ESIC ने ESI अंशदान जमा करने की समय-सीमा को आगे बढ़ाया

कोविड-19 महामारी के कारण देश बहुत चुनौतीपूर्ण स्थिति से निपट रहा है. कई संस्थान अस्थायी रूप से बंद हो चुके हैं और श्रमिक काम करने में असमर्थ हैं. सरकार द्वारा व्यवसायिक संस्थाओं और श्रमिकों को प्रदान की जा रही राहत उपायों के अनुरूप, कोविड-19 से लड़ाई में अपने चिकित्सा संसाधनों को मजबूत करने के अलावा, कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ESIC) द्वारा अपने हितधारकों, विशेषकर नियोक्ताओं और बीमित व्यक्तियों के लिए राहत उपायों को लागू किया जा रहा है. राहत उपाय के रूप में फरवरी और मार्च महीने के लिए, ईएसआई अंशदान जमा करने की समय-सीमा को पहले 15 अप्रैल और 15 मई तक बढ़ा दी गई थी. अब, नियोक्ताओं द्वारा उठाई जा रही कठिनाईयों को ध्यान में रखते हुए, फरवरी महीने के लिए ESI अंशदान जमा करने की अवधि को पहले विस्तारित की गई अवधि यानी 15 अप्रैल से 15 मई, 2020 तक बढ़ा दिया गया है. मार्च 2020 महीने के लिए भी अंशदान जमा करने की अवधि 15 मई, 2020 है. इस विस्तारित अवधि के दौरान संस्थानों से कोई जुर्माना या ब्याज या क्षति नहीं वसूली जाएगी. रिटर्न जमा करने की अवधि बढ़ाने के साथ ही, 3.49 करोड़ बीमित व्यक्तियों (आईपी) और 12,11,174 नियोक्ताओं को राहत मिलेगी. इनके अलावा, बीमित व्यक्तियों और लाभार्थियों के लिए निम्नलिखित राहत उपाय किए गए हैं. लॉकडाउन अवधि के दौरान ESI लाभार्थियों की कठिनाई को कम करने के लिए, ESI लाभार्थियों को निजी दवा विक्रेताओं से दवाओं की खरीद करने और इसके बाद ESIC द्वारा प्रतिपूर्ति प्राप्त करने अनुमति प्रदान की गई है. अगर किसी ESIC अस्पताल को कोरोना संदिग्ध/ पुष्ट मामलों को देखने

Read more

अनियंत्रित कार डिवाइडर से टकराई | आग लगने से कार में फंसा चालक जिंदा जला

पटना/बिहटा (पटना नाउ रिपोर्ट) | शनिवार अहले सुबह पटना-औरंगाबाद मुख्य मार्ग में अमहरा गोबर्धन बाबा के समीप एक अनियंत्रित वैगन आर कार डिवाइडर से टकरा कर पलट गई. इस कारण कार में आग गई तथा कार में फंसे कार का चालक जिंदा जलकर मर गया. मृतक की पहचान बिहटा के कंचनपुर निवासी मो भितरछेनी का 20 वर्षीय पुत्र पुलिस उर्फ अंश के रूप में की जा रही है. बताया जाता है कि कार में चार लोग सवार थे. बिक्रम से बारात कर घर वापस लौटने के क्रम में यह दुर्घटना हुई. दुर्घटना के बाद कार में से तीन लोगो को निकाला गया तथा उन्हें नजदीक के अस्पताल में भेजा गया. लेकिन कार में फंसे पुलिस उर्फ़ अंश जिंदा जलकर राख हो गया. दुर्घटनाग्रस्त कार में घायल कंचनपुर निवासी सह कार का मालिक नंद किशोर सिंह की भी इलाज के दौरान मौत हो गयी.

Read more

बिहटा ईएसआईसी अस्पताल की ग्राउंड रिपोर्ट|सुपर स्पेशिलिटी अस्पताल लेकिन सुविधा नदारद

500 बेड वाले 630 करोड़ की लागत से निर्मित ईएसआईसी अस्पताल की ग्राउंड रिपोर्ट13 माह पहले 50 बेड का हुआ था उद्घाटन पर अभी डिस्पेंसरी की तरह मिल रही ओपीडी सेवाएंबिहटा/पटना | सूबे में स्वास्थ्य सेवाओं का आज भी क्या हाल है ये किसी से छिपी हुई बात नहीं है. 10 वर्ष पूर्व के हालात का सहज अंदाजा लगाया जा सकता है. अच्छे अस्पताल व इलाज की व्यवस्था नहीं होने के कारण भारी संख्या में लोग दिल्ली सहित अन्य राज्यों में जाने को मजबूर थे. इसमें बीमित श्रमिक भी शामिल थे. इन परेशानियों के मद्देनजर वर्ष 09 में बिहार के बीमित श्रमिकों के लिये केंद्र की सरकार ने 500 बेड का अस्पताल बनाने की बड़ी घोषणा कर दी. केंद्र के इस फैसले से श्रमिकों में खुशी की लहर दौड़ गई. राज्य की सरकार ने भी इसका स्वागत किया और अस्पताल के लिये बिहटा के सिकदंरपुर में 25 एकड़ जमीन उपलब्ध करा दिए. तत्कालीन लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इसका शिलान्यास किया. अस्पताल निर्माण कराने वाली कंपनी को 2 साल में निर्माण की जवाबदेही दी गई थी. श्रमिकों को लगा कि अब उनके दिन बहुरेंगे. स्वास्थ्य संबंधी सभी तरह की परेशानी एक छत के नीचे हल हो जाएंगे. लेकिन 2साल में पूरा होने वाला उनका ये सपना 10 साल बाद भी हकीकत नहीं बन सकी. अस्पताल भवन निर्माण में विलंब का ठीकरा एक दूसरे पर फोड़कर सभी अपने जिम्मेदारी से बचते रहे. लोगों की लगातार मिल रही शिकायतों पर चुनाव में जाने के पूर्व केंद्रीय श्रम एवं

Read more

बिहटा में मोबाइल दुकानदार की हत्या

बिहटा में मोबाइल दुकानदार की गोली मारकर हत्या, बाइक पर पिस्तौल लहराते फरार हुए अपराधीआक्रोशित लोगों ने बिहटा चौराहा पर शव को रख किया कई मार्गों पर यातायात ठप, आगजनी, हंगामाबिहटा (सन्तोष चौहान की रिपोर्ट)| बिहटा चौराहे के निकट मंगलवार की रात करीब साढ़े 8 बजे अपराधियों ने विमल एंटरप्राइजेज मोबाईल के दुकान में घुसकर दुकानदार विमलेश की गोली मारकर हत्या कर दी. घटना को अंजाम देने के बाद अपराधी बाइक पर सवार होकर आरा की ओर भाग निकले. घटना से आक्रोशित लोगों ने मृतक के शव को बिहटा चौरस्ता पर रखकर कई मार्गों का यातायात जाम कर दिया. लोगों ने सड़क पर आगजनी कर पटना-आरा एनएच 30,खगौल और अरवल पालीगंज मार्ग पर यातायात ठप कर दिया है. साथ ही अपराधियो के अविलंब गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे. मृतक विमलेश भोजपुर जिले के गड़हनी थाना के शिवपुर निवासी स्व रामानुज सिंह का माँझील पुत्र था. विमलेश बचपन से अपने मामा के घर रहता था. बताया जाता है कि रात 8बजे के करीब एक बाइक पर सवार होकर आए 2 अपराधियों ने उसके दुकान पर घुसकर दो गोली मार दी .एक गोली तो ऊपर से निकल गई . लेकिन दूसरी गोली उसके सीने में जा लगी. बाहर निकलकर उसने तीसरी गोली हवा में फायर किया और फिर हाथ में पिस्टल लहराते आरा की ओर भाग निकले. मौत की सूचना पर आक्रोशित लोगों का चौराहा पर हंगामा विमलेश की मौत पर आक्रोशित व्यवसायियों का गुस्सा सड़क पर फूट पड़ा. शव को बिहटा चौराहा पर रखकर लोगों ने सड़क को चारों तरफ

Read more

बालू माफिया पर कसा शिकंजा

पटना पुलिस ने की सघन छापेमारी मनेर, बिहटा, कोइलवर से बड़ी संख्या में अवैध खनन करते मजदूर गिरफ्तार 9 बालू माफिया की तलाश में छापेमारी जारी 29 पोकलेन मशीनें जब्त सरकार बदलते ही बिहार की फिजा जैसे बदलने लगी है. 2 दिनों के भीतर बिहार में सरकार बदल गई. कल तक जो लोग सत्ता के बल पर दंभ भर रहे थे आज ठीक इसके उलट हो गया. पटना SSP मनु महाराज के नेतृत्व में बालू माफिया पर शिकंजा कसने के लिए आईजी के विशेष दिशा निर्देश पर मनेर, बिहटा और कोईलवर में छापेमारी की गयी. छापेमारी की खबर मिलते ही पटना के मनेर तथा बिहटा के दियरा मे बालू माफिया में खलबली मच गयी. बालू माफिया के खिलाफ एसएसपी मनु महाराज की टीम ने पूरे दिन अभियान चलाया. सोन नदी के दूसरी तरफ यानी कोईलवर में भी छापेमारी की गयी. सूत्रों की मानें तो भोजपुर में कार्रवाई को लेकर अंदर ही अंदर बड़ी कार्रवाई करने की योजना चल रही है. आपको बता दें कि भोजपुर का इलाका बालू के जरिए काली कमाई करने का एक बड़ा धंधा बना हुआ है. सूत्रों की मानें तो वरीय अधिकारियों से भोजपुर जिले की लिस्ट भी मांगी गई है. अवैध रूप से खनन कराने वाले बालू माफिया की लिस्ट भी अधिकारियों ने तैयार करनी शुरू कर दी है. इस लिस्ट में कई सफेदपोश लोगों के भी नाम आ रहे हैं. एसएसपी मनु महाराज जिस फोजिया को तलाश कर रहे हैं. उसका भोजपुर जिला से भी जुड़ाव रहा है. रविवार को जहां मनु महाराज की

Read more