किसने दिया प्रशासन को 48 घण्टे का अल्टीमेटम ?

स्वर्ण-व्यवसासियों के आंदोलन तेज होने की आशंका
स्वर्ण-व्यवसायी के हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए शहर में व्यवसायियों ने निकला कैंडल मार्च

आरा. स्वर्ण व्यवसायी रवि रंजन गुप्ता की हत्या के खिलाफ कैंडल मार्च निकाल व्यवसायियों ने प्रशासन को 48 घण्टे का अल्टीमेटम दिया है. उन्होंने कहा कि अगर प्रशासन इतने समय मे अपराधियों को गिरफ्तार नही करती तो उनका धैर्य टूट जाएगा और वे आंदोलन तेज करने को बाध्य हो जाएंगे. बताते चलें कि 24 जुलाई को रात्रि 9 बजे के आसपास गोढ़ना रोड के कॉपरेटिव निवासी रवि रंजन गुप्ता की अपराधियों ने घर जाते वक्त गोली मारकर अनाईठ मठिया स्थित पोस्ट ऑफिस के पास हत्या कर दी थी. हत्या के 7 दिन बाद भी पुलिस अपराधियों को पकड़ने में नाकाम रही है. इसको लेकर इसके पूर्व भाकपा माले ने हत्या के अगले दिन ही आरा बन्द किया था.




मंगलवार को स्वर्ण व्यवसायी रवि रंजन गुप्ता के हत्या के खिलाफ हत्यारों की गिरफ्तारी के लेकर सर्राफा एवं स्वर्णकार, आरा भोजपुर के बैनर तले कैंडल मार्च निकाला गया. जिसकी मुख्य मांगे रवि रंजन गुप्ता के हत्यारों को गिरफ्तार करना, परिजन को 10 लाख रुपए मुआवजा, सरकारी नौकरी और सुरक्षा की गारंटी थी. व्यवसायियो को आत्म-सुरक्षा हेतु हथियार का लाइसेंस भी देने की मांग की गयी.

शहर में बढ़ते अपराध पर रोक लगाने की मांग के साथ यह कैंडल मार्च गोपाली चौक से निकलकर जेल रोड, सदर अस्पताल,बड़ी मठिया, महावीर टोला, शहीद भवन,V-मार्ट, डी.टी रोड टाउन थाना गोलंबर चित्र टोली रोड, बड़ी चौक,आरण्य देवी, होते हुए बड़ी मस्जिद जाकर समाप्त हुआ. मार्च में शामिल लोगों ने रवि रंजन गुप्ता के फोटो के सामने कैंडल जलाकर श्रद्धांजलि दिया. कैंडल मार्च में भाकपा माले नेता अमित कुमार बंटी ने कहा माले ने रवि रंजन गुप्ता की हत्या के खिलाफ आरा बंद कराया था.

आगे भी व्यवसायियों के हर आंदोलन में हम और हमारी पार्टी शामिल रहेगी. व्यवसायियों ने कहा कि 48 घंटा के अंदर प्रशासन ने अपराधियों की गिरफ्तारी नहीं हुई तो आंदोलन आगे भी किया जाएगा. कैंडल मार्च में शामिल प्रमुख लोगों में चंद्रभानु गुप्ता सुमन गुप्ता रिंकू सोनी मुन्ना जी नारायण गुप्ता अभिषेक सर्राफ उमाशंकर गुप्ता डॉक्टर हरि जी गुप्ता डॉक्टर आरसीपी भूषण शैलेंद्र गुप्ता राजकुमार अरुण संतोष सोनू राहुल रोहित मोहित नीरज नीरज अरुण पिंटू मनोरंजन सागर शंकर सोनी अखिलेश गुप्ता गोपाल प्रसाद चंदन शंभु गुप्ता इत्यादि शामिल थे.

आरा से ओ पी पांडेय की रिपोर्ट