DM और जदयू के कई नेताओं को हुआ संक्रमण

जदयू से राज्यसभा सांसद आरसीपी सिंह पत्नी समेत कोरोना पॉजिटिव,सांसद दम्पति के साथ एक घरेलू स्टाफ भी पटना एम्स में भर्ती बिहार ने 1 दिन में कोरोना केसेज के मामले में नया रिकॉर्ड बना दिया है. 1 अगस्त को 3521 नए मरीज मिले हैं. वही पटना में संक्रमण काफी तेजी से फैल रहा है. पटना में अब कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 10 हजार के करीब पहुंच रही है. पटना में शनिवार को 594 मरीज बढ़ गए. पटना में कंटेनमेंट जोन की संख्या भी काफी बढ़ गई है. कंकड़बाग अशोक नगर रोड नंबर 11 में कई मरीज मिलने के बाद प्रशासन ने इसे एक कंटेनमेंट जोन बना दिया. कोरोना ने हाई फ्रोफाइल लोगो को अपनी चपेट में लेकर राजनितिक गलियारे में हडकंप मचा दिया. पटना के जिलाधिकारी कुमार रवि के कोरोना पॉजिटिव होते ही घर में ही आइसोलेट कर लिए जाने की खबर के कुछ ही देर बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के करीबी और जदयू के राज्यसभा सांसद राम चन्द्र प्रसाद सिंह और उनकी पत्नी गिरिजा देवी को भी कोरोना संक्रमण की चपेट में आने की खबर मिलते ही राजनीतिकक हस्तियों को सन्न कर दिया. जदयू सांसद आर सी पी सिंह के साथ ही उनके आवास का एक स्टाफ भी कोरोना पॉजिटिव निकला है. सूत्रों के मुताबिक जदयू के राज्य सभा सांसद राम चन्द्र प्रसाद सिंह और उनकी पत्नी गिरिजा देवी समेत आवास के स्टाफ को पटना एम्स में भर्ती कराया गया है. जहाँ इनका इलाज आइसोलेशन वार्ड में किया जा रहा है. हालाँकि एम्स से कोई भी अधिकारी इन

Read more

पटना के इन 10 इलाकों की अब ड्रोन से होगी निगरानी

लॉकडाउन एवं सोशल डिस्टेंसिंग की निगरानी हेतु 10 ड्रोन कैमरा स्थापित 10 महत्वपूर्ण लोकेशन हुए चिन्हित 10 लोकेशन पर 10 पायलट की हुई तैनाती उच्च तकनीक पर आधारित कैमरा द्वारा 2.5 किलोमीटर के रेडियस में की जाएगी फोटोग्राफी ड्रोन द्वारा विभिन्न लोकेशन पर की गई फोटोग्राफी से संबद्ध होंगे प्रशासनिक एवं पुलिस पदाधिकारी आपसी समन्वय एवं तालमेल से लॉक डाउन एवं सोशल डिस्टेंसिंग पर सूक्ष्मता से की जाएगी निगरानी पटना डीएम कुमार रवि ने लॉक डाउन एवं सोशल डिस्टेंसिंग के सतत एवं प्रभावी मॉनिटरिंग करने हेतु पटना शहरी क्षेत्र के 10 महत्वपूर्ण क्षेत्रों को चिन्हित कर उन क्षेत्रों में ड्रोन से निगरानी करने का निर्देश दिया है. इसके तहत पटना जिला के दानापुर/ सचिवालय क्षेत्र/ डाक बंगला चौराहा गांधी मैदान क्षेत्र/ पटना सिटी/ बाइपास एरिया/ बाढ़/ मसौढ़ी/ पालीगंज /राजेंद्र नगर टर्मिनल /फुलवारी शरीफ क्षेत्रों को चयनित किया गया है. प्रत्येक क्षेत्र मेंं एक-एक पायलट की तैनाती ड्रोन के साथ की गई है ताकि प्रत्येक क्षेत्र के भीड़-भाड़ एवं सोशल डिस्टेंसिंग के बारे में अद्यतन स्थिति की जानकारी उपलब्ध कराया जा सके. उच्च तकनीक पर आधारित इस पद्धति के माध्यम से संबंधित क्षेत्र के 2.5 किलोमीटर के रेडियस की फोटोग्राफी की जाएगी. ड्रोन से कैप्चर किया गया फोटो में क्षेत्र ,तिथि ,समय, अक्षांश ,देशांतर आदि से युक्त होगा. यह फोटो त्वरित रूप से सॉफ्टवेयर के माध्यम से प्रशासनिक एवं पुलिस पदाधिकारियों तक पहुंचेगा. तदनुसार संबंधित एरिया के पदाधिकारी द्वारा अपेक्षित कार्रवाई तत्क्षण रूप से की जाएगी. इस कार्य के सफल एवं सुचारु संपादन सुनिश्चित कराने हेतु प्रोटोकॉल पदाधिकारी इस्तियाक अजमल को

Read more

सावधान, कहीं आप भी न हो जाये इस गन के शिकार….

जी हाँ, ये सही है। राजधानी पटना में गाड़ियों के तेज गति पर रोक लगाने के लिए आज यानी शनिवार 14 दिसंबर से स्पीडगन लगाने की योजना है। प्रमुख रूप से करबिगहिया फ्लाईओवर, बेली रोड फ्लाईओवर, राजेंद्रनगर, दानापुर में ऐसी जगहों को पॉइंट आउट कर ये मशीन लगाई जाएगी ताकि इन जगहों से तेज गति से गुजरने वाले वाहनों पर अंकुश लगाया जा सके। सबसे पहले शनिवार से बेली रोड पर स्पीडगन लगेगा।स्पीडगन के साथ ही ट्रैफिक जवानों को वॉकी-टॉकी से लैस किया जाएगा। जैसे ही कोई वाहन ओवर स्पीड से गुजरेगा, ट्रैफिक जवान वॉकी-टॉकी से आगे सूचना दे देंगे ताकि उस वाहन को रोका जा सके तथा उसपर कार्रवाई की जा सके। शहर की विभिन्न सड़कों पर इससे संबंधित साइनेज भी लगाए जाएंगे ताकि लोग इसके बारे में जान सके और ओवर स्पीड में वाहन न चलाएं। शुक्रवार को परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने जाम से निजात पाने को लेकर प्रमंडलीय आयुक्त कार्यालय में बैठक की जिसमें राज्य परिवहन आयुक्त सीमा त्रिपाठी, डीएम कुमार रवि, एसएसपी गरिमा मलिक, ट्रैफिक एसपी अमरकेश डी शामिल थे।परिवहन सचिव ने ट्रैफिक एसपी को निर्देश दिया कि जाम लगने वाली जगहों को चिह्नित कर इससे निजात के उपाय करें। नो इंट्री के दौरान शहर में बड़े वाहनों के प्रवेश पर रोक लगे। बाइपास में सिपारा, बेउर, अनीसाबाद, फुलवारीशरीफ में ट्रकों की लंबी कतार की वजह से शाम में आम लोगों की परेशानी होती है।जेपी सेतु पर स्मूथ ट्रैफिक के लिए भी मीटिंग में चर्चा हुई। परिवहन सचिव ने ट्रैफिक एसपी को निर्देश दिया

Read more

फिर चलेगा अभियान, इस बार होगी ज्यादा सख्ती

पटना में एक बार फिर अतिक्रमणकारियों की शामत आने वाली है. पटना शहरी क्षेत्र में अतिक्रमण हटाने और ट्रैफिक व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए 24 सितंबर से 4 अक्टूबर तक मल्टी एजेंसी अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाया जाएगा. ये जानकारी पटना डीएम कुमार रवि ने दी है.   डीएम ने बताया कि पटना शहरी क्षेत्र में अतिक्रमण एवं यातायात की सघनता की दृष्टि से चिन्हित अतिमहत्वपूर्ण क्षेत्र (High Priority Zone) निम्नवत् हैः- बोरिंग कैनाल रोड (राजापुर पुल से हड़ताली मोड़ तक) बोरिंग रोड (बोरिंग रोड चैराहा से पाटलीपुत्रा गोलम्बर तक) बेली रोड (हड़ताली मोड़ से जगदेव पथ तक) स्टेशन रोड (सीडीए बिल्डिंग से जीपीओ गोलम्बर तक) अशोक राजपथ (बीएन कॉलेज से साइंस कॉलेज तक) कदमकुआँ रोड कंकड़बाग पटना बाइपास रोड पटना डीएम के आदेश के मुताबिक कार्यपालक पदाधिकारी, नूतन राजधानी अंचल पटना नगर निगम, बांकीपुर अंचल पटना नगर निगम, कंकड़ बाग़ अंचल पटना नगर निगम एवं पटना सिटी अंचल पटना नगर निगम इस विशेष अभियान के पूर्व एवं समय-समय पर दिये गये निर्देशों का शत् प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित करेंगे. नगर आयुक्त, पटना नगर निगम के मार्ग निदेश में संबंधित कार्यपालक पदाधिकारी पटना नगर निगम, पटना द्वारा विशेष अभियान के पूर्व वेंडिंग जोन/नो वेंडिंग जोन का निर्धारण कर संबंधित वेंडरों को शीघ्रताशीघ पहचान पत्र उपलब्ध करायेंगे. विशेष अभियान के पूर्व एवं तत्पश्चात समय-समय पर माइक द्वारा उद्घोषणा कराया जाएगा कि सभी अतिक्रमणकारी स्वयं अतिक्रमण हटा ले वहाँ पुनः अतिक्रमण नहीं करें. यदि वे स्वयं निर्धारित अवधि में अतिक्रमण नहीं हटायेंगे तो प्रशासन द्वारा उनके सामग्रियों को जब्त कर लिया जायेगा एवं

Read more

बीडी पब्लिक और बाल्डविन समेत 6 स्कूलों को नोटिस

पटना जिला प्रशासन ने जिले के 6 स्कूलों को नोटिस जारी किया है. पटना ़डीएम ने इन्हें कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए पूछा है कि क्यों ना इनपर कार्रवाई की जाए. इन सभी 6 स्कूलों की बसों पर अवैध पार्किंग करने का आरोप है. 1- बी.डी. पब्लिक स्कूल-06 2- बाल्डविन एकेडमी-07 3- नेताजी सुभाष इंस्टीच्यूट आॅफ टेक्नोलाॅजी बिहटा-01 4- सेंट जोसेफ-05 5- पटना सेन्ट्रल स्कूल-02 6- माउन्ट कार्मेल हाई स्कूल-05 इन सभी स्कूलों  ने जिला प्रशासन के निर्देशों को भी नहीं माना है. पटना जिला प्रशासन की ओर से ये निर्देश जारी हुआ था कि कोई भी शिक्षण संस्थान या कोई अन्य अपना निजी वाहन सड़क पर ना खड़ा करे. इससे जाम लगता है. शिक्षण संस्थानों की बस अपने स्कूल के पार्किंग में न लगाकर गाँधी मैदान, दीघा मार्ग एवं अन्य मार्गों पर लगती है, जिससे जाम की स्थिति पैदा होती है। जिला परिवहन पदाधिकारी ने बताया कि इन 6 शिक्षण संस्थानों के 26 बसों पर अवैध पार्किंग के लिए नोटिस भेजा गया है, कि क्यों न अवैध पार्किंग के लिए कार्रवाई/जुर्माना किया जाय. इसके साथ ही डीएम कुमार रवि ने प्रशिक्षु आईएएस तनय सुल्तानिया को निर्देश दिया कि गाँधी मैदान, बाइपास एवं सगुनामोड़ पर अवैध पार्किंग किये हुए वाहनों की जाँच कर रिपोर्ट दें. जिलाधिकारी ने जिला परिवहन पदाधिकारी को निर्देश दिया कि सगुनामोड़ से दानापुर के बीच सेन्ट कैरेन्स स्कूल के पास अवैध रूप से पार्किंग किये गये सेन्ट कैरेन्स स्कूल के बसों पर कार्रवाई करें. साथ ही 15 वर्ष से अधिक से चल रही बसों को पब्लिक ट्रांसपोर्ट से बाहर किया

Read more

बिहार आ रहे प्रधानमंत्री मोदी, कुछ ऐसा है कार्यक्रम

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एक बार फिर बिहार दौरे पर आ रहे हैं. इस बार वे मोतिहारी जाएँगे जहां चंपारण सत्याग्रह शताब्दी समारोह के समापन समारोह में भाग लेंगे. प्रधानमंत्री 10 अप्रैल को सुबह 10 बजे पटना एयरपोर्ट पहुंचेंगे और वहां से हेलिकॉप्टर से मोतिहारी के लिए रवाना हो जाएंगे. उसी दिन दोपहर करीब ढाई बजे वे मोतिहारी से वापस पटना आएंगे और फिर दिल्ली रवाना हो जाएंगे. पटना डीएम कुमार रवि ने शुक्रवार को पीएम दौरे को लेकर संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक की और जरूरी दिशा-निर्देश दिए. डीएम ने बताया कि ये पीएम का ट्राजिंट विजिट है. अधिकारियों को एयरपोर्ट से राजभवन तक की ट्रैफिक व्यवस्था से लेकर अन्य तमाम इमरजेंसी इंतजाम दुरूस्त करने के निर्देश दिए गए हैं. FILE PIC आपको बता दें कि चंपारण सत्याग्रह के सौ साल पूरे होने पर पिछले साल 10 अप्रैल को एक साल तक चलने वाले शताब्दी समारोह की शुरूआत राष्ट्रपति ने की थी. उसका समापन समारोह अब प्रधानमंत्री के हाथों हो रहा है. इस मौके पर प्रधानमंत्री स्वच्छता से जुड़े एक देशव्यापी कार्यक्रम की शुरुआत भी करेंगे.

Read more

फुलवारी में कैंप कर रहे प्रशासन के आला अधिकारी

पटना के फुलवारी शरीफ में रविवार देर रात डीएम संजय कुमार अग्रवाल आला अधिकारियों के साथ कैम्प कर रहे हैं. बता दें  कि फुलवारी के इसापुर में शनिवार को दो पक्षों में जबरदस्त बवाल हुआ था. इस दौरान आगजनी तोड़फोड़ के बाद पीड़ितों के घर मातम का माहौल बना हुआ है . फुलवारी थाना से लेकर चुनौती कुआं गवाल टोली खानकाह मोड़ , गुलिस्तान मुहल्ला , इसापुर , राय चौक , पानी टंकी , दुसाध टोली में रैपिड एक्शन फोर्स के साथ कई डीएसपी थानेदारों को दो दर्जन से अधिक प्वाइंट बनाकर मुस्तैद रखा गया है . बहादुरपुर, हिन्दुनी लहियार चक में भी पुलिस अधिकारियों की तैनाती की गयी है. लहियार चक में तीन परिवारों पर उपद्रवियों का कहर टूट पड़ा. शनिवार को पूरे घर में जमकर लूटपाट के बाद आग लगा दी गई थी. पटना से अजीत

Read more

सावधान! फिल्टर्ड वाटर के नाम पर घटिया पानी की हो रही सप्लाई

घटिया पानी सप्लाई करने वाले 5 सप्लायर को सील करने का निर्देश राजधानी पटना के घरों, शॉपिंग मॉल और दुकानों में हो रही है घटिया पानी की सप्लाई. लोग इसके लिए अच्छी खासी कीमत भी चुका रहे हैं. लेकिन सावधान. ये पानी आपको बीमार… बहुत बीमार बना सकता है. ये हम नहीं कह रहे. PHED लैब की जांच रिपोर्ट में कई सैंपल Not fit for drinking पाए गए हैं. दरअसल पटना डीएम संजय कुमार अग्रवाल ने पानी की गुणवत्ता की जांच के लिए एक टीम बनाई थी. इस टीम ने इसी महीने की 5 तारीख को पटना के विभिन्न इलाकों से  पानी सप्लाई करने वाली 12 एजेंसियों का सैंपल लिया था. इनके सैंपल को PHED की लैब में जांच के लिए भेजा गया था. जांच में इनमें से 5 एजेंसियों का पानी पीने योग्य नहीं पाया गया है. इन एजेंसियो के सैंपल में पानी का PH value अनुमन्य सीमा (permissible limits) से कम है जो कि इसे पीने के अयोग्य बनाता है. इसके बाद पटना DM ने इन एजेंसियो को सील करने का आदेश जारी किया है. साथ ही इनके उत्पादन स्थल की भी विस्तृत जाँच के आदेश दिए हैं.  डीएम ने कहा है कि सभी पानी सप्लाई करने वाले फैक्ट्री को महाप्रबंधक, जिला उद्योग केन्द्र के कार्यालय में अपना विवरण दर्ज कराना है. जो अपना विवरण दर्ज नहीं करायेंगे, उनकी फैक्ट्री सील कर दी जायेगी. और मानक गुणवत्ता नहीं पाये जाने पर फैक्ट्री का लाइसेंस रद्द किया जायेगा. आप भी नोट करें इन कंपनियों के नाम जिनको सील किया गया है- राज प्यूरीफायर वाटर

Read more

राष्ट्रपति बनने के बाद पहली बार पटना आ रहे हैं राष्ट्रपति

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद 9 नवंबर को पटना दौरे पर आ रहे हैं. बिहार के राज्यपाल रह चुके रामनाथ कोविंद करीब चार महीने बाद पटना आ रहे हैं जहां वे बापू सभागार में एक कार्यक्रम में भाग लेंगे. साथ ही वे जेपी गोलंबर भी जाएंगे. इसके बाद कुछ समय के लिए वे राजभवन भी जाएंगे और पुरानी यादें ताजा करेंगे. File Pic DM ने राष्ट्रपति के कार्यक्रम को लेकर पूरी जानकारी दी. राष्ट्रपति के पटना परिदर्शन के तैयारियों को अंतिम रूप देने में पटना जिला प्रशासन जुटा है. पटना डीएम संजय कुमार अग्रवाल ने राष्ट्रपति के प्रस्तावित कार्यक्रम के अवसर पर प्रतिनियुक्त दण्डाधिकारियों एवं पुलिस पदाधिकारियों की संयुक्त ब्रीफिंग की. डीएम ने पटना एयरपोर्ट से लेकर बापू सभागार तक की तैयारियों की समीक्षा की. डीएम ने बताया कि 8 नवम्बर को कारकेड का रिर्हसल किया जायेगा.

Read more

PM दौरे के लिए सज-संवर गया पटना

PM के दौरे के बहाने पटना एक बार फिर चमक गया है. शहर की सड़कें चकाचक हो गई हैं. साथ ही सड़कों से अतिक्रमण हटने के कारण एयरपोर्ट से लेकर अशोक राजपथ तक ज्यादा जगह दिख रही है. नगर निगम के अधिकारी और कर्मचारी सफाई के लिए दिन-रात लगे हुए हैं. पटना कॉलेज, साइंस कॉलेज की हर सड़क नई हो गई है. दीवारों पर खूबसूरत पेंटिंग और बिल्डिंग पर लाइटिंग से जैसे पूरे कैंपस की किस्मत ही चमक गई है. अब बस एक ही आस बाकी है. पीएम आएं और पटना विश्वविद्यालय को केन्द्रीय विवि का दर्जा मिल जाए. विवि से जुड़े हर छात्र और शिक्षकों के बीच इसकी बड़ी चर्चा है. PM के दौरे का शेड्यूल-https://goo.gl/eBqB4u इधर जिला प्रशासन के अधिकारी भी पीएम के दौरे की तैयारी को फाइनल टच देने में लगे हैं. विशेष रुप से सुरक्षा को लेकर पुलिस और प्रशासन काफी सतर्कता बरत रहा है. प्रधानमंत्री पटना यूनिवर्सिटी के बाद मोकामा भी जाएंगे जहां वे कई योजनाओं का शिलान्यास करेंगे. गुरुवार को पटना डीएम संजय कुमार अग्रवाल ने प्रधानमंत्री के पटना परिदर्शन के अवसर पर विधि व्यवस्था सहित अन्य तैयारियों के संबंध में प्रतिनियुक्त पदाधिकारियों को ट्रेनिंग दी. सभी पदाधिकारियों को निर्धारित समय पर अपने प्रतिनियुक्ति स्थल पर पहुँचने तथा कार्यक्रम समाप्ति के बाद पूरी तरह से भीड़ निकल जाने के बाद ही अपने वरीय अधिकारियों से अनुमति लेकर प्रतिनियुक्ति स्थल छोड़ने का निर्देश दिया गया है. डीएम संजय अग्रवाल ने बताया कि पुलिस अधीक्षक, मध्य के स्तर से सभी संबंधित पदाधिकारी और कर्मियों, मीडिया कर्मी सहित को

Read more