STET परीक्षा पर आ गया पटना हाई कोर्ट का बड़ा फैसला

बिहार में माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी एसटीईटी की परीक्षा को लेकर पटना हाईकोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है. दो लाख से ज्यादा शिक्षक अभ्यर्थियों की नजरें इस फैसले पर टिकी थीं. पटना हाईकोर्ट STET 2019 मामले में महत्वपूर्ण फैसला देते हुए स्पष्ट किया है कि बिहार में सेकंडरी टीचर्स एलीबिजिलिटी टेस्ट का आयोजन दोबारा होगा यानी यह परीक्षा 9 सितंबर से होगी. जस्टिस अनिल कुमार सिन्हा ने पंकज कुमार सिंह व अन्य की याचिकाओं पर सुनवाई पूरी कर फैसला सुरक्षित रखा था. दरअसल एसटीइटी 2019 परीक्षा का आयोजन जनवरी 2020 में हुआ था. इस परीक्षा में कुछ जिलों में प्रश्न पत्र लीक होने के आरोप लगे थे. पहले बिहार बोर्ड ने इन आरोपों से इनकार किया था, इसके बाद छात्रों ने पटना हाई कोर्ट का रुख किया था और इस परीक्षा को रद्द करने की मांग की थी. बाद में बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने एक कमेटी का गठन किया और उस कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर परीक्षा को रद्द कर दिया. लेकिन इसके बाद कुछ दूसरे छात्र कोर्ट चले गए और उनका यह कहना था कि अगर कुछ जिलों में परीक्षा के प्रश्न पत्र लीक हुए हैं तो सिर्फ उन्हीं जगहों की परीक्षा रद्द की जाए और उनकी दोबारा परीक्षा ली जाए बाकी जिलों का रिजल्ट घोषित किया जाए इन सब के बीच बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने एस टी ई टी परीक्षा के दोबारा आयोजन के लिए 9 से 21 सितंबर तक की तारीख घोषित कर दी. इसी मामले में आज हाईकोर्ट ने फैसला सुनाया

Read more

एसटेट परीक्षा मामले में अपडेट, अभ्यर्थियों का बढ़ा इंतजार

बिहार में 9 से 21 सितंबर के बीच STET की दोबारा परीक्षा का आयोजन हो रहा है. इसके लिए तमाम तरह की गाइडलाइंस बिहार बोर्ड ने जारी कर दी है. ऑनलाइन परीक्षा के लिए 25 अगस्त को ही ऑनलाइन एडमिट कार्ड भी जारी होना था लेकिन यह अब तक नहीं हो पाया है. जानकारी के मुताबिक अब यह मामला 4 सितंबर तक के लिए टल गया है क्योंकि पटना हाई कोर्ट में आज इस मामले पर सुनवाई पूरी नहीं हो पाई और अब अगली सुनवाई 4 सितंबर को होनी है. ऐसे में बिहार विद्यालय परीक्षा समिति पटना हाईकोर्ट के आदेश का इंतजार कर रही है और यही वजह है कि अभ्यर्थियों को अब 4 सितंबर तक इंतजार करना होगा. पटना हाईकोर्ट में STET परीक्षा मामले पर जस्टिस अनिल कुमार सिन्हा ने सुनवाई की. इससे पूर्व इस परीक्षा में बरती गई अनियमितताओं के कारण बिहार स्कूल परीक्षा बोर्ड ने पिछली ली गई परीक्षा को रद्द कर नए सिरे से परीक्षा लेने का निर्णय खुद ही लिया था. बोर्ड के इस निर्णय को चुनौती देते हुए कुछ उम्मीवारों ने याचिकाएं दायर कर पूर्व में हुई परीक्षा का परिणाम घोषित करने का अनुरोध किया गया. इस मामले में हस्तक्षेप याचिका आलोक कुमार व अन्य की ओर बोर्ड द्वारा फिर से परीक्षा कराने के निर्णय को बहाल रखने की मांग की गई. इस मामले पर 4 सितंबर को फिर सुनवाई की जाएगी. pncb

Read more

STET की नई तारीख आ गई

STET 2019 परीक्षा का आयोजन सितंबर में बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने आखिरकार एसटीइटी 2019 के आयोजन की नई तारीख तय कर दी है. सितंबर महीने में एसटीइटी परीक्षा का आयोजन हो रहा है. 9 सितंबर से 21 सितंबर के बीच 9 दिन में अलग-अलग पाली में अलग-अलग विषय की परीक्षा होगी. अभ्यर्थियों को एडमिट कार्ड 25 अगस्त तक जारी कर दिया जाएगा. परीक्षा का आयोजन 9,10,11,14,15,16,17,18 और 21 सितंबर को होगा. पहली बार बिहार विद्यालय परीक्षा समिति परीक्षा का आयोजन ऑनलाइन करेगा. जनवरी महीने में जब यह परीक्षा आयोजित हुई थी उस दौरान कई सेंटर पर हंगामा और प्रश्न पत्र लीक के कारण मामला हाईकोर्ट में चला गया था अब तक इस मामले में सुनवाई चल रही है. अलग-अलग कई अभ्यर्थियों ने एसटीइटी परीक्षा को लेकर पटना हाई कोर्ट में याचिका दायर की है. एक याचिका इस परीक्षा को रद्द करने के खिलाफ भी है. पटना हाईकोर्ट ने जब इस परीक्षा के आयोजन और इसके रिजल्ट को लेकर सवाल खड़े किए थे तो बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने एक समिति के जरिए जांच कराई और उसके बाद गड़बड़ी का मामला सही पाए जाने पर परीक्षा को रद्द कर दिया था. राजेश तिवारी

Read more

STET क्यों हुआ रद्द!

STET के रिजल्ट पर फंस गया था पेंच बिहार में माध्यमिक और उच्च माध्यमिक स्कूलों में शिक्षकों की बहाली पर फिर संकट के बादल गहरा गए हैं. बिहार बोर्ड ने 28 जनवरी 2020 को आयोजित एसटीइटी परीक्षा को रद्द कर दिया है. कई जगहों पर प्रश्न पत्र लीक और हंगामा की शिकायत के बाद बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने एक जांच समिति बनाई थी. जांच समिति की रिपोर्ट के आधार पर बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने शनिवार को परीक्षा रद्द करने की घोषणा की. STET की इनसाइड स्टोरी जानने के लिए क्लिक करें- https://bit.ly/2Lnkdhe दरअसल इस पूरे मामले को लेकर एस टी ई टी परीक्षा के अभ्यर्थियों ने बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के सामने परीक्षा रद्द करने की गुहार लगाई थी. उनका कहना था कि बड़े पैमाने पर प्रश्न पत्र लीक हुआ है . इस परीक्षा का आयोजन 28 जनवरी को 317 परीक्षा केंद्रों पर हुआ था. कई जगहों पर हंगामे के बाद बाद पटना समेत कई जगहों के परीक्षा केंद्र रद्द किए गए थे. परीक्षार्थियों का कहना था कि जब एक जगह परीक्षा रद्द हुई है और प्रश्न पत्र बाहर आया है ऐसे में सोशल मीडिया के जरिए हर जगह प्रश्न पहुंचने और उनका उत्तर पहुंचने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता. हालांकि बिहार बोर्ड ने इस मामले में परीक्षा रद्द करने से इनकार कर कर दिया था. जिसके बाद अभ्यर्थियों ने हाईकोर्ट का रुख किया था. हाईकोर्ट ने पहले बिहार बोर्ड से सवाल किया था जिसका जवाब भी दिया बोर्ड ने नहीं दिया. बिहार बोर्ड ने

Read more

STET रिजल्ट के प्रकाशन पर लग गई रोक

बिहार बोर्ड के रवैये से फंसा रिजल्ट बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के रवैया के कारण शिक्षक पात्रता परीक्षा के अभ्यर्थियों की परेशानी बढ़ती नजर आ रही है. पटना हाई कोर्ट में आज इस मामले की सुनवाई के दौरान यह बात सामने आई कि हाईकोर्ट के नोटिस का जवाब अब तक बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने नहीं दिया है और परीक्षा का आंसर की भी जारी कर दिया. मामले की सुनवाई करते हुए जस्टिस ए अमानुल्लाह ने 22 मई तक रिजल्ट के प्रकाशन पर रोक लगा दी है. दरअसल यह पूरा मामला प्रश्न पत्र लीक से जुड़ा हुआ है. बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने दूसरी एस टी ई टी परीक्षा 28 जनवरी 2020 को ली थी. परीक्षा में प्रश्नपत्र लीक को लेकर परीक्षार्थियों ने सवाल खड़े किए थे. बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने प्रश्न पत्र लीक का मामला होने से इनकार किया जिसके बाद अभ्यर्थियों ने पटना हाईकोर्ट में मामला दायर किया. नीरज कुमार की याचिका पर जस्टिस ए अमानुल्लाह ने सुनवाई करते हुए अब STET के रिजल्ट के प्रकाशन पर 22 मई तक रोक लगा दी है. साथ ही यह भी कहा है कि जब तक इस मामले का निपटारा नहीं होता तब तक कोर्ट की अनुमति के बिना रिजल्ट का प्रकाशन बिहार विद्यालय परीक्षा समिति नहीं कर सकती. राजेश तिवारी

Read more