23 वां पुस्तक मेला 4 फरवरी से गांधी मैदान में

250 प्रकाशकों के भाग लेने की संभावना

‘कुशल युवा- सफल बिहार’ थीम है इस बार मेला का 




कविता और कहानी पर कार्यशाला आयोजित

कविता और कहानी प्रतियोगता का आयोजन भी

गीतकार राजशेखर और कथाकार सुमन वाजपेयी उपस्थित रहेंगे

पटना के पुस्तक प्रेमियों के लिए सुखद अहसास कराने वाला पुस्तक मेला गांधी मैदान में ४ फरवरी से शुरू होगा जिसमें कई कार्यशाला का प्रसिद्ध लेखकों से राजधानी के लोग रूबरू भी हो सकेंगे .सेंटर फॉर डेवलपमेंट’ की ओर से पटना में 23वां पुस्तक महाकुम्भ को लेकर लोगों को साल भर इंतजार रहता है .आयोजकों ने इस बार युवाओं को समर्पित किया है यह यह आयोजन और थीम भी है ‘कुशल युवा- सफल बिहार’ सेंटर के चेयरमैन रत्नेश्वर ने बताया कि इस बार पटना पुस्तक मेला में  कविता और कहानी पर कार्यशाला आयोजित की गई है जिसमें स्कूली बच्चों के लिए कार्यशाला का आयोजन होगा. साथ ही बच्चो के लिए कविता और कहानी प्रतियोगता का आयोजन भी किया जायेगा.

कार्यशाला में जानेमाने गीतकार राजशेखर और कथाकार सुमन वाजपेयी उपस्थित रहेंगे .पुस्तक मेला में और भी कई महत्वपूर्ण कार्यक्रम भी होंगे जिसमें ‘नई किताब’ नाम से एक परिचर्चा का आयोजन किया जाएगा जिसमें देश के कई लेखकों की किताबों पर चर्चा होगी. इसमें लेखक-पत्रकार शाजी जमां, यतीन्द्र मिश्र, कथाकार अवधेश प्रीत और शिवदयाल भाग लेगे. इसी प्रकार ‘नई कलम’ कार्यक्रम केवल नई कवित्रियो को समर्पित होगा. मेला के अन्य आकर्षण में साहित्यिक पत्रिका ‘पाखी’ के सौजन्य से ‘पाखी परिचर्चा’ का आयोजन किया जायेगा. पटना पुस्तक मेला में लगभग 250 प्रकाशकों के भाग लेने की संभावना है. इसमें प्रभात प्रकाशन, राज कमल प्रकाशन, वाणी प्रकाशन, किताब घर, प्रकाशन संस्थान, राजपाल एंड संस, वयाली इंटरनेशनल, हिमालय पब्लिशिंग हाउस, सेज पब्लिकेशन, उपकार पब्लिकेशन और पी एम पब्लिकेशन प्रमुख हैं.