यूके हर साल तीन हजार भारतीयों को देगा वीजा




भारतीय छात्रों की वीजा को लेकर अहम फैसला

मोदी से मुलाकात के बाद सुनक का फैसला

ब्रिटेन के प्रधामंत्री ऋषि सुनक ने भारतीय छात्रों की वीजा को लेकर अहम फैसला लिया है. सुनक ने भारतीय युवाओं को यूके में काम करने के लिए हर साल तीन हजार वीजा देने का एलान किया है. ब्रिटिश सरकार का कहना है कि इस तरह की योजना से लाभान्वित होने वाला भारत पहला देश है. ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ने कहा कि आज यूके-भारत प्रोफेशनल्स स्कीम की पुष्टि की गई है.

ब्रिटिश पीएम ऋषि सुनक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ

18-30 साल तक के भारतीय डिग्री धारक युवाओं को यूके में आने और दो साल तक काम करने के लिए तीन हजार वीजा की पेशकश की गई.सुनक सरकार ने ये फैसला बाली में पीएम मोदी से मुलाकात के बाद लिया है. गौरतलब है कि पीएम मोदी जी20 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए इंडोनेशिया के बाली में हैं. ब्रिटिश पीएम ऋषि सुनक ने पीएम मोदी से मुलाकात की थी. भारतीय मूल के सुनक की पीएम बनने के बाद ये मोदी से पहली मुलाकात थी.

डाउनिंग स्ट्रीट ने एक बयान में कहा कि भारत के साथ इस योजना का शुभारंभ हुआ है. ये हमारे द्विपक्षीय संबंधों और हमारी दोनों अर्थव्यवस्थाओं को मजबूत करने के लिए, भारत-प्रशांत क्षेत्र के साथ मजबूत संबंध बनाने के लिए यूके की व्यापक प्रतिबद्धता दोनों के लिए एक महत्वपूर्ण क्षण है. भारत-प्रशांत क्षेत्र में किसी अन्य देश के मुकाबले यूके का भारत से ज्यादा संबंध है. यूके में सभी अंतरराष्ट्रीय छात्रों में से लगभग एक चौथाई भारत से हैं. यूके में भारतीय निवेश यहां 95,000 नौकरियों का समर्थन करता है.

PNCDESK