“सुपर 40” ने मनाया विजय दिवस

पूर्व सैनिकों के बच्चों को संस्थान ने की 40% तक छूट देने की घोषणा
आर्थिक कमी वाले पूर्व सैनिकों के बच्चे को मिलेगी मुफ्त में पुस्तक सामग्री

कारगिल विजय दिवस पर आज वेटेरन्स इंडिया संगठन आरा एवं सुपर 40 कोचिंग संस्थान के संयुक्त तत्वधान में एक श्रद्धांजलि सभा बाजार समिति स्थित सुपर 40 के सभागार में आयोजित की गई. कार्यक्रम की अध्यक्षता वेटरंस इंडिया संगठन के अध्यक्ष रोहन तिवारी एवं संचालन रोहित कुमार ने किया. कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रुप में जद यू मीडिया सेल के बिहार प्रदेश कार्यसमिति सदस्य अभय विश्वास भट्ट थे.




कार्यक्रम की शुरुआत वीर शहीदों के तैल चित्र पर माल्यार्पण एवं पुष्पांजलि अर्पित कर की गई , तत्पश्चात संस्थान के द्वारा मुख्य अतिथि अभय विश्वास भट्ट को बुके एवं अंगवस्त्र देकर सम्मानित किया गया. श्रद्धांजलि सभा को संबोधित करते हुए सुपर 40 के प्रबंध निदेशक डॉक्टर लोकेश कुमार त्रिपाठी ने कहा कि कारगिल युद्ध के वीर शहीदों को याद कर आज हम लोग अपने आपको गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं. उन वीर शहीदों के याद करने से हम सभी को प्रेरणा एवं ऊर्जा मिलती है और समाज में कुछ करने की इरादा दृढ़ होता है. कार्यक्रम में मौजूद सैनिकों एवं पूर्व सैनिकों की मांग पर संस्थान के प्रबन्ध निदेशक डॉक्टर लोकेश कुमार त्रिपाठी ने कहा कि संस्थान द्वारा कार्यरत सैनिक एवं पूर्व सैनिक के बेटे बेटियों को इंजीनियरिंग एवं मेडिकल जैसे संस्थान में प्रवेश कराने के लिए कोचिंग संस्थान द्वारा 40% की छात्रवृत्ति दी जाएगी.

वही उद्यमी ज्योति प्रकाश ने कहा कि आर्थिक रुप से कमजोर पूर्व सैनिक के सन्तानो के लिए वे उन्हें पढ़ाई के लिए सभी प्रकार की शिक्षण संबंधी सामग्री उपलब्ध कराएंगे.

इस अवसर पर कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अभय भट्ट ने कहा कि समाज हित में एवं संस्थान को आगे बढ़ाने में आप सबों को जब भी जरूरत होगी मैं स्वयं सेवा के लिए तैयार रहूंगा. वेटेरन्स इंडिया संगठन युवाओं का संगठन है जिसमें सभी पूर्व सैनिक एकजुट हुए हैं.

कार्यक्रम के अंत में शहीदों के सम्मान में 2 मिनट मौन रखकर उन्हें श्रद्धांजलि दी गई. कार्यक्रम में शामिल लोगों में केशव कुमार, राकेश सिंह ,जयंत सिंह, रंजीत सिंह ,उज्जवल सिंह, कुमार गौतम, अनिल कुमार , रवि कुमार ,सतीश कुमार सिंह, विवेक कुमार सिंह, संतोष सुमन ,संतोष प्रसाद, छात्रा सलोनी, राज मानसी सहित सभी छात्र छात्रा एवं पूर्व सैनिक मौजूद थे.

आरा से ओ पी पांडेय की रिपोर्ट