जरा इधर भी…

याद किये गये पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह

 




फुलवारी शरीफ. गोनपुरा पंचायत की मुखिया आभा देवी ने  कहा की किसानो की उन्नति के बगैर देश का विकास नही हो सकता है .उन्होंने कहा की किसान कृषि में नए प्रयोग करें, नए उपकरणों का सहारा ले तथा इसके लिए बैंक से ऋण लेकर तरक्की करें । शुक्रवार को मुखिया अभ देवी किसान संगोष्ठी में बोल रही थी .  आईडीबीआई  बैंक ने किसान दिवस के उपलक्ष्य में गोनपुरा पंचायत के किसानो की एक किसान संगोष्ठी का आयोजित की थी । संगोष्ठी का उद्घाटन गोंनपूरा पंचायत की मुखिया आभा देवी ने बैक अधिकारियो के साथ संयुक्त रूप से द्वीप जलाकर किया . आईडीबीआई बैक के महाप्रबंधक मनोज कुमार ने कहा की पूर्व प्रधानमंत्री स्व. चौधरी चरण सिंह किसानो के दशा सुधारने के लिए कई योजनायें चलायी थी . उन्होंने बैंक की योजनाओं का लाभ किसानों तक पहुंचाने के लिए उन्हें जागरूक करने की वकालत की .उन्होंने  किसानों को बैंक से जुड़ने तथा विभिन्न योजनाओं का लाभ उठाकर अपना देश का विकास करने की बात कही । मुखिया पति राजद नेता राम अयोध्या शर्मा ने कहा की देश में किसानों की जनसंख्या 80 प्रतिशत है मगर देश की जीडीपी में कृषि का योगदान 20 प्रतिशत है । इस स्थिति में सुधार के लिए किसानो भाईयो को जागरूक होना होगा .कार्यक्रम में कृषि वैज्ञानिकों ने किसानो को कम लागत में ज्यादा मुनाफा के गुर किसानो से साझा किये .   इस मौके पर ब्रिजल कुमार , प्रबंधक , क्षेत्रीय कार्यालय , मो इरफ़ान आजम खान , शाखा प्रमुख ,आलू शोध संसथान , पटना के कृषि  वैज्ञानिक अरुण कुमार ,आईसीआईसीएआर के कृषि वैज्ञानिक  डॉ अनील और डॉ पंकज ,अभिषेक कुमार , सहायक प्रबंधक एवं सुधीर कुमार समेत बड़ी संख्या में किसान भाई मौजूद रहे .

 

 

नौ दिवसीय राम कथा का समापन, भंडारा का आयोजन

फुलवारी शरीफ.  शुक्रवार को रामकथा के  समापन अवसर पर उमड़े श्रद्धालुओं को राम कथा सुनाते हुए त्रिपुष्कर महाराज ने  कहा की जीवन में सच्चाई का मार्ग दिखाती है रामचरित मानस . राम का चरित्र मानव को आत्मसात करना चाहिए ताकि उनका भविष्य उज्जवल और मान सम्मान से भरा रहे . कलयुग में हर मनुष्य के लिए जीवन में ज्ञान एवं भक्ति की आवश्यता है। इसके लिए मनुष्य को धर्म की शरण में आना पड़ता है .अंधकार में दीपक जिस तरह मनुष्य को राह दिखता हैं उसी तरह जीवन में भगवान और धर्म मनुष्य को सच्चाई का मार्ग दिखाती है .राम जी माता सीता के खोज के लिए पेड़ पौधे पर्वत आकाश पाताल नदी आदि से पूछते फिर रहे थे . तब गरुड़राज की दशा देख सारा हाल पता किये . फिर किस  तरह अन्यायी रावण से युद्ध के लिए वानर सेना बनायी . रावण के साथ युद्ध और अयोध्या वापसी की कथा सुनाकर श्रद्धालुओं को भाव विभोर कर दिया .  महाराज ने राम जी के सीता हरन के बाद की राम जी की मनोस्थिति का सुंदर  वर्णन सुनाया तो श्रद्धालुओ के आँखों से नीर बरसने लगे .

 

संपतचक प्रखंड पर माले का प्रदर्शन

फुलवारी शरीफ. नोटबंदी के निर्णय को आम आवाम के लिए परेशानी का सबब बताते हुए भाकपा माले कार्यकर्ताओं ने संपतचक प्रखंड मुख्यालय पर जोरदार  हल्लाबोल प्रदर्शन किया . सभा को संबोधित करते हुए संपतचक भाकपा माले नेता सत्त्यानंद ने कहा की  इससे देश के आम लोगों खासकर मजदूरों और किसानों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं, देश के धनकुबेरों पर विमुद्रीकरण का रत्ती भर असर नहीं पड़ा है। माले नेता हृदय नारायण राय ने कहा की नोटबंदी का सच और मोदी सरकार की कारगुजारी देश के समाने उजागर करने के लिए माले के गरीब गुरबा कार्यकर्त्ता आन्दोलन का बिगुल फुक दिया है . सभा से पहले माले कार्यकर्ताओं का जुलुस गोपालपुर बाजार , सोहगी मोड़ , बैरिया आदि प्रमुख मार्गों से होकर गुजरा . प्रदर्शन में राम श्रृंगार पासवान , रासमणि देवी , नीलम देवी , धनराज पासवान , राम परी देवी , सुरेश चन्द्र ठाकुर , विजेंद्र , सुरेश सिंह , घनश्याम सिंह ,म अवध किशोर सिंह , अरुण पासवान , कृष्ण राम , सुधीर पासवान , समेत दर्जनों माले कार्यकर्त्ता शामिल रहे .

 

रिपोर्ट- फुलवारी से अजीत