पटना पहुंचते ही PM ने कर दी ये फरमाइश

मुख्यमंत्री ने पूरी की प्रधानमंत्री की फरमाइश पीएम मोदी पटना आए तो थे PU के शताब्दी समारोह और मोकामा जाने के लिए, लेकिन पटना एयरपोर्ट पर पहुंचते ही पीएम ने सीएम नीतीश से बिहार म्यूजियम देखने की फरमाइश कर दी. इसका खुलासा किया खुद सीएम नीतीश कुमार ने. मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री एयरपोर्ट पर जैसे ही उतरे तो उन्होंने मुझसे कहा कि आप लोगों ने म्यूजियम बनाया है, क्या मैं पटना यूनिवर्सिटी के कार्यक्रम के बाद म्यूजियम को देख सकता हूं. मुख्यमंत्री ने कहा कि हमलोगों के लिए इससे ज्यादा प्रसन्नता की बात और क्या होगी. उन्होंने कहा कि बिहार का गौरवशाली अतीत है, उसको ध्यान में रखते हुए यह संग्रहालय बनाया गया है, उसका भी आप निरीक्षण करेंगे और आपका हमें मार्गदर्शन भी प्राप्त होगा. प्रधानमंत्री पटना विवि के शताब्दी समारोह के कार्यक्रम में भाग लेने के तुरंत बाद बिहार म्यूजियम पहुंचे, जहां मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उनका स्वागत किया. प्रधानमंत्री मुख्यमंत्री के साथ बिहार म्यूजियम में लगभग 20 मिनट रहे और इस अवधि में मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री को बिहार म्यूजियम के लगभग हर प्रदर्श का अवलोकन कराया और उसके संबंध में विस्तार से जानकारी दी. बिहार म्यूजियम को देखकर प्रधानमंत्री अभिभूत दिखे.  इस अवसर पर राज्यपाल सत्य पाल मलिक, केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान, उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी तथा मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह भी मौजूद थे. सौजन्य- ANI    प्रधानमंत्री ने बिहार म्यूजियम के विजिटर रजिस्टर पर गुजराती में चन्द शब्द भी लिखे और सिग्नेचर किया.

Read more

अब बिहार म्यूजियम की सभी दीर्घाओं का करिए दीदार

मुख्‍यमंत्री ने बिहार संग्रहालय की इतिहास दीर्घाओं व अन्‍य दीर्घाओं का किया लोकार्पण गांधी जयंती के अवसर पर बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने जवाहर लाल नेहरू मार्ग, बेली रोड, पटना स्थित बिहार संग्रहालय की इतिहास दीर्घाओं व अन्‍य दीर्घाओं का लोकार्पण विधिवत रूप से दीप प्रज्‍जवलन कर किया. इस दौरान उन्‍होंने अपने संबोधन में बिहार संग्रहालय के सभी दीर्घाओं के लोकापर्ण को सुखद अनुभू‍ति बताया और कहा कि बिहार के पास विरासत, कला – संस्‍कृति  और इतिहास ही पूंजी है, जिसे हमने इस अंतर्राष्‍ट्रीय स्‍तर के संग्रहालय के जरिये सहेजने की कोशिश की है. CM ने पटना संग्रहालय का जिक्र करते हुए कहा कि वहां राहुल सांस्‍कृत्‍यायन द्वारा तिब्‍बत से लाये दस्‍तावेज के अलावे कई चीजें हैं, जो महत्‍वपूर्ण हैं। लेकिन वहां जगह की कमी होने की वजह से कई प्रदर्श को प्रदर्शित नहीं किया गया. लेकिन बिहार संग्रहालय के बनने बाद राज्‍य की तमाम विरासत का प्रदर्शन किया जायेगा.जो हमारी आने वाली पीढ़ी के लिए मनोरंजन के साथ – साथ ज्ञानवर्द्धन भी करेगी. CM ने कहा कि हम दोनों संग्रहालय को साथ लेकर चलेंगे, इसलिए जो लोग पटना संग्रहालय घूमने आयेंगे वे बिहार संग्रहालय भी जा पायेंगे। उन्‍होंने कहा कि यह संग्रहालय अंतर्राष्‍ट्रीय स्‍तर पर नई सोच और उन्‍नत तकनीक से बनाई गई है। जिसे बनाने से पूर्व कई तरह के शोध सहारा लिया गया। अंतर्राष्‍ट्रीय स्‍तर के अनुभवों के साथ इसे बनाया गया है। मुख्‍यमंत्री ने बिहार के इतिहास की चर्चा करते हुए कहा कि हमें अपने इतिहास पर नाज है, जो गौरवपूर्ण रहा है। मगर अब फिर से

Read more