प्रत्यक्ष चुनाव के लिए VKSU में NSUI का हल्लाबोल

प्रत्यक्ष चुनाव के लिए NSUI का हल्लाबोल

एकेडमिक काउंसिल काउंसिल बैठक छोड़ भागे पदाधिकारी




आरा,28 जनवरी. छात्र निकाय चुनाव को लेकर शनिवार को वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय हंगामे की भेंट चढ़ गया. हंगामा इतना हुआ कि पदाधिकारियो को एकेडमिक काउंसिल की बैठक छोड़ भागना पड़ा. हालांकि लगभग 3 घंटे के हंगामे के बाद कुलपति के आश्वासन के बाद हंगामा शांत हुआ.

VKSU में NSUI के चुनाव पर्यवेक्षक अभिषेक द्विवेदी के नेतृत्व में छात्रों का दल छात्र चुनाव में प्रत्यक्ष चुनाव की मांग कर रहा था. अपनी मांगों को लेकर छात्रों ने विश्वविद्यालय के गेट पर धक्का-मुक्की भी किया जब गार्डों ने उन्हें अंदर जाने से रोका. लेकिन छात्र विश्वविद्यालय के अंदर प्रवेश कर गए और हंगामा करने लगे. हंगामे को देख विश्वविद्यालय ने नवादा थाने की पुलिस को बुलाया बावजूद इसके छात्रों का हंगामा नहीं थमा. विश्वविद्यालय में एकेडमिक काउंसिल की की बैठक चल रही थी. भारी हंगामे के बीच एकेडमिक काउंसिल की बैठक स्थगित करनी पड़ी.

कुलपति को छात्रों से बात करना पड़ा. इसके पूर्व विश्वविद्यालय के मुख्य चुनाव आयुक्त चुनाव आयुक्त पारस राय ने छात्रों को बातचीत के जरिये शांत करने का प्रयास किया. लेकिन असफल रहे. NSUI का कहना था पटना विश्वविद्यालय में प्रत्यक्ष चुनाव कराया जा रहा है जबकि भोजपुर में विश्वविद्यालय राजभवन द्वारा दिए गए दिशा निर्देश पर अमल न कर अप्रत्यक्ष चुनाव करा रहा है. पारस राय ने कहा कि पटना विश्वविद्यालय छोटा विवि है जिसकी वजह से वहां प्रत्यक्ष चुनाव सम्भव है. लेकिन VKSU का क्षेत्र बड़ा बड़ा होने के कारण यहां प्रत्यक्ष चुनाव संभव नहीं नहीं संभव नहीं है.

पर्यवेक्षक अभिषेक द्विवेदी ने विवि पर आरोप लगाते हुए कहा कि एक तरफ विवि छात्र हितों के लिए चुनाव कराने का ढोंग कर रही है और दूसरी ओर छात्रों के अधिकार के हनन कर रही है. कुलपति डॉ सैय्यद मुमताजुद्दीन ने छात्रों को भरोसा दिया प्रत्यक्ष मतदान के लिए वे राजभवन आवेदन जरूर पहुंचाएंगे, उसके बाद हंगामा शांत हुआ. मौके पर बक्सर पर्यवेक्षक द्विवेदी दिनेश, रोहतास और कैमूर के पर्यवेक्षक कामेश्वर सिंह कन्हैया के साथ NSUI के सुमित कुमार, यासीन उमर, मुकुल सिंह,गोलू तिवारी,सुधांशु कुमार, दीपेश सिन्हा, संजीव कुमार आदि उपस्थित थे.

आरा से ओ पी पांडेय की रिपोर्ट