रजनी बनी मोटिवेटर, दिया छात्रों को मंत्र

अपने ससुराल पहुँच पुरखों के मंदिर में पूजा-अर्चना किया

आरा की अधिष्ठात्री आरण्य देवी दरबार मे भी माथा टेका




आरा,13 अक्टूबर. आरा की बेटी और आरा की बहु रजनी मिश्रा KBC में सफलता के झंडे गाड़ने के बाद युवाओं और बुजुर्गों के लिए प्रेरणा बन गए हैं. हर कोई उनकी सफलता का मूल मंत्र जानना चाहता है. यही कारण है कि सोशल मीडिया से लेकर पर्सनल लेबल तक हर कोई उनसे कॉन्टेक्ट साधने की पूरी जुग्गत लगा उनके पास पहुँच ही जा रहा है और जो नही पहुँच पा रहे हैं वे खिसियानी बिल्ली बन सोशल प्लेटफार्म पर उनको कोस रहे हैं कि आरा का नाम जिसने नही लिया उसे क्यों सम्मानित करना…लेकिन इन सबके बावजूद रजनी मिश्रा की जीत और उनकी बेवाकी हर किसी को अपना दीवाना बनाये हुए है. उनकी हर बात सम्मोहन की तरह सामने वाले के लिए मंत्र हो जाता है. यही कारण है कि रजनी मिश्रा एक मोटिवेटर की तरह बच्चों से इंटरैक्शन में नजर आयीं.

बुधवार को वे आरा का के दो कोचिंग संस्थानों पीआर क्लासेज और मिथलेश प्रधान के कोचिंग में मेहमान के तौर पर गयीं. मिथलेश प्रधान के कोचिंग में उन्हें शॉल और बुके से सम्मनित किया गया. सम्मान के इस खास मौके पर नमामि गंगे के DPO अमित कुमार सिंह सम्मान समारोह की व्यवस्था में लगे हुए थे.

बच्चों को सम्बोधित करने के बाद उनसे लाइव सेसन का 30 मिनट का सत्र रहा जिसमे छात्र-छात्राओं ने सवालों के जरिये अपनी जिज्ञासाओं को शांत किया और रजनी मिश्रा को देखने के बाद उनकी आंखों में भी कुछ कर गुजरने का सपना तैरता दिखा.

दूसरा कोचिंग पीआर क्लासेज वह जगह था जहाँ से रजनी ने कभी अपनी कंपीटिशन की तैयारी की थी. हर स्टूडेंट के लिए वह सबसे खास पल होता है जब उनके गुरु उसे बुलाकर सम्मानित करते हैं.

पीआर क्लासेज ने न सिर्फ रजनी मिश्रा बल्कि उनके अलावां समारोह में एसएससी सीजीएल में चयनित सतीश कुमार, बिहार दारोगा में चयनित बिट्टु कुमार, पश्चिम बंगाल दारोगा में चयनित आशीष कुमार, बिहार एसएससी एवं रेलवे लोकोपायलट में चयनित राजकुमार जयसवाल, भारतीय सेना में चयनित समर्थ कुमार, बिहार पुलिस में चयनित निशा कुमारी, विशाल ठाकुर, मनीषा कुमारी, शारदा कुमारी को मोमेंटो देकर सम्मानित किया. सभी चयनित लोग छात्रों के लिए एक प्रेरणा के मंत्र थे, इसिलए सभी से छात्रों ने खूब सवाल पूछे और उनके जीत का मूलमंत्र भी जाना. लेकिन सबसे आकर्षक का केंद्र KBC की विनर रजनी मिश्रा ही रहीं. उनसे भी छात्रों ने उनके जीत का राज जाना और जीवन में सफलता के लिए तैयारी की रूपरेखा पर चर्चा भी की. रजनी मिश्रा को पीआर क्लास में आते ही उनके अपने पुराने दिन याद आ गये. संस्था के डायरेक्टर अनुपम कुमार मिश्रा और रजनी कुमारी ने रजनी का जोरदार स्वागत किया. उन्होंने उपस्थित लोगों को सबोधित करते हुए और विनेताओं को दिखाते हुए कहा कि लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित करके उस ओर मेहनत किया जाए तो सफलता अवश्य मिलेगी. इस अवसर पर पी.आर. क्लासेज के शिक्षक अभिषेक मिश्रा, गुड्डू कुमार,नीतू पाठक एवं कई लोग उपस्थित थे.

आपको बता दें KBC विनर रजनी मिश्रा पिछले दिनों अपने परिवार के साथ बड़ी सरलता के साथ आरा आना हुआ था जहाँ से वे अपने ससुराल चिकसिल गयीं. उनके पति गोपाल मिश्रा ने बताया कि उनके गांव स्थित उनके पुरखों द्वारा स्थापित मंदिर में पूजा -अर्चना के लिए मुख्य रुप से यहाँ आये थे. जहाँ से लौटने के बाद उन्होंने आरा की अधिष्ठात्री माँ आरण्य देवी का दर्शन भी किया. हालांकि वे पूजा पाठ के दौरान मीडिया से थोड़ी दूर रहीं और एक साधारण इंसान की तरह ही पूजा पाठ करने मंदिर बिना किसी ताम-झाम के आरा की बहू बनकर पहले की तरह ही माँ आरण्य देवी के दरबार पहुँची.

उसके बाद मीडिया और तमाम लोगों से मिलना जुलना भी हुआ. वे इस दौरान डॉक्टर कुमार जितेंद्र और उनकी पत्नी वीणा सिंह भी उनसे मिली. डॉक्टर कुमार जितेंद्र KBC और अमिताभ बच्चन के बहुत बड़े प्रशंसक हैं.

आरा से ओ पी पांडेय की रिपोर्ट