बीएड के छात्र-छात्राओं का अंक प्रमाण-पत्र जला कर विरोध प्रदर्शन

आरा (ओ पी पांडेय की रिपोर्ट) | बुधवार 29 अगस्त को आइसा और छात्र राजद के संयुक्त तत्वाधान में बीएड शुल्क वृद्धि को लेकर वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय आरा के प्रशासनिक भवन के समक्ष बीएड के छात्र-छात्राओं ने बीएड भाग-1 का अंक प्रमाण-पत्र जला कर विरोध प्रदर्शन किया. विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व आइसा जिला अध्यक्ष पप्पू कुमार और छात्र राजद विश्वविद्यालय अध्यक्ष भीम यादव ने किया. विरोध प्रदर्शन के बाद सभा आयोजित की गई. सभा का संचालन आइसा के राकेश कुमार ने किया. सभा को संबोधित करते हुए आइसा जिला सचिव सबीर ने कहा कि बीएड सत्र 2016-18,2017- 19 के छात्र-छात्राओं के शुल्क में बेतहाशा वृद्धि कर सरकार बीएड शिक्षा से वंचित करना चाहती है. वही छात्र राजद के विश्वविद्यालय अध्यक्ष भीम यादव ने कहा कि बीएड के छात्र-छात्राओं ने शुल्क वृद्धि के खिलाफ अंक प्रमाण पत्र जलाकर साबित कर दिया है कि वह किसी भी हद तक जा सकते हैं. यदि राज्य सरकार और राजभवन शुल्क वृद्धि के फैसले को वापस नहीं लेती है तो हम सभी छात्र आत्मदाह करने का भी कार्य करेंगे.

वहीं आइसा जिला अध्यक्ष पप्पू कुमार ने कहा कि बीएड के छात्र-छात्राएं शुल्क वृद्धि की भरपाई नहीं कर सकते हैं, क्योंकि हम सभी गरीब किसान के बेटे हैं इस परिस्थिति में हमारी मांग है कि बीएड की डिग्री नहीं चाहिए हमारा पैसा वापस करो नहीं तो आंदोलन जारी रहेगा. सभा स्थल पर विश्वविद्यालय के कुलपति डॉक्टर नंदकिशोर साह भी पहुंचे.
मौके पर छात्र नेताओं ने चार सूत्री मांगों से संबंधित ज्ञापन सौंपा. उन्होंने मांगों पर गंभीरता पूर्वक विचार करते हुए कहा कि बीएड शुल्क वृद्धि मामले को बिहार शिक्षा समिति की बैठक में मजबूती से उठाऊँगा, साथ ही साथ 2016-2018 के प्रमोटेड छात्रों पर भी गंभीरता से विचार करते हुए कारवाई की जाएगी.




कार्यक्रम में बीएड छात्र प्रतिनिधि तारकेश्वर राम, विज्ञान प्रतिनिधि राजा पासवान, आलोक रंजन, जेटी गोल्ड, एस बी कॉलेज अध्यक्ष सुधीर कुमार, परमानंद यादव, निरंजन कुशवाहा, सुजीत यादव, निरज कुशवाहा, सुशील यादव, कमलेश यादव, पंकज सम्राट, मृत्युंजय कुमार, अर्चना कुमारी, धीरज पाल, गोविंद यादव सहित सैकड़ों छात्र मौजूद थे.