकार द्वारा व्यापक तरीके से इस बन्द के आदेश के बाद मैट्रिक और इंटर के वार्षिक परीक्षाओं के रिजल्ट में भी देरी होने की संभावना है. इधर शिक्षण संघ ने भी कोरोना संक्रमण को देखते हुए अगले आदेश तक धरना प्रदर्शन को स्थगित कर दिया है.

सरकार द्वारा यह बन्द का आदेश कोरोना संक्रमण को रोकने के सुरक्षा उपायों में से एक के तहत किया गया है. कारण यह है कि कोरोना एक संक्रमित रोग है जो एक दूसरे के सम्पर्क में आने से होता है. शिक्षण संस्थानों के बन्द हो जाने के बाद बहुत हद तक इस संक्रमण को रोका जा सकता है. केवल शिक्षण संस्थानों को ही नही बल्कि अन्य सरकारी संगठनों ने भी सुरक्षा के तहत यह कदम उठाया है. कोरोना वायरस को लेकर राज्य परियोजना निदेशक संजय सिंह ने सभी जिला के जिला शिक्षा पदाधिकारियो और जिला कार्यक्रम पदाधिकारियों को पत्र भेजकर आदेश जारी किया है.




ओ पी पांडेय की रिपोर्ट